HiHindi.Com

HiHindi Evolution of media

भाषण देने का तरीका हिंदी में | How to start a speech in Hindi

भाषण देने का तरीका हिंदी में  How to start a speech in Hindi: कम बोलना और अधिक सुनना अच्छा माना जाता है मगर हर इन्सान में वक्ता के गुण होने चाहिए ताकि वह अपनी बात औरों को कह सके.

बहुत से लोग आपने जीवन में देखे होंगे जिसके पास बोलने की अद्भुत क्षमता होती है तथा वे किसी विषय पर एक बार बोलने की शुरुआत करते है तो फिर रूकने का नाम ही नहीं लेते हैं.

how to start a speech in hindi in school : एक व्यक्ति के साथ संवाद करना ही एक भाषण का रूप है मगर एक बड़ी भीड़ को सबोधित करना थोड़ा कठिन भी हैं.

जिसने कभी स्कूल या कॉलेज में कोई भाषण नहीं दिया है  तो पहली बार यह  उनके लिए काफी कठिन हो  जाता हैं. भाषण देने का सही तरीका क्या है आपकों संक्षिप्त में यहाँ बता रहे हैं.

अच्छे भाषण की शुरुआत और सम्बोधन (how to give speech in hindi)

भाषण की शुरुआत सम्बोधन के साथ की जाती हैं. नमस्कार Namaskaar के पश्चात हिन्दी में माननीय अतिथि महोदय सभा में उपस्थित सभी सदस्यों का हार्दिक स्वागत एवं अभिनन्दन के साथ की जाती हैं. 

अंग्रेजी में  Welcome the  chief guest other guests and the audience इस वाक्य को speech introduction के रूप में प्रयोग किया जा सकता हैं.

स्कूल के किसी कार्यक्रम में सम्बोधन के दौरान इन पक्तियों को भी कह सकते हैं.

जैसे – परम् आदरणीय अध्यक्ष, हम सभी के चहेते व समाज के लोकप्रिय माननीय मुख्य अतिथि जी, कार्यक्रम को विशिष्टता प्रदान कर रहे विशिष्ट अथिति जी व इस कार्यक्रम के महत्वपूर्ण अंग हमारे दर्शक गण

भाषण के संबोधन के साथ ही वक्ता को भाषण के विषय पर आना चाहिए, सर्वप्रथम आयोजकों द्वारा उक्त विषय पर बोलने के लिए अवसर देने के लिए धन्यवाद ज्ञापित करना अथवा आज मैं इस विषय पर भाषण देने जा रहा हूँ. स्कूल कॉलेज के भाषण के मुख्य भाग की शुरुआत से इस उदहारण से की जा सकती हैं.

आज आपके समक्ष अमुक विषय पर ( topic …..) अपने विचार व्यक्त करने के लिए यहां उपस्थित हुआ हूं

अंग्रेजी में इसे “Before starting the Speech say some couplets two or three lines on the topic of  speech ,in Hindi. Have full confidence and smile on your face when you go to the stage.”

इसके बाद भाषण की शुरुआत कर देनी चाहिए. भाषण की समाप्ति पर आप सब का धन्यवाद करता हूं के साथ ही वक्ता अपने स्थान को ग्रहण करने के लिए चला जाता हैं.

भाषण देते वक्त सावधानियाँ व टिप्स (start a speech in School In hindi)

  • भाषण देते हुए मुख्य विचार और लक्ष्य बेहद स्पष्ट होने चाहिए -भाषण देने से पहले दिमाग में तीन बातें स्पष्ट होनी चाहिए. मुख्य विचार, ऑडियश और लक्ष्य. शुरुआत अपने विचार पर फोकस करके की जा सकती है. तय करे कि आपको सुनने वाले कौन होंगे और इसी के अनुसार अपनी स्पीच लिखे. अगर कोई छोटे मंच पर बोलने जा रहे है, तो वाक्य व्यक्तिगत रखे जा सकते हैं.किसी कांफ्रेंस में प्रोफेशनल के बीच है तो तकनीकी भाषा का उपयोग किया जा सकता है. ये ध्यान रखना जरुरी है कि आपका लक्ष्य सभी को पता चल जाए. हो सकता है आप यह भी चाहे कि श्रोता आपकी कही बात को अन्य लोगों तक पहुचाएं.
  • साथ काम करते हुए एक दूसरे से बहुत कुछ सीख सकते हैं .- कर्मचारियों से एक दूसरे से सीखना भी विकास का एक जरिया है. शोध बताते है कि जब लोगों को कोई कौशल सीखना होता है तो वे अक्सर अपने सहकर्मियों की मदद लेते हैं. संस्थान में इस तरह से सीखना प्रोत्साहित किया जा सकता हैं. इसके लिए एक औपचारिक कार्यक्रम रखा जा सकता हैं. व फेसिलिलेटर को अपोइन्ट कर शुरुआत की जा सकती हैं. यहाँ लोगों को अपने विचार तजुर्बे और सवाल रखते हुए सुरक्षित करवाना जरुरी हैं. सेशन के दौरान सुनिश्चित करे कि जो भी सीखे, वह असल परिस्थतियों पर आधारित हो. जिससे प्रतिभागी अपने सीखे गये कौशल को तुरंत परख सके.
  • एक अच्छा वक्ता बनने के लिए आपका उठना, आपकी चाल और हावभाव भी काफी मायने रखता है. सहज होकर अपने स्थान से मंच तक पहुचे. क्योंकि जब वक्ता का नाम पुकारा जाता है तभी से ही श्रोतागण आपकी ओर अपना ध्यान आकर्षित कर लेते है तथा देखने लगते, इसलिए बनावटी चाल बनाने की बजाय अपने व्यवहारिक ढंग से संबोधन देने की तरफ बढ़े.
  • भाषण का संबोधन मुख्य रूप से मंच पर विराजमान अतिथिगण तथा श्रोताओं को ध्यान में रखकर तैयार किया जाता हैं. इसके लिए अतिथिगण, सभा मंडल में विराजमान बन्धुओं, भाइयो बहिनों, विद्यार्थियों, सहपाठियों, सहकर्मियों आदि शब्दों का चयन किया जा सकता हैं.
  • भाषण में वक्ता का मैं बना रहना चाहिए. भाषण की शुरुआत में संबोधन के बाद अपने श्रोताओं को विषय से परिचय कराएं जैसे आज मैं नारी सशक्तिकरण के बारे में मेरे विचार आपके समक्ष रख रहा हूँ. इसके पश्चात मूल विषय तथा बिन्दुओं को विस्तार से रखे तथा अंत में आयोजक तथा कार्यक्रम निर्माताओं द्वारा अपनी बात रखने का अवसर देने के लिए धन्यवाद देकर आप अपने भाषण को और अधिक आकर्षक रूप दे सकते हैं.

अच्छा भाषण देने के आसान चरण

1: अपना भाषण तैयार करें .

किसी भी चीज को बोलने के लिए या करने के लिए हमें पहले से ही तैयारी करनी पड़ती है। अगर आप भाषण देना चाहते हैं तो आप कैसा भाषण देना चाहते हैं, आपको उसकी तैयारी पहले ही करनी चाहिए अर्थात आप जिस सब्जेक्ट पर अपनी बात रखना चाहते हैं, आपको उसकी पहले अच्छे से स्टडी करनी चाहिए।

ऐसा करने पर आप उस विषय पर अच्छी तरह से भाषण दे सकेंगे, जो ज्ञान के साथ परिपूर्ण होगा। अपने भाषण को तैयार करने के लिए आपको नोट्स बनाने चाहिए ताकि जब कभी आप मंच पर भाषण दे और आप का ध्यान भटके तो आप नोट्स देख कर के फिर से अपने टॉपिक पर आ जाएं।

2: देखकर भाषण ना दें 

अगर आप अपने भाषण को प्रभावशाली बनाना चाहते हैं और आप यह चाहते हैं कि लोगों की नजरों में आपकी इमेज एक कुशल वक्ता के तौर पर बने, तो आपको कभी भी देखकर भाषण नहीं देना चाहिए, क्योंकि अगर आप देखकर भाषण देते हैं तो लोग आपको नकलची कहते हैं, साथ ही आपका उपहास उड़ाते हैं।

जो लोग देखकर भाषण देते हैं वह सामने बैठे दर्शकों में उत्साह पैदा नहीं कर पाते हैं। इसलिए अगर आप सिर्फ एक नोट ले करके ही जाते हैं जिस पर आपने भाषण से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी लिखी है, तो आपको यह पता रहेगा कि आपको किन टॉपिक पर विशेष तौर पर बोलना है।

3: आईने के सामने प्रैक्टिस करें 

जब आप भाषण दे तो पूरे हाव-भाव के साथ आपको भाषण देना चाहिए। इसके लिए आपको आईने के सामने जाना चाहिए और आईने में देखते हुए अपने हाव-भाव के अनुरूप भाषण देने की प्रैक्टिस करनी चाहिए।

ऐसा करने पर आपका कॉन्फिडेंस लेवल भी बढ़ता है और आपकी घबराहट भी थोड़ी हद तक कम हो जाती है।

4: रिकॉर्डिंग करें और कमी निकालें 

जब आप भाषण देने की प्रैक्टिस करें तब अपने भाषण को अपने स्मार्टफोन के जरिए अवश्य रिकॉर्ड कर ले और खाली समय में उसे बार-बार सुने। ऐसा करने पर भाषण देने के दरमियान जो भी गलतियां आपसे हुई होंगी,

आप उन गलतियों को दूर करने के बारे में प्रयास कर सकते हैं और ऐसा करके आप अपने भाषण को और भी अट्रैक्टिव बना सकते हैं। इस तरीके को अगर आप फॉलो करते हैं तो आप का भाषण तो अट्रैक्टिव बनता ही है, साथ ही आपकी कमियां भी दूर होती है।

5: अपने आप पर विश्वास रखें 

किसी भी काम को करने के पहले अगर आप अपने अंदर यह आत्मविश्वास पैदा कर लेते हैं कि आप उस काम को करके ही दम लेंगे, तो निश्चित ही आपको उस काम में सफलता मिलती है।

इस प्रकार भाषण देने के लिए जब आप मंच पर जाएं, तब पूरे उत्साह और आत्मविश्वास के साथ मंच पर जाएं और भाषण देना चालू करें।

भाषण देने के दरमियान कभी भी अपने मन के अंदर कोई भी डर ना लाएं बल्कि अपनी बात पर अडिग रहें और अपने आप पर पूरा विश्वास रखें क्योंकि कुशल वक्ता वही होता है जो बिना डरे हुए अपनी बात कहता है।

6: दर्शको को हँसने का और सोचने का मौका दो 

जब आप भाषण देना चालू करें, तब आपको अपने भाषण में ऐसी बातों को भी शामिल करना चाहिए ताकि दर्शकों को हंसने का मौका भी मिले। अगर कोई व्यक्ति लगातार एक ही लाइन में भाषण देता है तो ऐसा करने से उसका भाषण निराश हो जाता है और लोग उसके भाषण में इंटरेस्ट नहीं लेते हैं।

इसीलिए अपने भाषण को प्रभावशाली बनाने के लिए आपको अपने भाषण की लय को बीच-बीच में चेंज करते रहना चाहिए। आप अपने भाषण में कुछ दिलचस्प बातें भी जोड़ सकते हैं,

ताकि सामने बैठे हुए दर्शकों को नई बातें जानने का मौका मिले अथवा उन्हें हंसने का मौका मिले। ऐसा करने पर उनका इंटरेस्ट आपके भाषण में बना रहेगा।

7: दर्शको को भाषण के साथ जोड़े

जब आप भाषण दे तो भाषण के बीच में आपको सामने बैठी हुई ऑडियंस से सवाल जवाब भी अवश्य करना है। ऐसा करने पर सामने जो ऑडियंस बैठी हुई है,

उसका आपके भाषण में इंटरेस्ट बढ़ेगा और ऐसा होने पर आपका कॉन्फिडेंस लेवल भी बढ़ेगा। इससे धीरे-धीरे आपके अंदर जो डर है वह भी निकल जाएगा।

भाषण देने के दरमियान आपको अपनी बातों को महसूस करना है और आपको भावनात्मक तरीके से ऑडियंस के सामने अपनी बातों को प्रस्तुत करना है। अगर ऐसा आप करते हैं तो काफी कम समय में आप एक फेमस मोटिवेशनल स्पीकर या फिर वक्ता बन जाएंगे।

8: आंखों से संपर्क रखें 

अगर आप यह चाहते हैं कि आप जो भाषण दे उसकी छाप दर्शकों पर पड़े तो भाषण देने के दरमियान आपको दर्शकों से आई कांटेक्ट बनाने का प्रयास करना है।

आपको भाषण देने के बीच बीच में दर्शकों से उनकी आंखों में आंखें डाल कर के सवाल पूछना है और आपको इफेक्टिव तौर पर अपनी बातों को उन्हें समझाने का प्रयास करना है।

ऐसा अगर आप करते हैं तो आप के भाषण का सामने बैठी हुई ऑडियंस के दिलों दिमाग पर काफी गहरा असर होता है।

  • विश्व साक्षरता दिवस पर कविता भाषण
  • युद्ध और शांति पर भाषण
  • अनुशासन पर भाषण
  • ओजोन दिवस पर भाषण

आशा करता हूँ दोस्तों  How to start a speech in Hindi   में आपकों   भाषण देने का तरीका   संक्षिप्त में बताया है, उम्मीद करता हूँ ये लेख आपकों अच्छा लगा होगा.

इस तरह के छोटे छोटे टिप्स से आप एक अच्छे वक्ता बन सकते हैं. यह जानकारी आपकों अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे.

One comment

Best tipes 👍👌

Leave a Reply Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Aapki Safalta

How to Start a Speech in Hindi? स्पीच शुरु करने के 21 तरीके

“First Impression is the last Impression” यह Hindi Quote आपने जरूर सुना होगा।  यदि आप कोई Speech बोलना चाहते हैं या आप कोई Presentation देना चाहते हैं और जानना चाहते हैं कि How to Start a Speech? या How to Start a Presentation? तो यह Motivational Statement आपके लिए Success Key के रूप में कार्य करेगा।

स्पीच देते समय आपके द्वारा दिया गया First Impression ही आपके श्रोताओं (Audience) को शुरू से अंत तक आपके भाषण को सुनने के लिए मजबूर कर देगा।

how to start a speech hindi

आप हमेशा यही चाहते हैं कि आप जब भी कोई Speech दें तो लोग आपकी बातों को बहुत ध्यान से सुनें और आपको हमेशा याद रखें। यह तभी हो सकता है जब आप एक Impressive Speech दें और आप एक प्रभावशाली भाषण तभी दे सकते हैं जब आपका भाषण की शुरुआत धमाकेदार रूप से हुई हो।

आपकी Speech की Impressive Starting लोगों को आपसे Connect कर देगी और लोग आपकी Full Speech सुने बिना अपने स्थान से हिलेंगे भी नहीं।

दोस्तों, आज मैं आपको बताऊंगा कि एक प्रभावशाली भाषण की शुरुआत कैसे की जाये? (How to Start a Impressive Speech?)

मैं आपको यहाँ ऐसी Speech Tips या Presentation Tips देने जा रहा हूँ जिसकी मदद से आप एक Good Speaker बन सकेंगे और अपनी प्रेजेंटेशन की शुरुआत (Starting a Presentation) या भाषण की शुरुआत (Opining Speech) बहुत ही Impressive तरीके से कर सकेंगे।

ध्यान रखिये कि आपको  अपने भाषण का एक अच्छा Speech Format पहले से ही बना लेना चाहिए। आइये जानते हैं कि “How to Start a Speech? या How to Start a Presentation?”

भाषण या प्रेजेंटेशन की शुरुआत कैसे करें? How to Start a Speech Or Presentation?

कृपया इन Speech Or Presentation Tips और  How to Start a Speech? के बारे में  बहुत ध्यान से पढ़ें और जब भी किसी भी टॉपिक पर कोई स्पीच (Speech on any Topic) बोलें या कोई Presentation दें तो इन Starting Of Speech Tips को वहां जरूर प्रयोग करें–

1- Speech की Starting करते समय Audience का Attention में होना बहुत जरुरी होता है अर्थात आपको भाषण की शुरुआत (Opining Speech) कुछ इस तरह करनी होगी ताकि सुनने वाले लोगों का ध्यान आपकी तरफ हो जाये और वह आपसे सीधे जुड़ जाएँ।

2- Speech या Presentation की Impressive Starting करते समय आपको अपनी Audience के हिसाब से शुरुआत करनी चाहिए। यहाँ आपको ध्यान रखना चाहिए कि सुनने वाले किस प्रकार के हैं या आप किस Topic पर स्पीच देने जा रहे हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप कोई Funny Speech देने जा रहे हैं तो किसी Joke से शुरू कर सकते हैं और यदि कोई Motivational Speech देने जा रहे हैं तो कोई Positive Statement से शुरुआत कर सकते हैं।

3- एक Good Speech की Starting आप किसी Impressive Short Story के साथ  कर सकते हैं। यह कहानी छोटी होनी चाहिए और आपके द्वारा दी जा रही स्पीच से सीधे तौर से Related होनी चाहिए। एक अच्छी स्टोरी लोगों में सुनने की रुचि जगा देती है।

4- अपने भाषण को प्रभावपूर्ण बनाने के लिए आप इसकी शुरुआत किसी Surprising Statement से कर सकते हैं। यह एक ऐसा Statement होता है जो आपकी Audience को तुरंत आपकी तरफ Divert कर देगा और लोग आपकी बात को सुनेंगे। आप अपनी स्पीच के हिसाब से इसे दे सकते हैं।

5- आप अपनी Presentation या Speech की Starting किसी Famous Person के Impressive Quotation से कर सकते हैं। यह भी एक प्रभावपूर्ण शुरुआत के लिए बहुत अच्छा होता है। Quote आपकी Speech से Related होना चाहिए।

6- एक Impressive Starting के लिए आप अपनी स्पीच या प्रेजेंटेशन की शुरुआत (Starting of Presentation Speech) किसी Interesting Facts से कर सकते हैं जो आपकी Speech Topic से रिलेटेड हो। यहाँ यह बात जरूर ध्यान रखिये कि आपके द्वारा दिया जा रहा Fact बिलकुल सही हो और यह लोगों को ऐसा न लगे जैसे आपने इसे बढ़ा चढ़ा कर पेश किया है।

7- एक Good Speech की Starting आप किसी Question के साथ कर सकते हैं। आप अपनी Audience से सीधे एक ऐसा प्रश्न पूछ सकते हैं जो आपके Presentation Topic से सीधे Related हो। उदाहरण के लिए, यदि आप How to Overcome Fear पर Speech देने जा रहे हैं तो आप अपनी Audience से Question पूछ सकते हैं कि क्या आप मुझे अपने अंदर पैदा होने वाले डर के कारण बता सकते हैं? क्या आप असफलता के डर (Failure Fear) को दूर करने के तरीके जानते हैं? आदि।

8- यदि आप कोई Funny Speech देने जा रहे हैं या कोई ऐसी Presentation जिसकी शुरुआत में आप लोगों को हंसाना चाहते हों या उनका मूड अच्छा करना चाहते हों तो आप अपनी स्पीच की शुरुआत (Starting of Speech) किसी Joke से कर सकते हैं। एक अच्छा joke लोगों के ध्यान को आपकी ओर खीच सकते हैं और इसे एक अच्छी शुरुआत हो सकती है।

9- आप अपनी Presentation या Speech की Impressive शुरुआत किसी अच्छी शायरी (Shayari) से भी कर सकते हैं। यह शायरी आपकी स्पीच टॉपिक से रिलेटेड हो तो बहुत अच्छी शुरुआत मानी जाएगी। यह अच्छा भाषण शुरू करने का यह तरीका लोगों का ध्यान आपकी ओर कर देगा।

10- आप अपनी प्रेजेंटेशन की शुरुआत (Presentation Introduction) किसी प्रयोग या प्रदर्शन (Demonstration) के द्वारा भी कर सकते हैं। इसके लिए आप किसी Physical Object या Props का प्रयोग कर सकते हैं या अपने Laptop में मौजूद किसी Topic related Video से कर सकते हैं। यह किसी Speech या Presentation की Successful Starting का एक Scientific Way है जो आजकल बहुत से लोग अपनाते हैं।

11- आप अपनी स्पीच की अच्छी शुरुआत (Starting of Speech)  लोगों से राय अर्थात Opinion लेकर भी कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आप How to Grow your Business टॉपिक पर Speech देने जा रहे हैं तो आप स्पीच की शुरुआत में Business बढ़ाने से Related Opinion ले सकते हैं। लोग इसमें interest जरूर लेंगे और अपना अपना Opinion देने में उन्हें बहुत अच्छा लगेगा।

12- आप अपनी स्पीच को प्रभावपूर्ण बनाने के लिए इसकी शुरुआत (Impressive Introduction Speech) अपने किसी Personal Experience से भी कर सकते हैं। उउदाहरण के लिए, यदि आप कोई Health related Speech देने जा रहे हैं तो आप अपने सफल अनुभव (Successful Experience) को सबसे पहले लोगों के सामने रख सकते हैं। इससे बहुत अच्छी शुरुआत होगी।

13- एक Speech की Impressive Starting के लिए आपको उसका एक Best Title जरूर बताना चाहिए। यह Title Impressive होना चाहिए और ऐसा होना चाहिए जो आपके Topic को पूर्ण रूप से Show करता हुआ होना चाहिए।

14- आपको अपने Speech या Presentation के Starting में ही Short में बता देना चाहिए कि आप किस बारे में बताने जा रहे हैं। क्या क्या points आपकी स्पीच में शामिल होंगे। इससे लोग इम्प्रेस होंगे और मानेंगे कि आपने अपने भाषण का एक अच्छा Speech Format पहले से ही बना लिया है।

15- आपको अपने Speech या Presentation के Starting में ही अपनी Audience को Short में बता देना चाहिए कि इस Speech या Presentation से आपको क्या क्या फायदे होने वाले हैं? या इससे आपकी लाइफ में क्या Positive Change आने वाले हैं? इससे लोगों का Interest जाग जायेगा और वह आपको सुनने के लिए तैयार हो जायेंगे।

16- आप अपने Speech या Presentation के Starting में कुछ ऐसा जरूर कहना चाहिए जिससे सुनने वालों को लगे कि वह आपके लिए बहुत खास (Special) हैं। ऐसा करने से लोग अच्छा महसूस करेंगे और आपकी बातों में रुचि जरूर लेंगे।

How to Start a Speech? इस बारे में किसी ने सही कहा है कि “Opining is Fine, You will Shine” अतः मैं आपको यहाँ कुछ और Opining Speech Tips या Presentation Tips देने जा रहा हूँ। आपको इनका भी ध्यान देना चाहिए–

17- एक प्रभावपूर्ण भाषण की शुरुआत (Introduction Speech) के लिए आपका  Sound Effect Positive होना चाहिए। आपकी आवाज धीमी या तेज़ speech topic के हिसाब से होनी चाहिए।

18- एक Impressive Presentation या Speech की Starting से ही आपकी Body Language आपकी स्पीच के According होनी चाहिए।

19- आपको अपनी Speech की False Or Negative Starting कभी नहीं करनी चाहिए। ऐसा करने से लोगों पर Negative Impression पड़ता है और इससे लोग स्पीच में कोई इंटरेस्ट नहीं लेंगे।

20- आप Speech की Starting ऊपर बताये गए चाहें किसी भी तरीके से करें लेकिन आपकी शुरुआत आपके प्रेजेंटेशन टॉपिक से रिलेटेड ही होनी चाहिए वरना लोग शुरुआत से ही Bore हो जायेंगे।

21- प्रत्येक व्यक्ति के बात करने का या लोगों को समझाने का  अपना एक अलग तरीका (Style) होता है। अगर यह Style अच्छा है तो आप इसका प्रयोग अपने भाषण में भी कर सकते हैं। या किसी भी Presentation को आप किसी अच्छे और नए तरीके से, जो आपको पसंद हो, से भी कर सकते हैं। यह Style Unique भी हो सकता है।

इसके अतिरिक्त आप अपना Comment दे सकते हैं और हमें E.Mail भी कर सकते हैं।

यदि आपके पास Hindi में कोई Article, Inspiring story, Life Tips, Inspiring Poem, Hindi Quotes, Money Tips या कोई और जानकारी है और यदि आप वह हमारे साथ Share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ हमें E-mail करें। हमारी E.Mail Id है– [email protected] यदि आपकी Post हमें पसंद आती है तो हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ अपने ब्लॉग पर Publish करेंगे। Thanks!

8 thoughts on “How to Start a Speech in Hindi? स्पीच शुरु करने के 21 तरीके”

Very helpful sir. Mujhe isse bahut achhi prena mili.

Truely great

nice guidance sir ji

Good job sir

Very helpful post.

Can you accept any guest post on motivation in English?

Bahoot Badhiya Guidance.

Leave a Comment Cancel reply

HindiKiDuniyacom

हमारे वेबसाइट पर 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 और कॉलेज विद्यार्थियों के लिये अलग-अलग विषयों और सामाजिक मुद्दों पर विभिन्न प्रकार के भाषण उपलब्ध हैं। हमारे द्वारा तैयार किये गये यह भाषण काफी आसान तथा सरल है। जिनका आप भाषण प्रतियोगिताओं, संगोष्ठीयों तथा अन्य विभिन्न कार्यों में उपयोग कर सकते हैं। हमारे वेबसाइट पर उपलब्ध सभी भाषण सरल होने के साथ ही काफी ज्ञानवर्धक भी हैं।

भाषण क्या है? (What is Speech)

कई बार लोगो द्वारा यह प्रश्न किया जाता है कि भाषण क्या है? या भाषण की परिभाषा क्या है? यदि सामान्य शब्दों में इसका उत्तर देना हो, तो हम कह सकते हैं कि “भाषण वह विधा है, जिसमें किसी विषय का धाराप्रवाह रुप में विवरण करते हुए, विचारों तथा तथ्यों को लोगो के सामने व्यक्त किया गया हो।”

हमारे वेबसाइट पर उपलब्ध भाषणों का बच्चों द्वारा स्कूलों तथा कॉलेजों में होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों, उत्सवों या अन्य सामान्य उत्सवों जैसे पाठ्योत्तर क्रिया-कलापों आदि में उपयोग किया जा सकता है।

हमारे द्वारा तैयार किये यह भाषण विभिन्न शब्द सीमाओं में उपलब्ध है। इन भाषणों को तैयार करते समय में हमने विभिन्न विषयों के महत्वपूर्ण तथ्यों को ध्यान में रखा है। इन भाषणों में आप अपनी आवश्यकता अनुसार परिवर्तन भी कर सकते हैं। यह भाषण किसी भी व्यक्ति द्वारा काफी आसानी से समझे और याद किये जा सकते हैं।

इसके साथ ही दूसरों के सामने बात करने की हिचकिचाहट को दूरे करने के लिये भी भाषण पढ़ना, सुनाना या इसका वर्णन करना एक अच्छा कार्य है और भाषणों द्वारा आप विभिन्न विषयों जैसे कि – सामाजिक, राष्ट्रीय, माँ, शिक्षक का महत्व, पारंपरिक उत्सव, जानवर, प्रसिद्ध स्थल, ऐतिहासिक स्मारक, विरासत, परंपरा, भारतीय संस्कृति, प्रसिद्ध व्यत्कित्व, स्वतंत्रता सेनानी, किवदन्ती, सामाजिक मुद्दे, हर्षोल्लास के पर्व आदि पर अपने सामान्य ज्ञान को भी बढ़ा सकते हैं।

इन दिये गये भाषणों का आप अपनी आवश्यकता अनुसार उपयोग कर सकते हैं तथा ऐसी ही अन्य सामग्रियों के लिए भी आप हमारे वेबसाइट का उपयोग कर सकते हैं।

हिन्दी निबंध

Speech Topics in Hindi

How to Start Speech in Hindi | भाषण देने की शुरुआत कैसे करें?

How to Start Speech in Hindi

How to Start Speech in Hindi | भाषण देने की शुरुआत कैसे करें? भाषण या किसी मंच पर आकर अपनी बात रखना हम सभी को बहुत पसंद होता है। लेकिन ये काम इतना आसान नहीं होता। एक तरह से यूं कहें कि मंच के नीचे बैठकर किसी का भाषण सुनना जितना आसान होता है।

How to Start a Speech in Hindi | भाषण देने की शुरुआत कैसे करें?

मंच के ऊपर जाकर भाषण देना कठिन काम होता है। लेकिन आज हम इस कठिन काम को बेहद आसान बनाने जा रहे हैं। अपनी इस पोस्‍ट के माध्‍यम से हम आपको भाषण देने से जुडी तमाम वो बातें बताने जा रहे हैं , जिनकी मदद से आप किसी भी मंच पर आसानी से भाषण दे सकते हैं। साथ ही भाषण के बाद आप लोगों की तालियां भी बटोर सकते हैं। तो चलिए जानते है How to Start Speech in Hindi?

How to Start Speech in Hindi in school?

How to Start Speech in Hindi in school

यदि आप अभी एक छात्र हैं और अपने स्‍कूल में समय समय पर आयोजित कार्यक्रमों में भाग लेना चाहते हैं , लेकिन मंच पर चढने से हिचकते हैं तो हम आपको आज कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं। जिन्‍हें आप अपने जीवन में जरूर उतार लें। सबसे पहते तय कर लें क‍ि आपको कब और किस मौके पर बोलना है। ऐसा कभी ना करें कि अचानक कोई कार्यक्रम आयोजित हो और आप बोलने के लिए तैयार हो जाएं। साथ ही आप जिस दिन बोलने जा रहे हैं उस दिन का यदि कोई विशेष महत्‍व है, तो उस पर भी एक नजर जरूर डाल लें।

इसके बाद देखें कि आप किस विषय पर बोलने जा रहे हैं। उस विषय का गहराई से अध्‍यनन कर लें। इसके बाद आप अपने बोलने का समय निर्धारित कर लें। क्‍योकि मंच पर बोलने का हमेंशा समय तय होता है। ऐसा नहीं होता है कि आप बोलते ही चले जाएं। इन सब बातों के बाद आप अपने किए हुए विषय पर रिसर्च में से वो बातें निकाल लीजिए जिन को आप मंच पर बोलना चाहते हैं। अंत में आप उन सभी बातों को किसी कागज पर लिख लीजिए जिन्‍हें आपको मंच पर बोलना हैं।

अब आप अंत में अपने घर के किसी एकांत कमरे में चले जाइए और शीशे के सामने खडे हो जाइए। शीशे के सामने खडे होकर आप लगातार उन लाइनों को बोलिए जिन्‍हें आपने कागज पर पहले लिखा था। इन्‍हें बार बार दोहाराएं और देखें क‍ि आप कहां गलती कर रहे हैं। अगली बार उस गलती में सुधार कीजिए और बोलते जाइए। यदि कोशिश के बाद भी आप परफेक्‍ट नहीं बोल पर रहें हैं। तो आप किसी कागज पर शार्ट में मुख्‍य बातें लिख सकते हैं और इसे मंच पर भी ले जा सकते हैं।

  • घर सजाने का आसान तरीका
  • नारी सशक्तिकरण पर 25 स्लोगन
  • इंग्लिश बोलने का आसान तरीका

How to Start Speech in Hindi in Office?

जीवन में कई बार ऐसे मौके आते हैं जब हम जहां अपना कामकाज कर रहे होते हैं तो वहां कुछ बोलने की बारी आती हैं। ये मौका हमें किसी पुरस्‍कार मिलने के समय दो शब्‍द बोलने का भी हो सकता है और कंपनी या ऑफिस के किसी खास मौके पर भी हो सकता है। ये मौके कई बार हमें कंपनी में एक नई पहचान भी दिला सकते हैं जो कि हमे आगे जाकर बेहद मददगार सिद्ध होती है।

इस दौरान यदि आपको किसी तरह का भाषण आदि देने के लिए कहा जाए तो घबराएं बिल्‍कुल नहीं। आप धैर्य और पूरे संयम के साथ अपनी बात रखिए। भाषण की शुरूआत में आप सबसे पहले अपने से जो ऊपर के पद पर बैठे अधिकारी लोग हैं उनका नाम लेते हुए उनका स्‍वागत जरूर करिए। इससे आपके प्रति उनके मन में एक अच्‍छी भावना का विकास होगा।

इसके बाद आप अपनी बात रखना प्रारंभ कीजिए। कोशिश कीजिए आप अपने वक्‍तव में जिस विषय पर कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है उसी मुद्दे पर केंद्रित होकर अपनी बात को रखें। इससे लोगों के आपकी कही गई बात बेहतर ढंग से समझ आ जाएगी और आपकी बात प्रभावी भी रहेगी।

पारिवारिक आयोजन में भाषण देने की शुरुआत कैसे करें ?

How to Start Speech in Hindi  in party

परिवार में विवाह शादी जैसे मौके कई बार आते जहां हमें कम शब्‍दों में अपनी बात बेहतर ढंग से रखनी होती है। इसके लिए आपको ना तो पहले से कोई तैयारी करने का मौका मिलता है ना ही आ कोई विषय पहले से निर्धारित होता है। इसलिए सबसे बेहतर यही होता है कि आप अपने परिवार की बातों को ऐसे मंच से साझा करें।

आप परिवार के संग बिताए गए पलों की यादों को ताजा करें। साथ ही उस दौरान मौजूद लोगों का अपने जीवन में दिए गए योगदान पर चर्चा करें। ध्‍यान रखें क‍ि इस दौरान किसी भी व्‍यक्‍ति की आप बुराई ना करें। साथ ही आप केवल अच्‍छी बातें ही लोगों के सामने रखें। इससे लोगों की आपके प्रति अच्‍छी छवि भी बनेगी और लोग आपकी कही गई बातों को लम्‍बे समय तक याद भी रखेंगे।

How to end Speech in Hindi | भाषण का अंत कैसे करें ?

How to end Speech in Hindi- कहते हैं अंत भला तो सब भला। ये नियम भाषण पर भी लागू होता है। इसलिए किसी भी भाषण का अंत आप हमेशा आप अच्‍छे से करने की कोशिश करें। इसके लिए सबसे जरूरी है कि भाषण के लिए आपकी तैयारी जबरदस्‍त हो। हम आपसे कहना चाहेंगे क‍ि आप सबसे पहले ध्‍यान रखें कि भाषण के अंत में किसी तरह की काई गंभीर बात ना कहें। साथ ही यदि वो कोई धार्मिक कार्यक्रम है तो अंत में ‘ जय माता दी ’ या देश से जुडे किसी कार्यक्रम में ‘ भारत माता की जय ’ जैसे नारों का जयघोष जरूर लगाएं और अपनी बात को विराम दें। इससे आपकी बात का अंत लोगों को और ज्‍यादा उत्‍साहित कर देगा और लोग तालियां बजाने को मजबूर हो जाएंगे।

' src=

नमस्कार दोस्तों, मैं रवि "आल इन हिन्दी" का Founder हूँ. मैं एक Economics Graduate हूँ। कहते है ज्ञान कभी व्यर्थ नहीं जाता कुछ इसी सोच के साथ मै अपना सारा ज्ञान "आल इन हिन्दी" द्वारा आपके साथ बाँट रहा हूँ। और कोशिश कर रहा हूँ कि आपको भी इससे सही और सटीक ज्ञान प्राप्त हो सकें।

Leave a Comment Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

Notify me of follow-up comments by email.

Notify me of new posts by email.

coolguts mobile logo

How to Start a Speech in Hindi : 7 Innovative Way

दोस्तों आज का विषय है की हिंदी मे भाषण या speech कैसे शुरू की जाये, आपको क्या क्या तैयारी की जरुरत पड़ेगी, कैसे आप आपनी speech से दूसरो को impress कर सकते है. कुछ खास बातों का अगर आप ध्यान रखते हैं तो आप अपनी छाप सब पर छोड़ सकते हैं.

Table Of Contents

How to Start a Speech in Hindi

आपकी Speech तभी Impressive हो सकती है यदि उसकी शुरुवात या start सही हो सके. जैसे की बोला भी जाता है की first impression is the last impression, तो अगर आप स्पीच देना चाहते हैं एवं अगर आपने अपने श्रोता को अपनी पहली कुछ पंक्तियों मे ही impress कर दिया तो समझ लें की आपका बाक़ी काम भी हो ही गया. How to Start a Speech in Hindi आपके इसी first impression के बारे में ही है. आप अपने भाषण या speech से सामने वाले को कैसे बांध कर रख सकते हैं, इस विषय को हमने निम्नलिखित मत्वपूर्ण भागो मे विभाजित किया है-

Target Audience

सबसे पहले आपको अपने Target Audience को ध्यान में रखकर अपने भाषण या speech की शुरुवात करनी होगी. यह एक बहुत महत्वपूर्ण विषय है जिसे लोग अक्सर ध्यान में नहीं रखते हैं. आप इसे एक बहुत ही आसन उदहारण से समझ सकते हैं, मान लीजिये की आप एक ऐसे जगह पर हैं जहाँ आपके सामने जूनियर स्टूडेंट्स हैं, अगर वहा पर राजनीति की बाते शरू करेंगे तो क्या आपको लगता है की कोई सुनेगा? अतः यह ध्यान रखिये की आपके speech की सभी पंक्तिया हर जगह फिट नहीं हो सकती. आपको अपनी speech को अपनी target audiance के हिसाब से modify करना होगा.

यहाँ पर आपको अपनी Speech की शुरुवात कुछ इस तरह के विषय के साथ करनी चाइए जिससे जूनियर स्टूडेंट्स की एक बार दिलचस्पी बने तो फिर आप धारा परवाह बोल सकते हैं. उदहारण के लिए कुछ जादू की आसन सी ट्रिक कर सकते हैं या कोई कार्टून करैक्टर को स्क्रीन पर दिखा सकते हैं, या अगर आप और अधिक करना चाहते हैं तो खुद एक  कार्टून करैक्टर या सुपर हीरो की पोशाक पहन सकते हैं.  Hindi Likhna Kaise Sikhe

आपकी Speech की शुरुवात जितनी धमाकेदार होगी आपकी आगे की स्पीच उतनी ही शानदार तरीके से आगे बढेगी. इसी तरह से अगर आप technology वाले लोगो के बीच में हैं तो आपको अपनी Speech की शुरुवात में नयी   technology के बारे में बताना होगा जो यहाँ उपस्थित लोगो के प्रोफेशनल carrier में चार चाँद लगा दे. कहने का अर्थ यह है की आपको अपने Target Audience का खास ध्यान रखना होगा एवं यही आपके स्पीच का सबसे महत्वपूर्ण भाग है.

How to Start a Speech in Hindi

प्रथम पंक्तियां

Target Audience के अलावा आपकी Speech का दूसरा सबसे महत्वपूर्ण भाग है की आप अपने स्पीच की प्रथम पंक्तियां कैसे शुरू करते हैं. ऊपर के उदहारण के अनुसार ही अगर आपके Target Audience बच्चे हैं तो प्रथम पंक्तियां में आपको कुछ ऐसा बोलना चाइये जो आपके Target Audience में interest जगा दे. जैसे की किसी जानवर की आवाज़ निकल सकते हैं. कहने का अर्थ यह है की प्रथम पंक्तियां आपके प्रश्न Hindi में Speech कैसे शुरू करें का एक और महत्वपूर्ण भाग है एवं आपको इस पर खास ध्यान देने की आवश्यकता है.

आपका पहनावा

आपको आपका पहनावा भी आपके श्रोताओं के बीच अच्छा इम्प्रैशन बनायेगा. यहाँ पहनावा  आपको Target Audience के हिसाब से तय करना होगा. अगर बच्चों के बीच हैं तो किसी सुपर हीरो या कार्टून करैक्टर के कपडे सही रहेंगे, अगर प्रोफेशनल लोगो के बीच आपको अपने Speech को शरू करना है तो आपको प्रोफेशनल कपड़े यानि की फुल शर्ट एवं पेंट पहनने ज्यादा सही रहेगा.  How to Start a Speech in Hindi के सही उत्तर देने से पहेले के आपको जानना होगा की आपको आपकी स्पीच के हिसाब क्या पहेनना चाहिये.

How to Start a Speech in Hindi

बॉडी लैंग्वेज

बॉडी लैंग्वेज किसी भी स्पीच का एक महत्वपूर्ण भाग है. जब तक आपकी बॉडी लैंग्वेज नकारात्मक रहेगी आपकी स्पीच कितनी भी अच्छी हो, आपके श्रोता आपको एवं आपकी स्पीच को पसंद नहीं करेंगे. पॉजिटिव बॉडी लैंग्वेज किसी भी स्पीच का एक बहुत ही मत्वपूर्ण भाग है. बल्कि यहाँ हम बोलना चाहेंगे की पॉजिटिव बॉडी लैंग्वेज स्पीच ही नहीं आपके सम्पूर्ण जीवन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है. हमेशा अपने चेहरे पर मुस्कराहट रहनी चाहए. श्रोताओं से हमेशा नजरें मिला कर बाते करें, स्टेज पर चलते रहें यहाँ से वहा , इस से सभी  श्रोताओं को आपसे जुडाव या कनेक्शन का अनुभव होगा.

विषय की जानकारी

आप अगर किसी विषय पर स्पीच दे रहे हैं तो आपके श्रोता आपसे उम्मीद करते हैं की आप उस विषय के बारे में सब कुछ जानते हैं. कहने का अर्थ यह है की आप जिस विषय पर  Speech देने वाले हैं आपको उस विषय की सम्पूर्ण जानकारी या नॉलेज होनी चाहिये. सोचिये अगर आपके शश्रोताओं मे से कोई एक श्रोता आपसे आपकी स्पीच की संबंध मे कोई प्रश्न पूछ ले एवं अगर आप उसके प्रश्न का उत्तर ना दे पायें तो कैसा लगेगा आपको.

आपको लगता है की उस प्रश्न का उत्तर ना दे पाने के बाद आपको कोई भी सुनना चहेगा. इसलिए हमेशा याद रखिये आप जिस विषय पर भी बोलना चाहते हैं आपको उस विषय के बारे में सब कुछ आना चहिये. वो ही विषय चुने जिसके बारे में आप सब कुछ जानते हैं.

How to Start a Speech in Hindi

Interaction with your Target Audience

आपको अपनी स्पीच में लगातार अपने श्रोताओं से सवांद करते रहना होगा. How to Start a Speech in Hindi मे भी आप अपनी स्पीच का आरम्भ ही आप अपने श्रोताओं से सवांद के साथ कर सकते हैं. Target Audience के साथ Interaction से शुरुवात करने से आपके श्रोता शरू से ही आप से जुड़ जायंगे एवं उनका interest अंत तक बना रहेगा. अतः एक अच्छी स्पीच के आरम्भ से लेकर अन्त तक आपको अपने श्रोताओं से जुड़ा रहना होगा एवं लगतार उनसे सवांद या interaction करते रहना होगा.

प्रैक्टिस या अभ्यास

ये बोलने वाली बात नहीं है की आपको अपने भाषण को कई बार प्रैक्टिस या अभ्यास करना ही  होगा. जब तक आप अभ्यास नहीं करेंगे तब तक आप स्टेज पर आकर अपने श्रोताओं के सामने confident नहीं नज़र आयंगे. याद रखये आपको अपने भाषण को देखकर बिलकुल भी नहीं बोलना होगा, अन्यथा श्रोता आपसे कनेक्ट नहीं हो पायंगे. आपको अपने भाषण को दर्शकों की आँखों में देखकर , बिना पढ़े ही बोलना होगा.  लेकिन ये तभी संभव होगा जब अपनी स्पीच का अच्छे से अभ्यास करेंगे. Innovative way to Learn Hindi

निष्कर्ष : How to start speech in Hindi

हम कह सकते हैं की किसी भी स्पीच को रोचक एवं सफ़ल बनाने के लिए आपको एक रणनीति बनानी होगी, जिसमे आपको मुख्यतः Target Audience, प्रथम पंक्तियां, पहनावा,  आपकी बॉडी लैंग्वेज एवं अभ्यास पर खास ध्यान देना होगा. साथ ही साथ आपको ऐसा विषय भी चुनना होगा जिसके बारे में आप सब कुछ जानते हैं. साथ ही  साथ आपको अपने श्रोताओं को लगातार जुड़े रहना होगा. अगर आप इन छोटे छोटे विषयों पर ध्यान देंगे तो ना केवल आप Start a Speech in Hindi कर सकते हैं बल्कि आपकी सम्पूर्ण स्पीच भी प्रभावी होने वाली है.

अपनी स्पीच की शुरुवात कैसे करे. आइये इस से सम्बंधित कुछ प्रश्नों पर विचार करते हैं.

How to Start Speech in Hindi on Stage?

कुछ खास बातों का ध्यान रखें जैसे की आपके श्रोता कौन हैं , पहली पंक्तियाँ कैसी होनी चाइये, आपका पहनावा कैसा होना चाइये, अपने श्रोताओं को अपनी स्पीच मे. कैसे जोडकर रखें आदि. अधिक जानकारी के लिए आप दी हुई पोस्ट को पढ़ सकते हैं.

How can we give Public Speech in Hindi?

हालाकि इस पोस्ट में बताया गया है की हिंदी में आप अपनी स्पीच की शुरुवात कैसे करें, लेकिन अगर इसे ध्यान से पढेंगे तो आप देखेंगे की यहाँ बताये गए सभी तरीकों से आप आपने पूरे भाषण को प्रभावी बना सकते हैं.

How to Start a Speech?

Please go through the post. We are confident, once you go through the post and implement these measures in your speech, you will defiantly get effective results.

Download PikaShow : World Best Free Video Provider App

StbEmu : Watch Internet TV in your Mobile 

Stream India : Watch IPL on your Mobile

उम्मीद करते हैं की इस पोस्ट में बताये गए तरीको को अगर आपनी अपनी स्पीच मे उपयोग करते हैं तो How to Start a Speech in Hindi के द्वारा आप अपने श्रोताओं को लुभाने में सफ़ल होंगे एवं साथ ही साथ आप एक सफ़ल स्पीकर भी बनने में कामयाब रहेंगे. याद रखये हिंदी में भाषण शुरू विभिन्न तरीकों से किया जा सकता है परन्तु यह सबसे ज्यादा संदर्भ एवमं दर्शकों पर निर्भर करता है.

You Might Also Like

Barah Khadi In Hindi

Barah Khadi In Hindi : Innovative way to Learn Hindi

Bada Hua To Kya Hua Jaise Ped Khajoor

Bada Hua To Kya Hua Jaise Ped Khajoor : A Beautiful Story

Vakrokti Ke Kitne Bhed Hai

Vakrokti Ke Kitne Bhed Hai : Amazing Facts About Vakrokti

This post has one comment.

Pingback: Hindi Likhna Kaise Sikhe: Hindi Bolna Kaise Sikhe

Leave a Reply Cancel reply

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

  • अन्वेषण करें हमारे बारे में समुदाय विविध लेख श्रेणियाँ
  • श्रेणियाँ (categories) खोजें
  • विकिहाउ के बारे में
  • लॉग इन/ खाता बनाएं
  • शिक्षा और संचार

कैसे डिबेट शुरू करें (Start a Debate)

इस आर्टिकल के सहायक लेखक (co-author) हमारी बहुत ही अनुभवी एडिटर और रिसर्चर्स (researchers) टीम से हैं जो इस आर्टिकल में शामिल प्रत्येक जानकारी की सटीकता और व्यापकता की अच्छी तरह से जाँच करते हैं। wikiHow's Content Management Team बहुत ही सावधानी से हमारे एडिटोरियल स्टाफ (editorial staff) द्वारा किये गए कार्य को मॉनिटर करती है ये सुनिश्चित करने के लिए कि सभी आर्टिकल्स में दी गई जानकारी उच्च गुणवत्ता की है कि नहीं। यहाँ पर 7 रेफरेन्स दिए गए हैं जिन्हे आप आर्टिकल में नीचे देख सकते हैं। यह आर्टिकल २२,७६७ बार देखा गया है।

सही तरीके से डिबेट की शुरुआत करने से आप अपने श्रोताओं का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित कर लेंगे और अपनी बात को सही साबित कर पाएंगे | डिबेट शुरू करने से पहले, कुछ समय लेकर ऐसी दमदार शुरुआत सोच लें जो लोगों का दिल जीत ले |

श्रोताओं का ध्यान आकर्षित करना

Step 1 एक रोचक कहानी सुनाएं:

  • आपकी कहानी डिबेट के मुख्य सार को सही प्रकार से पेश कर पाए | मसलन, वो ये दिखा सकती है, की इस विषय के सम्बन्ध में आपको किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा, आपने उन चुनातियों का कैसे सामना किया, और इस दौरान आपने क्या सबक सीखे |
  • उदहारण के तौर पर, "दौरों से प्रभावित व्यक्ति होने के कारण, मेरे लिए मेडिसिनल मारिजुआना (Medicinal Marijuana) जान बचाने का एक अहम् जरिया था | मेरे परिवार को और मुझे इसे पाने के लिए अपना स्थान बदलना पड़ा, पर ये कोशिश मददगार साबित हुई | मेरे दौरे दिन में पांच से कम होकर हफ्ते में एक तक आ गए |"

Step 2 बात को घुमा कर सवाल पूँछें:

  • मसलन, आप पूछ सकते हैं, “क्या आप चाहेंगे की आप जिसे प्यार करते हैं वो बिना किसी कारण के तकलीफ पाए?”

Step 3 कोई चौंकाने वाले स्टेटिसटिक पेश करें:

  • उदाहरण के तौर पर, आप कह सकते हैं, “लाखों टन प्लास्टिक इस समय समुद्र में तैर रहा है | ये इतना प्लास्टिक है की इससे लक्षद्वीप के आकार का एक द्वीप बन जाए |” उसके बाद, मुद्दे पर बात करना शुरू करें और श्रोताओं को समझाएं की क्यूँ आपके द्वारा पेश किया गया हल सर्वोत्तम है |

Step 4 किसी प्रभावी कोट् (Quote) का प्रयोग करें:

  • उदाहरण के तौर पर, ये सोचें की आप इस मुद्दे पर भाषण दे रहे हैं की क्यों जीवन में सफल होने के लिए उच्चा शिक्षा पाना ज़रूरी नहीं है | आप ऐसे शुरुआत कर सकते हैं, “मार्क ट्वेन ने एक बार कहा था, ‘स्कूल को अपनी शिक्षा में अड़चन नहीं पैदा करने दें |’”

Step 5 प्रोप (Prop) या...

  • मसलन, अगर आप ये बहस कर रहे हैं की वास्तव में मौसम में बदलाव आ रहा, तो वातावरण में कार्बन डाई ऑक्साइड की अधिक मात्रा से प्रभावित एक ग्लेशियर के पहले और बाद की तस्वीर लोगों को दिखाएं |

डिबेट शुरू करना

Step 1 परिभाषाएं स्थापित करना:

  • अपने विवाद के मुख्य टर्म्स की पहचान करें और उनकी परिभाषाएं अलग अलग डिक्शनरी में से समझें | हर शब्द के लिए सबसे उपयुक्त परिभाषा का चुनाव करें | आप ऐसी परिभाषा का चुनाव कर सकते हैं जो पारंपरिक और पक्षपातों से भिन्न हो |
  • आपकी परिभाषाएं शाब्दिक, या विषय के मुताबिक हो सकती हैं | विषय के मुताबिक लिखी परिभाषाएं में आप ये उदहारण डाल सकते हैं की कैसे ये बातें हकीकत की दुनिया में काम आती हैं | मसलन, पैसे की विषय के मुताबिक परिभाषा में आप कह सकते हैं की पैसे से हम सेवाएं जैसे, खाना और गैस खरीद सकते हैं | [७] X रिसर्च सोर्स

Step 2 अपने केस को सम्मारयिज़ करें:

  • उदाहरण के तौर पर, “मेरे साथी और मैं आपको मेडिसिनल मारिजुआना की ज़रुरत, इस्तेमाल और फायदों के बारे में बताएँगे | साथ में हम आपको बताएँगे की हजारों रोगी, जिनमें से कई छोटे बच्चे हैं, और जो दौरों से पीड़ित हैं, वो मेडिसिनल मारिजुआना से आराम पाते हैं | क्षोध से पता चलता है की मेडिकल मारिजुआना 80 % तक दौरों की घटनाओं को कम कर सकते हैं | इसके इलावा, मेडिसिनल मारिजुआना के साइड इफ़ेक्ट अन्य पारंपरिक दवाईयों के देखे कम तीव्र होते हैं, ख़ास तौर से बच्चों के लिए | हम ये साबित करेंगे की मेडिसिनल मारिजुआना रोगियों और उनके परिवार के लिए एक उपयोगी, सुरक्षित, और किफायती हल है |”

Step 3 नीति तय करें:

  • ये साबित करने के लिए की आपकी टीम की नीति काम करेगी, लागू हो चुकी अन्य नीतियों को अपनी नीति का आधार बनाएं | उदाहरण के तौर पर, आप ये कह सकते हैं की ड्राइविंग करते समय सेलफोन पर प्रतिबन्ध शराब पी कर ड्राइविंग करने से मिलता जुलता है |
  • ऐसी तीन महत्वपूर्ण वजहों पर ध्यान केन्द्रित करें जो ये बताएं की क्यूँ उस नीति की या उसमें बदलाव की ज़रुरत है | [१०] X रिसर्च सोर्स

डिबेट पेश करना

Step 1 श्रोताओं का अभिवादन करना:

  • अपने श्रोताओं का अभिवादन करके कहें, “गुड मोर्निंग फैकल्टी और स्टाफ | आज के डिबेट का विषय है स्टूडेंट पार्किंग,” या “गुड मोर्निंग टीचर्स और स्टूडेंट्स | इस डिबेट के लिए समय निकाल कर आने के लिए धन्यवाद | आज, विषय है स्टूडेंट पार्किंग |”

Step 2 ये बताएं की...

  • आपका पक्ष किस बात पर बहस कर रहा है उसे बताने के लिए कहें, “हमें लगता है की पढ़ने वाले छात्रों से कैंपस पर पार्क करने के लिए पार्किंग पास के पैसे नहीं मांगने चाहिए,” या “हमें लगता है की सभी छात्रों को कैंपस में पार्क करने के लिए पार्किंग पास के पैसे देने चाहिए |”
  • स्पीकर्स की ज़िम्मेदारी समझाने के लिए कहें, “पहले स्पीकर के तौर पर, मैं मुख्य टर्म्स और तर्क की भूमिका पेश करूंगा | दूसरा स्पीकर उस तर्क के समर्थन में वजहें पेश करेगा, और तीसरा स्पीकर हमारे तर्कों को सम्मारयिज़ करेगा |”

Step 3 श्रोताओं के साथ आँखों से संपर्क बनाएं:

  • हर वाक्य के बाद अपने श्रोताओं से आँखों से संपर्क साधना नहीं भूलें |
  • एक व्यक्ति से सिर्फ तीन या पांच सेकंड तक आँखों का संपर्क रखें, और फिर दूसरे व्यक्ति पर जांयें |

Step 4 धीरे और साफ़ बोलें:

  • इसके इलावा, बीच में रुकना नहीं भूलें | रुकने से आपको साँस लेने का अवसर मिलता है और आप आगे क्या कहना है ये सोच सकते हैं | आप के श्रोता भी जो आपने कहा उन बातों को सही से समझ पाएंगे |

संबंधित लेखों

बंगाली में आम शब्द बोलना सीखें

  • ↑ http://business.financialpost.com/business-insider/7-excellent-ways-to-start-a-presentation-and-capture-your-audiences-attention
  • ↑ http://sixminutes.dlugan.com/speech-quotes/
  • ↑ http://debateable.org/debate-topics/the-set-up#h2-definition
  • ↑ http://debatesociety.tripod.com/mcds10.html
  • ↑ http://debatesociety.tripod.com/mcds10.html#procedure
  • ↑ http://www.speakingaboutpresenting.com/delivery/tips-eye-contact/
  • ↑ http://www.speakingaboutpresenting.com/delivery/dont-slow-down-effective-presenter/

विकीहाउ के बारे में

विकीहाउ स्टाफ

  • प्रिंट करें

यह लेख ने कैसे आपकी मदद की?

सम्बंधित लेख.

बंगाली में आम शब्द बोलना सीखें

हमें फॉलो करें

wikiHow

  • हमें कॉन्टैक्ट करें
  • यूज़ करने की शर्तें (अंग्रेजी में)
  • Do Not Sell or Share My Info
  • Not Selling Info
  • मूल्य निर्धारण

पब्लिक स्पीकिंग क्या है? प्रकार, उदाहरण और सुझाव?

पब्लिक स्पीकिंग क्या है? प्रकार, उदाहरण और सुझाव?

जेन न्गो • 20 दिसंबर 2022 • 5 मिनट लाल

मजबूत सार्वजनिक बोलने वाले लोगों के पास बड़े निगमों द्वारा मांगे जाने वाले संभावित उम्मीदवारों के रूप में विकसित होने के कई अवसर हैं। गतिशील और अच्छी तरह से तैयार वक्ताओं को हेडहंटर्स द्वारा अत्यधिक महत्व दिया जाता है और वे नेतृत्व की स्थिति और महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

इस लेख में, हम इसके बारे में और जानेंगे सार्वजनिक बोल , यह क्यों महत्वपूर्ण है, और अपने सार्वजनिक बोलने के कौशल को कैसे सुधारें।

  • # 1 - पब्लिक स्पीकिंग क्या है?
  • #2 – सार्वजनिक बोलना क्यों महत्वपूर्ण है?
  • #3 - सार्वजनिक बोलने के प्रकार
  • #4 - सार्वजनिक बोलने के उदाहरण
  • #5 – सार्वजनिक बोलने के कौशल में सुधार कैसे करें

AhaSlides के साथ पब्लिक स्पीकिंग टिप्स

  • बोलने के लिए दिलचस्प विषय
  • सार्वजनिक बोलने के प्रकार
  • पब्लिक स्पीकिंग टिप्स
  • सार्वजनिक बोलने का डर
  • खराब पब्लिक स्पीकिंग

सार्वजनिक बोलना क्यों महत्वपूर्ण है?

  • बाहरी संसाधन: लाइव भाषण

पब्लिक स्पीकिंग क्या है?

सार्वजनिक भाषण, जिसे व्याख्यान या भाषण के रूप में भी जाना जाता है, पारंपरिक रूप से इसका अर्थ है  सीधे बोलने की क्रिया, एक लाइव ऑडियंस का आमना-सामना करना .

introduction for speech in hindi

सार्वजनिक भाषण का उपयोग विभिन्न उद्देश्यों के लिए किया जाता है, लेकिन अक्सर यह शिक्षण, अनुनय या मनोरंजन का मिश्रण होता है। इनमें से प्रत्येक थोड़ा अलग दृष्टिकोण और तकनीकों पर आधारित है।

आज, सार्वजनिक भाषण की कला को नई उपलब्ध तकनीक जैसे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, मल्टीमीडिया प्रस्तुतियों और अन्य गैर-पारंपरिक रूपों द्वारा बदल दिया गया है, लेकिन मूल तत्व वही रहते हैं।

यहाँ कुछ कारण बताए गए हैं कि क्यों सार्वजनिक रूप से बोलना अधिक से अधिक आवश्यक होता जा रहा है:

अपनी भीड़ पर विजय प्राप्त करें

कंपनी की बैठक या सम्मेलन में उपस्थित हजारों लोगों के सामने अपने विचारों को सुसंगत और आकर्षक ढंग से बोलने और प्रस्तुत करने में सक्षम होना आसान नहीं है। हालांकि, इस कौशल का अभ्यास करने से मदद मिलेगी  डर पर काबू पाएं  सार्वजनिक बोलने का, और संदेश देने के लिए आत्मविश्वास का निर्माण। 

introduction for speech in hindi

लोगों को प्रेरित करें

उत्कृष्ट सार्वजनिक बोलने के कौशल वाले वक्ताओं ने कई दर्शकों को अपने जीवन में एक महत्वपूर्ण मोड़ बनाने में मदद की है। वे जो संदेश देते हैं वह दूसरों को साहसपूर्वक कुछ शुरू / बंद कर सकता है या जीवन में अपने स्वयं के लक्ष्यों को फिर से स्थापित कर सकता है। सार्वजनिक भाषण इतने सारे लोगों के लिए एक शक्तिशाली प्रेरक और भविष्योन्मुखी हो सकता है।

महत्वपूर्ण सोच कौशल विकसित करें

पब्लिक स्पीकिंग आपके दिमाग को पूरी क्षमता से काम करता है, खासकर गंभीर रूप से सोचने की क्षमता। आलोचनात्मक सोच वाला वक्ता अधिक खुले विचारों वाला और दूसरों के दृष्टिकोण को समझने में बेहतर होगा। गंभीर विचारक किसी भी मुद्दे के दोनों पक्षों को देख सकते हैं और द्विदलीय समाधान उत्पन्न करने की अधिक संभावना रखते हैं।

इसके अलावा,  लाभ  सार्वजनिक रूप से बोलने में संचार कौशल में सुधार, आत्मविश्वास पैदा करना, नेतृत्व के अवसरों की ओर अग्रसर होना आदि शामिल हैं। 

>> और जानें: पब्लिक स्पीकिंग क्यों जरूरी है?

सार्वजनिक भाषण के प्रकार

एक सफल वक्ता होने के लिए, आपको खुद को समझना होगा और साथ ही यह भी समझना होगा कि आपके लिए किस प्रकार का सार्वजनिक भाषण सबसे अच्छा है, यहां तक ​​​​कि हर एक के दृष्टिकोण के कारण आपके द्वारा की जाने वाली प्रस्तुतियों को भी तोड़ना होगा। 

सबसे आम  5 विभिन्न प्रकार  सार्वजनिक बोलने के हैं:

  • औपचारिक भाषण
  • प्रेरक बोलना
  • जानकारीपूर्ण भाषण
  • मनोरंजक भाषण
  • प्रदर्शनकारी बोलना

अधिक जानें: सार्वजनिक भाषण के प्रकार

सार्वजनिक भाषण के उदाहरण

आइए महान भाषणों और महान वक्ताओं के उदाहरण देखें:

डोनोवन लिविंगस्टन भाषण - संदेश देने में रचनात्मकता

डोनोवन लिविंगस्टन ने हार्वर्ड ग्रेजुएट स्कूल ऑफ एजुकेशन के दीक्षांत समारोह में एक शक्तिशाली भाषण दिया। 

उनका भाषण एक उद्धरण के साथ सुरक्षित रूप से शुरू हुआ, एक तकनीक जिसका उपयोग पीढ़ियों से किया जा रहा है। लेकिन फिर, मानक अभिरुचि और शुभकामनाओं के बजाय, उन्होंने भाषण के रूप में एक बोली जाने वाली कविता में लॉन्च किया। इसने अंत में भावनात्मक रूप से अभिभूत दर्शकों को आकर्षित किया।

लिविंगस्टन के भाषण को अब तक 939,000 से अधिक बार देखा जा चुका है और लगभग 10,000 लोगों ने इसे पसंद किया है।

डैन गिल्बर्ट की प्रस्तुति - कॉम्प्लेक्स को सरल बनाएं

द सरप्राइज़िंग साइंस ऑफ़ हैप्पीनेस पर डैन गिल्बर्ट की प्रस्तुति इस बात का एक बेहतरीन उदाहरण है कि कैसे जटिल को सरल बनाया जाए।

दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए गिल्बर्ट की एक महत्वपूर्ण रणनीति यह सुनिश्चित करना है कि यदि उन्होंने अधिक जटिल विषय के बारे में बात करने का फैसला किया, तो वे अवधारणाओं को इस तरह से तोड़ देंगे कि दर्शक आसानी से समझ सकें।

एमी मोरिन - एक कनेक्शन बनाओ 

एक महान कहानी सुनाना आपके दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित करने में अच्छा काम करता है, लेकिन यह तब और भी अधिक शक्तिशाली होता है जब आप कहानी और अपने दर्शकों के बीच संबंध बनाते हैं।

एमी मोरिन ने अपने मुख्य भाषण "द सीक्रेट टू बीइंग मेंटली स्ट्रॉन्ग" में श्रोताओं को एक प्रश्न के साथ जोड़कर किया।

शुरुआत के लिए, यह न सोचें कि आप ऊपर दिए गए उदाहरणों की तरह कब महान होंगे, बल्कि इस बात पर ध्यान दें कि इससे कैसे बचा जाए  सार्वजनिक बोलने में गलतियाँ करना . 

और हम नीचे दिए गए अनुभाग में सार्वजनिक बोलने के कौशल को बेहतर बनाने के लिए युक्तियों के बारे में जानेंगे।

अधिक जानें: बोलने के लिए दिलचस्प विषय

सार्वजनिक बोलने के कौशल में सुधार कैसे करें

  • विश्वास रखें:  आत्मविश्वास विपरीत व्यक्ति को बहुत अच्छी तरह आकर्षित करने में मदद करता है। इसलिए, जब आप जो कहते हैं उस पर विश्वास करते हैं, तो आप जो कहते हैं उस पर विश्वास करने के लिए दूसरों को विश्वास दिलाना भी आसान होगा। (चिंता महसूस करना और आत्मविश्वास की कमी महसूस करना? चिंता न करें! आप इन युक्तियों को हराकर इसे खत्म कर देंगे  ग्लोसोफोबिया )
  • आँख से संपर्क करें और मुस्कुराएँ:  किसी के साथ संवाद करने के लिए अपनी आँखों का उपयोग करना, यहाँ तक कि केवल कुछ सेकंड के लिए, आपके अनुयायियों को यह एहसास दिला सकता है कि आप उन्हें साझा करने में अपना पूरा दिल लगा रहे हैं, और दर्शक इसकी अधिक सराहना करेंगे। इसके अलावा, मुस्कान श्रोताओं को प्रभावित करने का एक शक्तिशाली हथियार है।
  • शारीरिक भाषा का प्रयोग करें:  आपको अपने हाथों का उपयोग संचार सहायता के रूप में करना चाहिए। हालांकि, उनका सही समय पर उपयोग किया जाना चाहिए, जिससे दर्शकों को असुविधा पैदा करने के लिए हाथ और पैर को बहुत अधिक हिलाने की स्थिति से बचा जा सके।
  • बोलते समय भावना पैदा करें : चेहरे के भावों को भाषण के लिए उपयुक्त बनाने से यह अधिक जीवंत और दर्शकों को अधिक सहानुभूतिपूर्ण बना देगा। जानकारी देते समय ध्वन्यात्मकता और लय पर ध्यान देना आपके सार्वजनिक बोलने को और अधिक आकर्षक बना देगा!

introduction for speech in hindi

  • एक दिलचस्प तरीके से शुरू करें:  प्रस्तुति की शुरुआत किसी असंबंधित या कहानी, आश्चर्य की स्थिति आदि से करने की सलाह दी जाती है। दर्शकों को इस बारे में उत्सुक रखें कि आप क्या करने जा रहे हैं और भाषण पर प्रारंभिक ध्यान दें।
  • श्रोताओं के साथ बातचीत करें:  अपने श्रोताओं के साथ ऐसे प्रश्नों के बारे में बात करें जो आपके श्रोताओं की ज़रूरतों के बारे में अधिक जानने और समस्याओं को हल करने में आपकी सहायता करते हैं।
  • नियंत्रण समय:  योजना का पालन करने वाले भाषणों में उच्च स्तर की सफलता होगी। यदि भाषण बहुत लंबा है, और जुआ है, तो यह श्रोताओं को अब दिलचस्पी नहीं देगा और निम्नलिखित भागों की प्रतीक्षा करेगा।
  • बिल्ड प्लान बी:  संभावित जोखिमपूर्ण स्थितियों के लिए खुद को तैयार करें और अपना समाधान करें। यह आपको अप्रत्याशित में शांत रहने में मदद करेगा।

मंच पर चमकने के लिए, आपको न केवल बोलते समय अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करना चाहिए, बल्कि मंच से बाहर होने पर भी अच्छी तैयारी करनी चाहिए।  10 टिप्स  चरण दर चरण स्पष्ट करने में आपकी सहायता करेगा।

अधिक जानें: सार्वजनिक बोलने की युक्तियाँ

AhaSlide को उम्मीद है कि इस लेख ने आपको उपयोगी जानकारी प्रदान की है। अब आप किस चीज का इंतजार कर रहे हैं? आइए एक सफल भाषण के लिए खुद को तैयार करें। अभ्यास परिपूर्ण बनाता है!

introduction for speech in hindi

एक लेखक जो दर्शकों के लिए व्यावहारिक और मूल्यवान सामग्री बनाना चाहता है

AhaSlides से अधिक

5 विभिन्न प्रकार के सार्वजनिक भाषण 2023 में सभी को पता होना चाहिए

Search form

  • Course Listing
  • Placement Test

You are here

Introduction to hindi language.

Introduction to the Hindi Language

Script & Sound System

  • Pronunciation Hints

Social Customs

  • Postpositions
  • Nouns with Postpositions

Hindi is the national language of India; but, it is one of several languages spoken in different parts of the sub-continent.  ‘National’ should be understood as meaning the ‘official’ or ‘link’ language.  The homeland of Hindi is in the North of India, but it is studied, taught, spoken and understood widely throughout the sub-continent, whether as mother tongue or as a second or a third language.

Hindi has a special relationship with Urdu: their grammar is virtually identical, and they have a substantial vocabulary in common. However, the two languages part company at a higher level, because Urdu draws the bulk of its vocabulary from Persian and Arabic, while Hindi draws much of its vocabulary from Sanskrit.  Besides, Hindi is written in Devnagari script, while Urdu is written in a modified form of the Arabic script.

Hindi has many different styles and speech registers, appropriate in different contexts. At the most colloquial level it reflects more the common ground with Urdu, while in formal and official contexts a more Sanskritized style is found.

The language of this course is that which is used unselfconciously by Hindi speakers and writers in the various, mainly informal situations, which are introduced. We have included some of the English language words here, which are freely used in conversations by the Hindi speakers.

Hindi is written in Devnagari or ‘Nagari’ script.  The script is phonetic; so that Hindi, unlike English, is pronounced as it is written. Therefore, it is to learn the characters of the script and the sounds of the language at the same time.

Top of the page

Pronuciations Hints

Each Devnagari character is followed by its Roman transliteration. The transliteration shows each consonant to end in ‘a’ : this is because in the absence of any other vowel sign, the Devnagari consonant is followed by an inherent ‘a’ sound (pronounced like the ‘a’ in ‘majority’), unless it occurs at the end of the word, when it is not pronouced, or is silenced. Thus each Devnagari character represents a syllable, and the totality is strictly speaking a ‘syllabary’ rather than an ‘alphabet’. Note that Devnagari has no capital letters.

There are two features in Hindi characters that require special attention (as these do not occur in English): first is the  contrast between aspirated and non-aspirated consonants, and the second is that between dental and retroflex consonants.

Aspirated consonants are those produced with an audible expulsion of breath and non-aspirated are pronounced with minimal breath.  Hindi distinguishes unaspirated ‘ka’ and ‘ta’ from aspirated ‘kha’ and ‘tha’.

Second contrast is between dental and retroflex consonants, for example, ta and da from t. and d.  In dental consonants the tongue touches the upper front teeth, whereas with the retroflex consonants the tip of the tongue is curled upwards against the palate, and when the tongue is released from this position it gives the Indian retroflex sound.  The nearest  approximations in English to these distinctions are the dental-like ‘t’ which is sometime heard in the pronunciation of the word  ‘eighth’, and the retroflex-like ‘t’ in ‘true’ and the dental-like ‘d’ in ‘breadth’, and the retroflex-like ‘d’ in ‘drum’.

There are 33 consonants and 11 vowels in Hindi.  Additionally, there are also many conjunct consonants. Hindi consonants are divided into groups on the basis of phonetic properties of their formations: plosives, nasals, fricatives, flapped and tapped sounds, and semi vowels.

The customary Hindu greetings are ‘namaste’ or ‘namaskar’, often said with hands folded in front of the chest. These are all-purpose greetings, covering the English ‘hello’, ‘Good morning’, ‘Goodbye’, etc.

Though one wouldn’t say ‘namastay’ as frequently or casually as English speaker would say ‘Hi’ and/or ‘Hello’.

The word ‘jii’ can always be added to a man’s surname, where it approximates to ‘Mr.’-though its tone is rather more cordial; ‘sahab’ has similar usage.  ‘Jii’ and ‘sahab’ can also be used after the first or given names of both men and women, or alone, approximating in sense to ‘sir’ though ‘jii’ is less formal.

‘Bhai’ is literally ‘brother’,  and is commonly used between males of roughly same status.  The same pattern of use applies with ‘bahin’ ‘sister’ among females.

There are three pronouns for second person in Hindi which relate to the hierarchy in social standings of people.  The grammatically singular pronoun ‘tu’ is used in situations of intimacy on the one hand and contempt on the other. It is not likely that the learner will need to use it.  The two pronouns that require greatest sensitivity in usage are ‘aap’ and ‘tum’, both grammatically plural pronouns meaning ‘you’.  ‘Tum’ is familiar pronoun, used between close friends, members of family, and to people of clearly lower status.  ‘Aap ’ is the formal, polite pronoun used to equals and people entitled to respect on account of age, seniority and social standing.  It is safest to use ‘aap’.

The expression ‘kya haal hai’ means literally ‘what is (your) condition?’ and is used in the sense ‘how are you generally?’;  it is a useful idiomatic expression, very common in conversation.  ‘Meharbaanii hai’ means ‘it is (your) kindness’, i. e. ‘thank you’.  However, there are two words in Hindi which translate ‘thank you’: ‘shukriyaa’ and ‘dhanyavaad’.  These terms tend to be reserved for occasions of real obligation, but increasingly they are being used along the lines of English ‘thank you’.

The adjective ‘achchaa’ ‘good’ is used in speech with a wide range of meanings depending on the tone and stress with which it is pronounced. Its range covers ‘Good!’, ‘Right then!’, ‘Ah!’, ‘I see!”, ‘Really!’, and so on.

Hindi nouns are either masculine or feminine.  The grammatical gender of each noun must therefore be learned. There is no definite article ‘the’ in Hindi.

Masculine nouns are of two types: those ending in a final aa in the singular which changes to ‘e’ in the plural, and all others, which are the same in singular and plural:

Feminine nouns are also of two types:  those ending in ii or iya in the singular which form their plural in iyaan, and all others, which add en in the plural.

Adjectives:

Adjectives agree with the nouns they qualify.  Hindi adjectives are of two types: those that inflect (change their endings), and those that are invariable.  Those which inflect, such as ‘baraa’ ‘big’, and ‘chota’ ‘small’, end in aa in the masculine singular, e in masculine plural and ii in the feminine singular and plural.   The invariable adjectives, like ‘saaf’ ‘clean’, never change.

The Sentence:

Hindi uses a different word order than English. The subject usually comes at the begining of the sentence, and the verb comes at the end. The negative ‘nahiin’ comes just before the verb. 

Normal sentences English: Subject Verb Object = I speak Hindi Hindi: Subject Object Verb = I Hindi speak (mein hindi bolti hoon.)

Postpositions:

In English, prepositions such as in , from, etc. precede the words to which they relate. In Hindi , such words are called postpositions, because they follow the words they govern. In Hindi, there are five simple postpositions.  These are:  men (in), par (on), tak (upto, as far as, until); se (from, with, by);  and ko which like se is used in a variety of senses.

Nouns with Postpositions (cases): 

The Hindi noun has two grammatical cases: the direct and the oblique.  Nouns become oblique when they are followed by postpositions. 

Masculine nouns form the oblique before postpositions as follows:

Feminine nouns

Adjectives must agree with the nouns.  If a noun is in the oblique case, the adjective qualifying that noun must also be in the oblique. Inflecting adjective baraa form both the masculine singular oblique and the masculine plural oblique in bare, and both feminine singular and plural oblique in barii.

The Hindi verb is usually quoted in the infinitive form, e. g. bolnaa ‘to speak’.  This form consists of the stem bol- plus the infinitive ending naa.

The verb must agree with its subject in both number and gender. If the subject is a pronoun, the gender will be that of the noun to which the pronoun refers.  The verbal forms and their pronouns are given below:

The Hindi verb distinguishes not only tense-past, present and future- but also different kinds of action: those that are completed (perfective), those that are habitual (imperfective), and those that are going on (continuous).

Hindi/Introduction

  • Introduction
  • Combinations (Conjuncts)
  • Parts of speech
  • Conjugation
  • Everyday Phrases
  • Days of the week
  • Family relations
  • 2 Writing System
  • 5 Other resources

Usage [ edit | edit source ]

While the language has emigrated to all parts of the world, the noteworthy use of the language is in its country of origin - India . A large number of languages and dialects are spoken there, and no single one is spoken by all. The proper term for the form of Hindi used in northern India is Hindustani which is spoken in and around Delhi and borrows equally from other languages such as Urdu and Punjabi. Hindi though, is the most widely understood (~80%) and spoken (~66%) language in the region.

  • Click here for more on this topic

Writing System [ edit | edit source ]

Hindi is written in the Devanagari script (देवनागरी) a left-to-right writing system with a very characteristic top line. Several other languages such as Marathi, Nepali and Sanskrit use the Devanagari script.

History [ edit | edit source ]

Hindi originated in 17th century by the mixing of the Polulau languages of the areas around Delhi (capital of India) with Urdu and Persian (brought in by Muslim rulers from the west).

Hindi is derived from Prakrit from which the Indo-Aryan languages are derived. Hindi is heavily influenced by Urdu and even Persian, although it still retains the Devanagari script of Sanskrit.

Spoken Hindi and spoken Urdu are so similar that they are mutually intelligible by native speakers. In their literary forms, however, Hindi borrows more heavily from Sanskrit while Urdu borrows vocabulary from Persian and Arabic.

Examples [ edit | edit source ]

Other resources [ edit | edit source ].

  • eg.A hindi Website
  • eg.A hindi news information Website
  • eg.A hindi webdirectory
  • Wikipedia article about the Hindi language
  • Hindi-Urdu phrasebook on Wikivoyage

introduction for speech in hindi

Navigation menu

  • CBSE Class 10th

CBSE Class 12th

  • UP Board 10th
  • UP Board 12th
  • Bihar Board 10th
  • Bihar Board 12th
  • Top Schools in India
  • Top Schools in Delhi
  • Top Schools in Mumbai
  • Top Schools in Chennai
  • Top Schools in Hyderabad
  • Top Schools in Kolkata
  • Top Schools in Pune
  • Top Schools in Bangalore

Products & Resources

  • JEE Main Knockout April
  • Free Sample Papers
  • Free Ebooks
  • NCERT Notes

NCERT Syllabus

  • NCERT Books
  • RD Sharma Solutions
  • Navodaya Vidyalaya Admission 2024-25

NCERT Solutions

  • NCERT Solutions for Class 12
  • NCERT Solutions for Class 11
  • NCERT solutions for Class 10
  • NCERT solutions for Class 9
  • NCERT solutions for Class 8
  • NCERT Solutions for Class 7
  • JEE Main 2024
  • JEE Advanced 2024
  • BITSAT 2024
  • View All Engineering Exams
  • Colleges Accepting B.Tech Applications
  • Top Engineering Colleges in India
  • Engineering Colleges in India
  • Engineering Colleges in Tamil Nadu
  • Engineering Colleges Accepting JEE Main
  • Top Engineering Colleges in Hyderabad
  • Top Engineering Colleges in Bangalore
  • Top Engineering Colleges in Maharashtra
  • JEE Main College Predictor
  • JEE Main Rank Predictor
  • MHT CET College Predictor
  • AP EAMCET College Predictor
  • TS EAMCET College Predictor
  • KCET College Predictor
  • JEE Advanced College Predictor
  • View All College Predictors
  • JEE Main Question Paper
  • JEE Main Mock Test
  • GATE Mock Test
  • JEE Main Syllabus
  • Download E-Books and Sample Papers
  • Compare Colleges
  • B.Tech College Applications
  • BITSAT Question Paper
  • View All Management Exams

Colleges & Courses

  • MBA College Admissions
  • MBA Colleges in India
  • Top MBA Colleges in India
  • Top Online MBA Colleges in India
  • CAT Registration 2023
  • BBA Colleges in India
  • CAT Percentile Predictor 2023
  • CAT 2023 College Predictor
  • XAT College Predictor 2024
  • CMAT College Predictor 2024
  • SNAP College Predictor 2023
  • MAT College Predictor 2023
  • NMAT College Predictor
  • CAT Score Vs Percentile
  • CAT 2023 Answer Key
  • CAT Result 2023
  • CAT Cut Off
  • Download Helpful Ebooks
  • List of Popular Branches
  • QnA - Get answers to your doubts
  • IIM Fees Structure
  • AIIMS Nursing
  • Top Medical Colleges in India
  • Top Medical Colleges in India accepting NEET Score
  • Medical Colleges accepting NEET
  • List of Medical Colleges in India
  • List of AIIMS Colleges In India
  • Medical Colleges in Maharashtra
  • Medical Colleges in India Accepting NEET PG
  • NEET College Predictor
  • NEET PG College Predictor
  • NEET MDS College Predictor
  • DNB CET College Predictor
  • DNB PDCET College Predictor
  • NEET Application Form 2024
  • NEET PG Application Form 2024
  • NEET Cut off
  • NEET Online Preparation
  • Download Helpful E-books
  • LSAT India 2024
  • Colleges Accepting Admissions
  • Top Law Colleges in India
  • Law College Accepting CLAT Score
  • List of Law Colleges in India
  • Top Law Colleges in Delhi
  • Top Law Collages in Indore
  • Top Law Colleges in Chandigarh
  • Top Law Collages in Lucknow

Predictors & E-Books

  • CLAT College Predictor
  • MHCET Law ( 5 Year L.L.B) College Predictor
  • AILET College Predictor
  • Sample Papers
  • Compare Law Collages
  • Careers360 Youtube Channel
  • CLAT 2024 Exam Live
  • CLAT Result 2024
  • AIBE 18 Result 2023
  • NID DAT 2024
  • NID Admit Card 2024
  • NIFT Exam Application Form 2024
  • UPES DAT 2023

Animation Courses

  • Animation Courses in India
  • Animation Courses in Bangalore
  • Animation Courses in Mumbai
  • Animation Courses in Pune
  • Animation Courses in Chennai
  • Animation Courses in Hyderabad
  • Design Colleges in India
  • Fashion Design Colleges in Bangalore
  • Fashion Design Colleges in Mumbai
  • Fashion Design Colleges in Pune
  • Fashion Design Colleges in Delhi
  • Fashion Design Colleges in Hyderabad
  • Fashion Design Colleges in India
  • Top Design Colleges in India
  • Free Design E-books
  • List of Branches
  • Careers360 Youtube channel
  • NIFT College Predictor
  • IPU CET BJMC
  • JMI Mass Communication Entrance Exam
  • IIMC Entrance Exam
  • Media & Journalism colleges in Delhi
  • Media & Journalism colleges in Bangalore
  • Media & Journalism colleges in Mumbai
  • List of Media & Journalism Colleges in India
  • CA Intermediate
  • CA Foundation
  • CS Executive
  • CS Professional
  • Difference between CA and CS
  • Difference between CA and CMA
  • CA Full form
  • CMA Full form
  • CS Full form
  • CA Salary In India

Top Courses & Careers

  • Bachelor of Commerce (B.Com)
  • Master of Commerce (M.Com)
  • Company Secretary
  • Cost Accountant
  • Charted Accountant
  • Credit Manager
  • Financial Advisor
  • Top Commerce Colleges in India
  • Top Government Commerce Colleges in India
  • Top Private Commerce Colleges in India
  • Top M.Com Colleges in Mumbai
  • Top B.Com Colleges in India
  • IT Colleges in Tamil Nadu
  • IT Colleges in Uttar Pradesh
  • MCA Colleges in India
  • BCA Colleges in India

Quick Links

  • Information Technology Courses
  • Programming Courses
  • Web Development Courses
  • Data Analytics Courses
  • Big Data Analytics Courses
  • RUHS Pharmacy Admission Test
  • Top Pharmacy Colleges in India
  • Pharmacy Colleges in Pune
  • Pharmacy Colleges in Mumbai
  • Colleges Accepting GPAT Score
  • Pharmacy Colleges in Lucknow
  • List of Pharmacy Colleges in Nagpur
  • GPAT Result
  • GPAT 2024 Admit Card
  • GPAT Question Papers
  • NCHMCT JEE 2024
  • Mah BHMCT CET
  • Top Hotel Management Colleges in Delhi
  • Top Hotel Management Colleges in Hyderabad
  • Top Hotel Management Colleges in Mumbai
  • Top Hotel Management Colleges in Tamil Nadu
  • Top Hotel Management Colleges in Maharashtra
  • B.Sc Hotel Management
  • Hotel Management
  • Diploma in Hotel Management and Catering Technology

Diploma Colleges

  • Top Diploma Colleges in Maharashtra
  • UPSC IAS 2024
  • SSC CGL 2024
  • IBPS RRB 2024
  • Previous Year Sample Papers
  • Free Competition E-books
  • Sarkari Result
  • QnA- Get your doubts answered
  • UPSC Previous Year Sample Papers
  • CTET Previous Year Sample Papers
  • SBI Clerk Previous Year Sample Papers
  • NDA Previous Year Sample Papers

Upcoming Events

  • NDA Application Form 2024
  • UPSC IAS Application Form 2024
  • CDS Application Form 2024
  • CTET Admit card 2024
  • HP TET Result 2023
  • SSC GD Constable Admit Card 2024
  • UPTET Notification 2024
  • SBI Clerk Result 2024

Other Exams

  • SSC CHSL 2024
  • UP PCS 2024
  • UGC NET 2024
  • RRB NTPC 2024
  • IBPS PO 2024
  • IBPS Clerk 2024
  • IBPS SO 2024
  • Top University in USA
  • Top University in Canada
  • Top University in Ireland
  • Top Universities in UK
  • Top Universities in Australia
  • Best MBA Colleges in Abroad
  • Business Management Studies Colleges

Top Countries

  • Study in USA
  • Study in UK
  • Study in Canada
  • Study in Australia
  • Study in Ireland
  • Study in Germany
  • Study in China
  • Study in Europe

Student Visas

  • Student Visa Canada
  • Student Visa UK
  • Student Visa USA
  • Student Visa Australia
  • Student Visa Germany
  • Student Visa New Zealand
  • Student Visa Ireland
  • CUET PG 2024
  • IGNOU B.Ed Admission 2024
  • DU Admission
  • UP B.Ed JEE 2024
  • DDU Entrance Exam
  • IIT JAM 2024
  • ICAR AIEEA Exam
  • Universities in India 2023
  • Top Universities in India 2023
  • Top Colleges in India
  • Top Universities in Uttar Pradesh 2023
  • Top Universities in Bihar 2023
  • Top Universities in Madhya Pradesh 2023
  • Top Universities in Tamil Nadu 2023
  • Central Universities in India
  • IGNOU Date Sheet
  • CUET Mock Test 2024
  • CUET Application Form 2024
  • CUET PG Application Form 2024
  • CUET Participating Universities 2024
  • CUET Previous Year Question Paper
  • ICAR AIEEA Previous Year Question Papers
  • E-Books and Sample Papers
  • CUET Exam Pattern 2024
  • CUET Exam Date 2024
  • CUET Syllabus 2024
  • IGNOU Exam Form 2024
  • IGNOU Result 2023
  • CUET PG Courses 2024

Engineering Preparation

  • Knockout JEE Main 2024
  • Test Series JEE Main 2024
  • JEE Main 2024 Rank Booster

Medical Preparation

  • Knockout NEET 2024
  • Test Series NEET 2024
  • Rank Booster NEET 2024

Online Courses

  • JEE Main One Month Course
  • NEET One Month Course
  • IBSAT Free Mock Tests
  • IIT JEE Foundation Course
  • Knockout BITSAT 2024
  • Career Guidance Tool

Top Streams

  • IT & Software Certification Courses
  • Engineering and Architecture Certification Courses
  • Programming And Development Certification Courses
  • Business and Management Certification Courses
  • Marketing Certification Courses
  • Health and Fitness Certification Courses
  • Design Certification Courses

Specializations

  • Digital Marketing Certification Courses
  • Cyber Security Certification Courses
  • Artificial Intelligence Certification Courses
  • Business Analytics Certification Courses
  • Data Science Certification Courses
  • Cloud Computing Certification Courses
  • Machine Learning Certification Courses
  • View All Certification Courses
  • UG Degree Courses
  • PG Degree Courses
  • Short Term Courses
  • Free Courses
  • Online Degrees and Diplomas
  • Compare Courses

Top Providers

  • Coursera Courses
  • Udemy Courses
  • Edx Courses
  • Swayam Courses
  • upGrad Courses
  • Simplilearn Courses
  • Great Learning Courses

Popular Searches

Access premium articles, webinars, resources to make the best decisions for career, course, exams, scholarships, study abroad and much more with

Plan, Prepare & Make the Best Career Choices

हिंदी दिवस पर भाषण (Hindi Diwas Speech) - हिंदी दिवस पर भाषण कैसे लिखे यहाँ जानें

हिंदी भारत में सबसे अधिक लोगों के द्वारा बोली और समझी जाने वाली भाषा है। बीतते समय के साथ इसकी लोकप्रियता और बढ़ती जा रही है। 14 सितंबर, 1949 को संविधान सभा ने जनभाषा हिंदी को राजभाषा का दर्जा प्रदान किया। भारत दुनिया में सबसे ज्यादा विविध संस्कृतियों वाला देश है। धर्म, परंपराओं तथा भाषा में इसकी विविधता के बावजूद यहां के लोग एकता में विश्वास रखते हैं। बो हिंदी भारत की सबसे प्रमुख भाषा है। दुनियाभर में हिंदी भाषा तीसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। भारत में विभिन्न भाषाएं बोली जाती हैं, लेकिन सबसे ज्यादा हिंदी भाषा बोली, लिखी व पढ़ी जाती है। वर्ष 1949 में हिंदी को हमारे देश में सर्वोच्च दर्जा प्राप्त हुआ और तब से हिंदी को हमारी राजभाषा माना जाता है। हिंदी भाषा को सम्मान देने के लिए 10 जनवरी को प्रतिवर्ष विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) मनाया जाता है। ध्यान रहे कि राष्ट्रीय हिंदी दिवस हर वर्ष 14 सितंबर को मनाया जाता है। विश्व हिंदी दिवस (World Hindi Diwas) की जानकारी भी इस लेख में नीचे उपलब्ध है।

हिंदी दिवस पर भाषण (Hindi Diwas Speech) - हिंदी दिवस पर भाषण कैसे लिखे यहाँ जानें

हिंदी दिवस हमें यह याद दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है कि हिंदी विश्व की सबसे पुरानी भाषाओं में से एक है और प्रत्येक भारतीय को अपनी मातृभाषा में बोलने पर गर्व महसूस करना चाहिए। वर्ष में 14 सितंबर से 29 सितंबर तक हिंदी पखवाड़े का आयोजन देशभर में किया जाएगा। इस संदर्भ में कई तरह के आयोजन किए जाते हैं, जिनमें अच्छा प्रदर्शन करने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कृत और सम्मानित भी किया जाता है। हिन्दी दिवस 2023 के इन कार्यक्रमों में हिंदी निबंध प्रतियोगिता, अनुवाद प्रतियोगिता, हिंदी ज्ञान प्रतियोगिता, हिंदी टिप्पण एवं आलेखन प्रतियोगिता, हिंदी दिवस भाषण (hindi day speech) प्रतियोगिता आदि शामिल हैं।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिंदी दिवस पर देशवासियों को शुभकामना प्रेषित की

PM-Modi's%20tweet-on-Hindi-diwas-Speech

हिंदी दिवस पर भाषण (Vishwa Hindi Diwas Speech)- राष्ट्रभाषा बनाम राजभाषा

अक्सर लोग भारतीय संघ में हिंदी की स्थिति को लेकर भ्रम की स्थिति में होते हैं। सबसे पहले तो यह जान लें कि हिंदी भारतीय संघ की राजभाषा है और इसे संविधान में राजभाषा का दर्जा मिला है न कि राष्ट्रभाषा का। हालांकि भारतीय स्वतंत्रता संघर्ष के दौर में हिंदी ने देशवासियों के एकता के सूत्र में पिरोने का काम किया जिसे देखते हुए इसे स्वतंत्र भारत की राष्ट्रभाषा के तौर पर देखा जाने लगा था। भारतीय संविधान में इसे राष्ट्रभाषा तो नहीं पर राजभाषा के रूप में स्वीकार किया गया। इसके तहत शासकीय कामकाज के लिए आधिकारिक भाषा के रूप में हिंदी का प्रयोग किया जाना तय किया गया। गैर-हिंदी भाषी राज्यों में कामकाज के संचालन में व्यवधान न आए इसलिए 26 जनवरी, 1950 से अगले 15 वर्षों तक के लिए अंग्रेजी में भी कामकाज करने की छूट दी गई, जिसे बाद में भी राजभाषा अधिनियम 1963 के तहत जारी रखा गया है। ऐसे में हिंदी दिवस के भाषण में गलती से भी हिंदी को राष्ट्रभाषा न बताएं।

ये भी देखें :

  • हिंदी में प्रभावी निबंध , भाषण लिखने और बेहतर ढंग से विचार अभिव्यक्त करने के लिए लिंक की मदद लें।
  • हिंदी में पत्र लेखन कला की जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करें।
  • हिंदी दिवस पर कविता विषय पर जानकारी के लिए लिंक पर जाएँ।
  • होली पर निबंध के लिए यह लेख पढ़ें।

विश्व हिंदी दिवस पर भाषण (Vishwa Hindi Diwas Speech)

हर साल विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को मनाया जाता है। यह दिवस विश्व में हिंदी भाषा के प्रति जागरूकता के लिए मनाया जाता है। प्रथम विश्व हिंदी दिवस की शुरुआत 1975 में तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी द्वारा संयुक्त राष्ट्र जनरल असेंबली (जिसका आयोजन नागपुर में हुआ था) में किया गया था। तब से हर साल भारत समेत विश्व के विभिन्न देशों में यह दिवस हिंदी के प्रति प्रेम को दर्शाने के लिए मनाया जाता है। हिंदी विश्व में चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है, लगभग 26 करोड़ लोग इस भाषा को बोलते हैं। इस वर्ष विश्व हिंदी दिवस की थीम "हिंदी - पारंपरिक ज्ञान से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस" है। इस वर्ष 12वां विश्व हिंदी सम्मेलन 15 से 17 फरवरी तक फिजी सरकार के सहयोग से विदेश मंत्रालय द्वारा फिजी में आयोजित किया जाएगा। विश्व हिंदी दिवस 2023 (Vishva Hindi Diwas 2023) के आयोजन के लिए स्थान पिछले साल मॉरीशस में आयोजित 11वें विश्व हिंदी सम्मेलन के दौरान तय किया गया था।

छात्रों को यह ध्यान रखना चाहिए कि विश्व हिंदी दिवस तथा राष्ट्रीय हिंदी दिवस दो अलग-अलग दिवस है। विश्व हिंदी दिवस जहाँ 10 जनवरी को मनाया जाता है वहीँ राष्ट्रीय हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाता है। लेकिन यह दोनों दिवस ही हिंदी के प्रति जागरूकता फैलाने तथा प्रेम को दर्शाने के लिए मनाए जाते हैं।

अन्य लेख पढ़ें-

  • हिंदी में निबंध- भाषा कौशल, लिखने का तरीका जानें
  • वायु प्रदूषण पर निबंध
  • गणतंत्र दिवस पर भाषण

हिंदी दिवस पर भाषण (Hindi Diwas Speech in hindi)

मेरे माननीय प्रधानाचार्य, मेरे आदरणीय शिक्षकों और मेरे प्यारे दोस्तों को सुप्रभात।

मैं (आपका नाम) हूं और आज मुझे हिंदी दिवस पर भाषण (Hindi Diwas Speech) देने का अवसर प्राप्त हुआ है।

साथियों जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आज हम सब हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में यहां उपस्थित हुए हैं। हममें से अधिकतर लोग यह भी जानते होंगे कि राष्ट्रीय हिंदी दिवस हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। भारत अनेकता में एकता वाला देश है। अपने विविध धर्म, संस्कृति, भाषाओं और परंपराओं के साथ, भारत के लोग सद्भाव, एकता और सौहार्द के साथ रहते हैं। भारत में बोली जाने वाली विभिन्न भाषाओं में, हिंदी सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली और बोली जाने वाली भाषा है।

ऊपर दिए गए संबोधन में अवसर और आयोजन के अनुरूप उपयुक्त बदलाव जरूर कर लें।

  • 12वीं के साथ नीट की तैयारी कैसे करें
  • कक्षा 10 से नीट की तैयारी कैसे करें
  • कक्षा 11 से नीट की तैयारी कैसे करें
  • दशहरा पर निबंध

वर्ष 2001 में रिकॉर्ड के अनुसार, लगभग छब्बीस करोड़ नागरिक हिंदी में बात करते हैं। हिंदी को 14 सितंबर 1949 को भारत की राष्ट्रीय भाषा के रूप में अपनाया गया तब से हिंदी भाषा को एक उच्च दर्जा प्राप्त हुआ और इसी उपलक्ष्य में हम प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाते हैं।

हिंदी एक इंडो-आर्यन भाषा है, जिसे देवनागरी लिपि में भारत की आधिकारिक भाषाओं में से एक के रूप में लिखा गया है। राजेंद्र सिंह, हजारी प्रसाद द्विवेदी, काका कालेलकर, मैथिलीशरण गुप्त और सेठ गोविंद दास गोविंद जैसे लोगों ने हिंदी को भारत की आधिकारिक भाषा बनाए जाने के पक्ष में कड़ी पैरवी की थी। भारतीय संविधान के आधार पर, अनुच्छेद 343 के अनुसार, हिंदी को आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाया गया था। हमारी मातृभाषा हिंदी और देश के प्रति सम्मान दिखाने के लिए ही हिंदी दिवस का आयोजन किया जाता है।हिंदी दिवस पूरे भारत में बहुत उत्साह और गर्व के साथ मनाया जाता है। शिक्षण संस्थानों से लेकर सरकारी दफ्तरों तक सभी हमारी राजभाषा को सम्मान देते हैं।

  • बाल दिवस पर भाषण
  • दिवाली पर निबंध
  • हिंदी दिवस पर कविताओं की प्रस्तुति के लिए जानकारी यहाँ से लें

इतिहासकारों का मानना है कि हिन्दी विद्वानों द्वारा अपनी महान साहित्यिक कृतियों में प्रयोग की जाने वाली प्रमुख भाषा रही है। रामचरितमानस एक साहित्यिक कृति है जो हिंदी में भगवान राम की कहानी का वर्णन करती है और गोस्वामी तुलसीदास की सबसे महत्वपूर्ण कृतियों में से एक है, जिसे 16 वीं शताब्दी में लिखा गया था। हिंदी सबसे आदिम भाषाओं में से एक है जो मूल रूप से संस्कृत भाषा से संबंधित है। अतीत से, हिंदी एक भाषा के रूप में विकसित होकर हमारी राजभाषा बन गई है।

वर्ष 1917 में, महात्मा गांधी ने भरूच में गुजरात शिक्षा सम्मेलन में प्रस्तुत एक भाषण में हिंदी के महत्व पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने जोर देकर कहा कि हिंदी भाषा को राजभाषा के रूप में इस्तेमाल किया जाना चाहिए और अर्थव्यवस्था, धर्म एवं राजनीति के लिए संचार के रूप में भी इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

हमारे समाज में बहुत से ऐसे लोग हैं जिन्हें पता नहीं होता है कि हिंदी दिवस कैसे मनाया जाता है? मैं आपको बता दूं की देश के सर्वप्रथम प्रधानमंत्री, जवाहरलाल नेहरू ने पहली बार 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाने का फैसला किया था। हिंदी दिवस के उपलक्ष्य में भारत के विभिन्न स्कूलों और कॉलेजों में हिंदी साहित्यिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों, प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता हैं जिसमें छात्र बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते हैं। जहां छात्र हिंदी में विभिन्न कविताओं का पाठ करते हैं तथा हिंदी निबंध पढ़कर हिंदी भाषा को गर्वान्वित करते हैं। हिंदी दिवस के इस अवसर पर प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती हैं और हिंदी में कहानियां पढ़ी जाती हैं। हमारे लिए यह बहुत सम्मान की बात है कि हमारी राजभाषा हिंदी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय दोनों प्लेटफार्मों में लोकप्रियता हासिल कर रही है।

आज के आधुनिक समय में लोग पश्चिमी सभ्यता से काफी प्रभावित हुए हैं। हिन्दी भाषा का महत्व समाप्त होता जा रहा है। हिंदी दिवस लोगों को उनकी जड़ों से जोड़े रखता है और लोगों को उनकी मूल संस्कृति की याद दिलाता है। ऐसे कई भारतीय हैं जो आज भी भारतीय संस्कृति को बनाए रखने में गर्व महसूस करते हैं।

  • बाल श्रम पर निबंध
  • रक्षाबंधन पर निबंध शुभ मूहूर्त

हिंदी दिवस पर भाषण के लिए हिंदी कविता

हिंदी की कविताओं के बिना तो हिंदी दिवस पर भाषण (Hindi day speech in Hindi) अधूरा लगेगा। हिंदी भाषा को हिंदुस्तान के माथे की बिंदी की संज्ञा दी जाती है। इसके बिना भारत देश का सौंदर्य अधूरा रहेगा। हिंदी वर्तमान स्थिति के बारे में बताने के लिए योगेश कुमार सिंह की रचना के इस अंश का प्रयाेग अपने हिंदी दिवस भाषण में करना प्रासंगिक होगा।

Present-condition-of-Hindi-Poem-Yogesh-kumar-Singh

यदि अपने हिंदी दिवस भाषण को कविता से सजाना चाहते हैं तो सरल और सहज भाषा में लिखी गई त्रिभुवन शर्मा जी की रचना भी आपकी हिंदी दिवस कविता की तलाश को पूरा कर सकती है। राजभाषा हिंदी के बारे में लिखे गए इनके भाव प्रशंसनीय हैं।

Hindi-diwas-kavita

यह भी पढ़ें -

  • डॉक्टर कसे बनें
  • इंजीनियर कैसे बन सकते हैं?
  • एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग में कैसे संवारें अपना भविष्य

हिंदी दिवस भाषण पर 10 पंक्तियाँ (10 Lines on Hindi diwas speech in Hindi)

हिंदी आधुनिक इंडो-आर्यन भाषाओं के दायरे में आती है।

हिंदी के पुराने संस्करण हिंदुस्तानी, हिंदवी और खारी-बोली थी जो 10 वीं शताब्दी ईस्वी में बोली जाती थीं।

हिंदी दिवस एक ऐसा दिन है जो हिंदी को उसकी उचित पहचान देता है और इसे विलुप्त होने से बचाने के लिए मनाया जाता है।

हिंदी साहित्य सम्मेलन के दौरान राष्ट्रभाषा के रूप में हिंदी की सिफारिश करने वाले महात्मा गांधी सबसे पहले व्यक्ति थे।

दुनिया भर में लगभग 80 करोड़ लोग हिंदी बोलते हैं।

हिंदी विश्व की चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है।

हिंदी दिवस 14 सितंबर 1949 से मनाया जा रहा है।

हिंदी दिवस उन लोगों द्वारा एक त्योहार की तरह मनाया जाता है जो हिंदी पसंद करते हैं एवं बोलते हैं साथ ही यह युवाओं को उनकी जड़ों और संस्कृति के बारे में याद दिलाने का एक तरीका है।

देवनागरी लिपि पर लिखी गई हिंदी, हिंदी का वास्तविक रूप धारण करती है जिसे भारत के संविधान ने अपनाया था।

हिन्दी का इतिहास लगभग 1000 वर्ष पुराना है।

उपयोगी लिंक्स -

  • भारत की टॉप यूनिवर्सिटी
  • टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज
  • नीट के बिना मेडिकल कोर्स

हिंदी भाषा के बारे में रोचक तथ्य (Interesting facts about Hindi language)

हिंदी - हिंदी शब्द की उत्पत्ति फारसी से हुई है।

5वीं सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा - हिंदी चौथी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है। यह दुनिया भर में लगभग 80 करोड़ लोगों द्वारा बोली जाती है।

हिंदी बोलने वाले देश - हिंदी पाकिस्तान, नेपाल, बांग्लादेश, अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, न्यूजीलैंड, संयुक्त अरब अमीरात, युगांडा, गुयाना, सूरीनाम, त्रिनिदाद, मॉरीशस और दक्षिण अफ्रीका सहित कई देशों में बोली जाती है।

आधुनिक देवनागरी लिपि - आधुनिक देवनागरी लिपि 11वीं शताब्दी में अस्तित्व में आई।

हिंदी के कुछ प्रमुख लेखक - काका कालेलकर, मैथिली शरण गुप्त, हजारी प्रसाद द्विवेदी, सेठ गोविंददास जैसे कई लेखकों ने हिंदी को राजभाषा बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

क्या हिंदी सीखना आसान है? - हिंदी वर्णमाला के प्रत्येक अक्षर की अपनी स्वतंत्र और विशिष्ट ध्वनि होती है। परिणामस्वरूप, हिंदी शब्दों का उच्चारण ठीक वैसे ही किया जाता है जैसे वे लिखे जाते हैं, जिससे हिंदी भाषा सीखना आसान हो जाता है।

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में जोड़े गए 26 नए भारतीय अंग्रेजी शब्दों में आधार, डब्बा, हड़ताल, शादी - जनवरी में लॉन्च हुए ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी के 10वें संस्करण में 384 भारतीय अंग्रेजी शब्द हैं।

हिंदी को अपनाने वाला बिहार पहला राज्य है - वर्ष 1881 में, बिहार ने उर्दू को हिंदी के साथ अपनी एकमात्र आधिकारिक राज्य भाषा के रूप में बदल दिया, इस प्रकार, हिंदी को अपनी आधिकारिक भाषा के रूप में अपनाने वाला भारत का पहला राज्य बन गया।

विश्व हिंदी दिवस और राष्ट्रीय हिंदी दिवस में अंतर (Difference between International Hindi Day and National Hindi Day)

हिंदी दिवस और विश्व हिंदी दिवस को लेकर ज़्यादातर लोग भ्रमित रहते हैं। खास कर के बच्चों को ऐसा लगता है कि विश्व हिंदी दिवस और हिंदी दिवस दोनों एक ही हैं। हालांकि दोनों ही दिवसों का उद्देश्य हिंदी भाषा का प्रचार प्रसार करना ही है, मगर फिर भी दोनों में अंतर है। अतीत में देखें तो पता चलता है कि प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन 10 जनवरी 1975 को नागपुर में आयोजित हुआ था। पहले विश्व हिंदी सम्मेलन का उद्घाटन तत्कालीन प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी ने किया था। इसके बाद पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए साल 2006 में प्रति वर्ष 10 जनवरी को हिंदी दिवस मनाने की घोषणा की थी। इसके बाद विश्व में हिंदी का विकास करने और एक अंतरराष्ट्रीय भाषा के तौर पर इसके प्रचार प्रसार करने के उद्देश्य से विश्व हिंदी सम्मेलनों की शुरुआत की गई थी।

14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से हिंदी को भारत की राजभाषा चुना गया। पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 में मनाया गया था। राष्ट्रीय हिंदी दिवस जहां 14 सितंबर को मनाया जाता है वहीं, विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को मनाया जाता है। पहला राष्ट्रिय हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 में मनाया गया था, जबकि विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी 2006 में पहली बार मनाया गया था।

महत्वपूर्ण लेख :

  • 10वीं के बाद लोकप्रिय कोर्स
  • 12वीं के बाद लोकप्रिय कोर्स
  • कक्षा 9 वीं से नीट की तैयारी कैसे करें
  • क्या एनसीईआरटी पुस्तकें जेईई मेन की तैयारी के लिए काफी हैं?

Frequently Asked Question (FAQs)

विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है। 

हिंदी दिवस 14 सितंबर को प्रत्येक वर्ष मनाया जाता है। 

हिन्दी दिवस और विश्व हिंदी दिवस को लेकर बहुत से लोग भ्रमित रहते हैं। खास कर बच्चों को ऐसा लगता है की विश्व हिंदी दिवस और हिंदी दिवस दोनों समान हैं। दोनों ही दिवसों का उद्देश्य हिंदी भाषा का प्रचार प्रसार करना है। राष्ट्रीय हिन्दी दिवस जहां 14 सितंबर को मनाया जाता है वहीं, विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी को मनाया जाता है। पहला राष्ट्रीय हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 में मनाया गया था, जबकि विश्व हिंदी दिवस 10 जनवरी 2006 को पहली बार मनाया गया था।

सबसे पहले तो हिंदी दिवस के बारे में सूचना एकत्रित करें, हिंदी दिवस का महत्व क्या है, हिंदी दिवस क्यों मनाया जाता है आदि को समझें। इसके बाद अपने विचारों को व्यवस्थित क्रम में दें, इसके बाद प्रभावी भाव-भंगिमा के साथ प्रस्तुत करने के लिए दर्पण के सामने इसका अभ्यास करें। हिंदी दिवस पर भाषण देने और समुचित सामग्री जुटाने के लिए इस लेख से काफी मदद मिलेगी।

  • Latest Articles
  • Popular Articles

Explore Premium

Exam preparation: get over self-doubt with these effective measures, gandhian principles can aid mental well-being, every student should build on these must have skills, arduous dance holding on and letting go your teens, competition and comparison: how can parents help kids to avoid the maze, building a support system: help and assistance available for the orphaned youth, homeostasis: maintenance of internal balance, trigonometry: where do we see it being used in real-life, artificial rain: concept and techniques, upcoming school exams, national means cum-merit scholarship.

Application Date : 19 December,2023 - 14 January,2024

Odisha Council of Higher Secondary Education 12th Examination

Exam Date : 01 January,2024 - 11 January,2024

Chhattisgarh Board of Secondary Education 10th Examination

Exam Date : 09 January,2024 - 30 January,2024

Chhattisgarh Board of Secondary Education 12th Examination

Unified international english olympiad.

Exam Date : 20 January,2024

Explore Career Options (By Industry)

  • Construction
  • Entertainment
  • Manufacturing
  • Information Technology

Data Administrator

Database professionals use software to store and organise data such as financial information, and customer shipping records. Individuals who opt for a career as data administrators ensure that data is available for users and secured from unauthorised sales. DB administrators may work in various types of industries. It may involve computer systems design, service firms, insurance companies, banks and hospitals.

Bio Medical Engineer

The field of biomedical engineering opens up a universe of expert chances. An Individual in the biomedical engineering career path work in the field of engineering as well as medicine, in order to find out solutions to common problems of the two fields. The biomedical engineering job opportunities are to collaborate with doctors and researchers to develop medical systems, equipment, or devices that can solve clinical problems. Here we will be discussing jobs after biomedical engineering, how to get a job in biomedical engineering, biomedical engineering scope, and salary. 

Ethical Hacker

A career as ethical hacker involves various challenges and provides lucrative opportunities in the digital era where every giant business and startup owns its cyberspace on the world wide web. Individuals in the ethical hacker career path try to find the vulnerabilities in the cyber system to get its authority. If he or she succeeds in it then he or she gets its illegal authority. Individuals in the ethical hacker career path then steal information or delete the file that could affect the business, functioning, or services of the organization.

Data Analyst

The invention of the database has given fresh breath to the people involved in the data analytics career path. Analysis refers to splitting up a whole into its individual components for individual analysis. Data analysis is a method through which raw data are processed and transformed into information that would be beneficial for user strategic thinking.

Data are collected and examined to respond to questions, evaluate hypotheses or contradict theories. It is a tool for analyzing, transforming, modeling, and arranging data with useful knowledge, to assist in decision-making and methods, encompassing various strategies, and is used in different fields of business, research, and social science.

Geothermal Engineer

Individuals who opt for a career as geothermal engineers are the professionals involved in the processing of geothermal energy. The responsibilities of geothermal engineers may vary depending on the workplace location. Those who work in fields design facilities to process and distribute geothermal energy. They oversee the functioning of machinery used in the field.

Water Manager

A career as water manager needs to provide clean water, preventing flood damage, and disposing of sewage and other wastes. He or she also repairs and maintains structures that control the flow of water, such as reservoirs, sea defense walls, and pumping stations. In addition to these, the Manager has other responsibilities related to water resource management.

Geotechnical engineer

The role of geotechnical engineer starts with reviewing the projects needed to define the required material properties. The work responsibilities are followed by a site investigation of rock, soil, fault distribution and bedrock properties on and below an area of interest. The investigation is aimed to improve the ground engineering design and determine their engineering properties that include how they will interact with, on or in a proposed construction. 

The role of geotechnical engineer in mining includes designing and determining the type of foundations, earthworks, and or pavement subgrades required for the intended man-made structures to be made. Geotechnical engineering jobs are involved in earthen and concrete dam construction projects, working under a range of normal and extreme loading conditions. 

Cartographer

How fascinating it is to represent the whole world on just a piece of paper or a sphere. With the help of maps, we are able to represent the real world on a much smaller scale. Individuals who opt for a career as a cartographer are those who make maps. But, cartography is not just limited to maps, it is about a mixture of art , science , and technology. As a cartographer, not only you will create maps but use various geodetic surveys and remote sensing systems to measure, analyse, and create different maps for political, cultural or educational purposes.

Budget Analyst

Budget analysis, in a nutshell, entails thoroughly analyzing the details of a financial budget. The budget analysis aims to better understand and manage revenue. Budget analysts assist in the achievement of financial targets, the preservation of profitability, and the pursuit of long-term growth for a business. Budget analysts generally have a bachelor's degree in accounting, finance, economics, or a closely related field. Knowledge of Financial Management is of prime importance in this career.

Underwriter

An underwriter is a person who assesses and evaluates the risk of insurance in his or her field like mortgage, loan, health policy, investment, and so on and so forth. The underwriter career path does involve risks as analysing the risks means finding out if there is a way for the insurance underwriter jobs to recover the money from its clients. If the risk turns out to be too much for the company then in the future it is an underwriter who will be held accountable for it. Therefore, one must carry out his or her job with a lot of attention and diligence.

Operations Manager

Individuals in the operations manager jobs are responsible for ensuring the efficiency of each department to acquire its optimal goal. They plan the use of resources and distribution of materials. The operations manager's job description includes managing budgets, negotiating contracts, and performing administrative tasks.

Finance Executive

A career as a Finance Executive requires one to be responsible for monitoring an organisation's income, investments and expenses to create and evaluate financial reports. His or her role involves performing audits, invoices, and budget preparations. He or she manages accounting activities, bank reconciliations, and payable and receivable accounts.  

Investment Banker

An Investment Banking career involves the invention and generation of capital for other organizations, governments, and other entities. Individuals who opt for a career as Investment Bankers are the head of a team dedicated to raising capital by issuing bonds. Investment bankers are termed as the experts who have their fingers on the pulse of the current financial and investing climate. Students can pursue various Investment Banker courses, such as Banking and Insurance , and  Economics to opt for an Investment Banking career path.

Treasury analyst career path is often regarded as certified treasury specialist in some business situations, is a finance expert who specifically manages a company or organisation's long-term and short-term financial targets. Treasurer synonym could be a financial officer, which is one of the reputed positions in the corporate world. In a large company, the corporate treasury jobs hold power over the financial decision-making of the total investment and development strategy of the organisation.

Product Manager

A Product Manager is a professional responsible for product planning and marketing. He or she manages the product throughout the Product Life Cycle, gathering and prioritising the product. A product manager job description includes defining the product vision and working closely with team members of other departments to deliver winning products.  

Welding Engineer

Welding Engineer Job Description: A Welding Engineer work involves managing welding projects and supervising welding teams. He or she is responsible for reviewing welding procedures, processes and documentation. A career as Welding Engineer involves conducting failure analyses and causes on welding issues. 

Transportation Planner

A career as Transportation Planner requires technical application of science and technology in engineering, particularly the concepts, equipment and technologies involved in the production of products and services. In fields like land use, infrastructure review, ecological standards and street design, he or she considers issues of health, environment and performance. A Transportation Planner assigns resources for implementing and designing programmes. He or she is responsible for assessing needs, preparing plans and forecasts and compliance with regulations.

Conservation Architect

A Conservation Architect is a professional responsible for conserving and restoring buildings or monuments having a historic value. He or she applies techniques to document and stabilise the object’s state without any further damage. A Conservation Architect restores the monuments and heritage buildings to bring them back to their original state.

Safety Manager

A Safety Manager is a professional responsible for employee’s safety at work. He or she plans, implements and oversees the company’s employee safety. A Safety Manager ensures compliance and adherence to Occupational Health and Safety (OHS) guidelines.

A Team Leader is a professional responsible for guiding, monitoring and leading the entire group. He or she is responsible for motivating team members by providing a pleasant work environment to them and inspiring positive communication. A Team Leader contributes to the achievement of the organisation’s goals. He or she improves the confidence, product knowledge and communication skills of the team members and empowers them.

Structural Engineer

A Structural Engineer designs buildings, bridges, and other related structures. He or she analyzes the structures and makes sure the structures are strong enough to be used by the people. A career as a Structural Engineer requires working in the construction process. It comes under the civil engineering discipline. A Structure Engineer creates structural models with the help of computer-aided design software. 

Individuals in the architecture career are the building designers who plan the whole construction keeping the safety and requirements of the people. Individuals in architect career in India provides professional services for new constructions, alterations, renovations and several other activities. Individuals in architectural careers in India visit site locations to visualize their projects and prepare scaled drawings to submit to a client or employer as a design. Individuals in architecture careers also estimate build costs, materials needed, and the projected time frame to complete a build.

Landscape Architect

Having a landscape architecture career, you are involved in site analysis, site inventory, land planning, planting design, grading, stormwater management, suitable design, and construction specification. Frederick Law Olmsted, the designer of Central Park in New York introduced the title “landscape architect”. The Australian Institute of Landscape Architects (AILA) proclaims that "Landscape Architects research, plan, design and advise on the stewardship, conservation and sustainability of development of the environment and spaces, both within and beyond the built environment". Therefore, individuals who opt for a career as a landscape architect are those who are educated and experienced in landscape architecture. Students need to pursue various landscape architecture degrees, such as  M.Des , M.Plan to become landscape architects. If you have more questions regarding a career as a landscape architect or how to become a landscape architect then you can read the article to get your doubts cleared. 

Orthotist and Prosthetist

Orthotists and Prosthetists are professionals who provide aid to patients with disabilities. They fix them to artificial limbs (prosthetics) and help them to regain stability. There are times when people lose their limbs in an accident. In some other occasions, they are born without a limb or orthopaedic impairment. Orthotists and prosthetists play a crucial role in their lives with fixing them to assistive devices and provide mobility.

Veterinary Doctor

A veterinary doctor is a medical professional with a degree in veterinary science. The veterinary science qualification is the minimum requirement to become a veterinary doctor. There are numerous veterinary science courses offered by various institutes. He or she is employed at zoos to ensure they are provided with good health facilities and medical care to improve their life expectancy.

Pathologist

A career in pathology in India is filled with several responsibilities as it is a medical branch and affects human lives. The demand for pathologists has been increasing over the past few years as people are getting more aware of different diseases. Not only that, but an increase in population and lifestyle changes have also contributed to the increase in a pathologist’s demand. The pathology careers provide an extremely huge number of opportunities and if you want to be a part of the medical field you can consider being a pathologist. If you want to know more about a career in pathology in India then continue reading this article.

Gynaecologist

Gynaecology can be defined as the study of the female body. The job outlook for gynaecology is excellent since there is evergreen demand for one because of their responsibility of dealing with not only women’s health but also fertility and pregnancy issues. Although most women prefer to have a women obstetrician gynaecologist as their doctor, men also explore a career as a gynaecologist and there are ample amounts of male doctors in the field who are gynaecologists and aid women during delivery and childbirth. 

An oncologist is a specialised doctor responsible for providing medical care to patients diagnosed with cancer. He or she uses several therapies to control the cancer and its effect on the human body such as chemotherapy, immunotherapy, radiation therapy and biopsy. An oncologist designs a treatment plan based on a pathology report after diagnosing the type of cancer and where it is spreading inside the body.

Audiologist

The audiologist career involves audiology professionals who are responsible to treat hearing loss and proactively preventing the relevant damage. Individuals who opt for a career as an audiologist use various testing strategies with the aim to determine if someone has a normal sensitivity to sounds or not. After the identification of hearing loss, a hearing doctor is required to determine which sections of the hearing are affected, to what extent they are affected, and where the wound causing the hearing loss is found. As soon as the hearing loss is identified, the patients are provided with recommendations for interventions and rehabilitation such as hearing aids, cochlear implants, and appropriate medical referrals. While audiology is a branch of science that studies and researches hearing, balance, and related disorders.

Healthcare Social Worker

Healthcare social workers help patients to access services and information about health-related issues. He or she assists people with everything from locating medical treatment to assisting with the cost of care to recover from an illness or injury. A career as Healthcare Social Worker requires working with groups of people, individuals, and families in various healthcare settings such as hospitals, mental health clinics, child welfare, schools, human service agencies, nursing homes, private practices, and other healthcare settings.  

Perfusionist

A perfusionist is a highly skilled professional and a critical member of the heart surgical team. Perfusionist's jobs include working in cardiovascular surgery, but they also participate in blood conservation. He or she is also required to provide long-term support for respiratory failure, help in the treatment of cancerous tumours, and organ transplants. A career as a perfusionist comes with duties in rotational shifts. A perfusionist works in a hospital setting on a rotating schedule and remains on call for emergency situations. If you want to know how to become a perfusionist in India, then read the entire article.

For an individual who opts for a career as an actor, the primary responsibility is to completely speak to the character he or she is playing and to persuade the crowd that the character is genuine by connecting with them and bringing them into the story. This applies to significant roles and littler parts, as all roles join to make an effective creation. Here in this article, we will discuss how to become an actor in India, actor exams, actor salary in India, and actor jobs. 

Individuals who opt for a career as acrobats create and direct original routines for themselves, in addition to developing interpretations of existing routines. The work of circus acrobats can be seen in a variety of performance settings, including circus, reality shows, sports events like the Olympics, movies and commercials. Individuals who opt for a career as acrobats must be prepared to face rejections and intermittent periods of work. The creativity of acrobats may extend to other aspects of the performance. For example, acrobats in the circus may work with gym trainers, celebrities or collaborate with other professionals to enhance such performance elements as costume and or maybe at the teaching end of the career.

Video Game Designer

Career as a video game designer is filled with excitement as well as responsibilities. A video game designer is someone who is involved in the process of creating a game from day one. He or she is responsible for fulfilling duties like designing the character of the game, the several levels involved, plot, art and similar other elements. Individuals who opt for a career as a video game designer may also write the codes for the game using different programming languages.

Depending on the video game designer job description and experience they may also have to lead a team and do the early testing of the game in order to suggest changes and find loopholes.

Talent Agent

The career as a Talent Agent is filled with responsibilities. A Talent Agent is someone who is involved in the pre-production process of the film. It is a very busy job for a Talent Agent but as and when an individual gains experience and progresses in the career he or she can have people assisting him or her in work. Depending on one’s responsibilities, number of clients and experience he or she may also have to lead a team and work with juniors under him or her in a talent agency. In order to know more about the job of a talent agent continue reading the article.

If you want to know more about talent agent meaning, how to become a Talent Agent, or Talent Agent job description then continue reading this article.

Radio Jockey

Radio Jockey is an exciting, promising career and a great challenge for music lovers. If you are really interested in a career as radio jockey, then it is very important for an RJ to have an automatic, fun, and friendly personality. If you want to get a job done in this field, a strong command of the language and a good voice are always good things. Apart from this, in order to be a good radio jockey, you will also listen to good radio jockeys so that you can understand their style and later make your own by practicing.

A career as radio jockey has a lot to offer to deserving candidates. If you want to know more about a career as radio jockey, and how to become a radio jockey then continue reading the article.

An individual who is pursuing a career as a producer is responsible for managing the business aspects of production. They are involved in each aspect of production from its inception to deception. Famous movie producers review the script, recommend changes and visualise the story. 

They are responsible for overseeing the finance involved in the project and distributing the film for broadcasting on various platforms. A career as a producer is quite fulfilling as well as exhaustive in terms of playing different roles in order for a production to be successful. Famous movie producers are responsible for hiring creative and technical personnel on contract basis.

Fashion Blogger

Fashion bloggers use multiple social media platforms to recommend or share ideas related to fashion. A fashion blogger is a person who writes about fashion, publishes pictures of outfits, jewellery, accessories. Fashion blogger works as a model, journalist, and a stylist in the fashion industry. In current fashion times, these bloggers have crossed into becoming a star in fashion magazines, commercials, or campaigns. 

Photographer

Photography is considered both a science and an art, an artistic means of expression in which the camera replaces the pen. In a career as a photographer, an individual is hired to capture the moments of public and private events, such as press conferences or weddings, or may also work inside a studio, where people go to get their picture clicked. Photography is divided into many streams each generating numerous career opportunities in photography. With the boom in advertising, media, and the fashion industry, photography has emerged as a lucrative and thrilling career option for many Indian youths.

Copy Writer

In a career as a copywriter, one has to consult with the client and understand the brief well. A career as a copywriter has a lot to offer to deserving candidates. Several new mediums of advertising are opening therefore making it a lucrative career choice. Students can pursue various copywriter courses such as Journalism , Advertising , Marketing Management . Here, we have discussed how to become a freelance copywriter, copywriter career path, how to become a copywriter in India, and copywriting career outlook. 

Individuals in the editor career path is an unsung hero of the news industry who polishes the language of the news stories provided by stringers, reporters, copywriters and content writers and also news agencies. Individuals who opt for a career as an editor make it more persuasive, concise and clear for readers. In this article, we will discuss the details of the editor's career path such as how to become an editor in India, editor salary in India and editor skills and qualities.

Careers in journalism are filled with excitement as well as responsibilities. One cannot afford to miss out on the details. As it is the small details that provide insights into a story. Depending on those insights a journalist goes about writing a news article. A journalism career can be stressful at times but if you are someone who is passionate about it then it is the right choice for you. If you want to know more about the media field and journalist career then continue reading this article.

For publishing books, newspapers, magazines and digital material, editorial and commercial strategies are set by publishers. Individuals in publishing career paths make choices about the markets their businesses will reach and the type of content that their audience will be served. Individuals in book publisher careers collaborate with editorial staff, designers, authors, and freelance contributors who develop and manage the creation of content.

In a career as a vlogger, one generally works for himself or herself. However, once an individual has gained viewership there are several brands and companies that approach them for paid collaboration. It is one of those fields where an individual can earn well while following his or her passion. 

Ever since internet costs got reduced the viewership for these types of content has increased on a large scale. Therefore, a career as a vlogger has a lot to offer. If you want to know more about the Vlogger eligibility, roles and responsibilities then continue reading the article. 

Travel Journalist

The career of a travel journalist is full of passion, excitement and responsibility. Journalism as a career could be challenging at times, but if you're someone who has been genuinely enthusiastic about all this, then it is the best decision for you. Travel journalism jobs are all about insightful, artfully written, informative narratives designed to cover the travel industry. Travel Journalist is someone who explores, gathers and presents information as a news article.

Videographer

Careers in videography are art that can be defined as a creative and interpretive process that culminates in the authorship of an original work of art rather than a simple recording of a simple event. It would be wrong to portrait it as a subcategory of photography, rather photography is one of the crafts used in videographer jobs in addition to technical skills like organization, management, interpretation, and image-manipulation techniques. Students pursue Visual Media , Film, Television, Digital Video Production to opt for a videographer career path. The visual impacts of a film are driven by the creative decisions taken in videography jobs. Individuals who opt for a career as a videographer are involved in the entire lifecycle of a film and production. 

SEO Analyst

An SEO Analyst is a web professional who is proficient in the implementation of SEO strategies to target more keywords to improve the reach of the content on search engines. He or she provides support to acquire the goals and success of the client’s campaigns. 

Production Manager

Production Manager Job Description: A Production Manager is responsible for ensuring smooth running of manufacturing processes in an efficient manner. He or she plans and organises production schedules. The role of Production Manager involves estimation, negotiation on budget and timescales with the clients and managers. 

Resource Links for Online MBA 

Online MBA Colleges

Online MBA Syllabus

Online MBA Admission

Quality Controller

A quality controller plays a crucial role in an organisation. He or she is responsible for performing quality checks on manufactured products. He or she identifies the defects in a product and rejects the product. 

A quality controller records detailed information about products with defects and sends it to the supervisor or plant manager to take necessary actions to improve the production process.

Process Development Engineer

The Process Development Engineers design, implement, manufacture, mine, and other production systems using technical knowledge and expertise in the industry. They use computer modeling software to test technologies and machinery. An individual who is opting career as Process Development Engineer is responsible for developing cost-effective and efficient processes. They also monitor the production process and ensure it functions smoothly and efficiently.

Metrologist

You might be googling Metrologist meaning. Well, we have an easily understandable Metrologist definition for you. A metrologist is a professional who stays involved in measurement practices in varying industries including electrical and electronics. A Metrologist is responsible for developing processes and systems for measuring objects and repairing electrical instruments. He or she also involved in writing specifications of experimental electronic units. 

Process Engineer

As the name suggests, a Process Engineer stays involved in designing, overseeing, assessing and implementing processes to make products and provide services efficiently. Process Engineers are responsible for creating systems to enhance productivity and cut costs. 

AWS Solution Architect

An AWS Solution Architect is someone who specializes in developing and implementing cloud computing systems. He or she has a good understanding of the various aspects of cloud computing and can confidently deploy and manage their systems. He or she troubleshoots the issues and evaluates the risk from the third party. 

Azure Administrator

An Azure Administrator is a professional responsible for implementing, monitoring, and maintaining Azure Solutions. He or she manages cloud infrastructure service instances and various cloud servers as well as sets up public and private cloud systems. 

Computer Programmer

Careers in computer programming primarily refer to the systematic act of writing code and moreover include wider computer science areas. The word 'programmer' or 'coder' has entered into practice with the growing number of newly self-taught tech enthusiasts. Computer programming careers involve the use of designs created by software developers and engineers and transforming them into commands that can be implemented by computers. These commands result in regular usage of social media sites, word-processing applications and browsers.

ITSM Manager

ITSM Manager is a professional responsible for heading the ITSM (Information Technology Service Management) or (Information Technology Infrastructure Library) processes. He or she ensures that operation management provides appropriate resource levels for problem resolutions. The ITSM Manager oversees the level of prioritisation for the problems, critical incidents, planned as well as proactive tasks. 

Information Security Manager

Individuals in the information security manager career path involves in overseeing and controlling all aspects of computer security. The IT security manager job description includes planning and carrying out security measures to protect the business data and information from corruption, theft, unauthorised access, and deliberate attack 

Big Data Analytics Engineer

Big Data Analytics Engineer Job Description: A Big Data Analytics Engineer is responsible for collecting data from various sources. He or she has to sort the organised and chaotic data to find out patterns. The role of Big Data Engineer involves converting messy information into useful data that is clean, accurate and actionable. 

Cloud Solution Developer

A Cloud Solutions Developer is basically a Software Engineer with specialisation in cloud computing. He or she possesses a solid understanding of cloud systems including their operations, deployment with security and efficiency with no little downtime. 

Applications for Admissions are open.

NEET 2024 Most scoring concepts

NEET 2024 Most scoring concepts

Just Study 32% of the NEET syllabus and Score upto 100% marks

JEE Main high scoring chapters and topics

JEE Main high scoring chapters and topics

As per latest 2024 syllabus. Study 40% syllabus and score upto 100% marks in JEE

NEET previous year papers with solutions

NEET previous year papers with solutions

Solve NEET previous years question papers & check your preparedness

JEE Main Important Mathematics Formulas

JEE Main Important Mathematics Formulas

As per latest 2024 syllabus. Maths formulas, equations, & theorems of class 11 & 12th chapters

JEE Main Important Physics formulas

JEE Main Important Physics formulas

As per latest 2024 syllabus. Physics formulas, equations, & laws of class 11 & 12th chapters

JEE Main Important Chemistry formulas

JEE Main Important Chemistry formulas

As per latest 2024 syllabus. Chemistry formulas, equations, & laws of class 11 & 12th chapters

Everything about Education

Latest updates, Exclusive Content, Webinars and more.

Explore on Careers360

  • Board Exams
  • Top Schools
  • Navodaya Vidyalaya
  • NCERT Solutions for Class 10
  • NCERT Solutions for Class 9
  • NCERT Solutions for Class 8
  • NCERT Solutions for Class 6

NCERT Exemplars

  • NCERT Exemplar
  • NCERT Exemplar Class 9 solutions
  • NCERT Exemplar Class 10 solutions
  • NCERT Exemplar Class 11 Solutions
  • NCERT Exemplar Class 12 Solutions
  • NCERT Books for class 6
  • NCERT Books for class 7
  • NCERT Books for class 8
  • NCERT Books for class 9
  • NCERT Books for Class 10
  • NCERT Books for Class 11
  • NCERT Books for Class 12
  • NCERT Notes for Class 9
  • NCERT Notes for Class 10
  • NCERT Notes for Class 11
  • NCERT Notes for Class 12
  • NCERT Syllabus for Class 6
  • NCERT Syllabus for Class 7
  • NCERT Syllabus for class 8
  • NCERT Syllabus for class 9
  • NCERT Syllabus for Class 10
  • NCERT Syllabus for Class 11
  • NCERT Syllabus for Class 12
  • CBSE Date Sheet
  • CBSE Syllabus
  • CBSE Admit Card
  • CBSE Result
  • CBSE Result Name and State Wise
  • CBSE Passing Marks

CBSE Class 10

  • CBSE Board Class 10th
  • CBSE Class 10 Date Sheet
  • CBSE Class 10 Syllabus
  • CBSE 10th Exam Pattern
  • CBSE Class 10 Answer Key
  • CBSE 10th Admit Card
  • CBSE 10th Result
  • CBSE 10th Toppers
  • CBSE Board Class 12th
  • CBSE Class 12 Date Sheet
  • CBSE Class 12 Admit Card
  • CBSE Class 12 Syllabus
  • CBSE Class 12 Exam Pattern
  • CBSE Class 12 Answer Key
  • CBSE 12th Result
  • CBSE Class 12 Toppers

CISCE Board 10th

  • ICSE 10th time table
  • ICSE 10th Syllabus
  • ICSE 10th exam pattern
  • ICSE 10th Question Papers
  • ICSE 10th Result
  • ICSE 10th Toppers
  • ISC 12th Board
  • ISC 12th Time Table
  • ISC Syllabus
  • ISC 12th Question Papers
  • ISC 12th Result
  • IMO Syllabus
  • IMO Sample Papers
  • IMO Answer Key
  • IEO Syllabus
  • IEO Answer Key
  • NSO Syllabus
  • NSO Sample Papers
  • NSO Answer Key
  • NMMS Application form
  • NMMS Scholarship
  • NMMS Eligibility
  • NMMS Exam Pattern
  • NMMS Admit Card
  • NMMS Question Paper
  • NMMS Answer Key
  • NMMS Syllabus
  • NMMS Result
  • NTSE Application Form
  • NTSE Eligibility Criteria
  • NTSE Exam Pattern
  • NTSE Admit Card
  • NTSE Syllabus
  • NTSE Question Papers
  • NTSE Answer Key
  • NTSE Cutoff
  • NTSE Result

Schools By Medium

  • Malayalam Medium Schools in India
  • Urdu Medium Schools in India
  • Telugu Medium Schools in India
  • Karnataka Board PUE Schools in India
  • Bengali Medium Schools in India
  • Marathi Medium Schools in India

By Ownership

  • Central Government Schools in India
  • Private Schools in India
  • Schools in Delhi
  • Schools in Lucknow
  • Schools in Kolkata
  • Schools in Pune
  • Schools in Bangalore
  • Schools in Chennai
  • Schools in Mumbai
  • Schools in Hyderabad
  • Schools in Gurgaon
  • Schools in Ahmedabad
  • Schools in Uttar Pradesh
  • Schools in Maharashtra
  • Schools in Karnataka
  • Schools in Haryana
  • Schools in Punjab
  • Schools in Andhra Pradesh
  • Schools in Madhya Pradesh
  • Schools in Rajasthan
  • Schools in Tamil Nadu
  • NVS Admit Card
  • Navodaya Result
  • Navodaya Exam Date
  • Navodaya Vidyalaya Admission Class 6
  • JNVST admit card for class 6
  • JNVST class 6 answer key
  • JNVST class 6 Result
  • JNVST Class 6 Exam Pattern
  • Navodaya Vidyalaya Admission
  • JNVST class 9 exam pattern
  • JNVST class 9 answer key
  • JNVST class 9 Result

Download Careers360 App's

Regular exam updates, QnA, Predictors, College Applications & E-books now on your Mobile

student

Cetifications

student

We Appeared in

Economic Times

introduction for speech in hindi

मंच संचालन स्क्रिप्ट इन हिंदी (Anchoring script in Hindi)

एंकरिंग स्क्रिप्ट (Anchoring Script) इन हिंदी, एंकरिंग स्क्रिप्ट कैसे लिखें, हिंदी एंकरिंग स्क्रिप्ट, गेस्ट वेलकम शायरी, अतिथि स्वागत शायरी, मंच संचालन शायरी, चुटकुले, सामाजिक मंच संचालन, गणेश समारोह Hindi me anchoring script, Hindi quotes, welcome lines , annual function, farewell, birthday party, Comedy, Funny, 15 August, Teachers Day, Gandhi Jayanti, Hindi Diwas

दोस्तों, किसी भी समारोह या आयोजन में होने वाली एंकरिंग (Anchoring script) बहुत मायने रखती है। इसकी मदद से शो में जान आती है, आनेवाले मेहमान उस शाम को याद रखते हैं। इसलिए किसी भी समारोह में मंच का संचालन करनेवाले लोग इसकी तैयारी करते हैं। अपनी स्क्रिप्ट में दर्शकों के मनोरंजन के लिए शायरी, कविता, चटपटी बातें आदि डालते हैं जिससे फंक्शन रोचक लगे।

आज के हमारे इस लेख में हम हिंदी में एंकरिंग के लिए कुछ दिलचस्प कोट्स, आइडियाज और स्क्रिप्ट ले कर आए हैं। इन का प्रयोग वार्षिक उत्सव, फेयरवेल पार्टी जैसे विभिन्न मौकों पर हो सकता है। तो इस लेख को पूरा पढ़ें और इसका लाभ ले।

read: haldi ceremony anchoring script in hindi

Table of Contents

एंकरिंग कैसे करें (How to start anchoring)

एक अच्छी एंकरिंग (Anchoring script) किसी भी अवसर या समारोह को यादगार बनाती है। अगर आप मंच पर एंकरिंग करने के लिए जाएं तो इससे पहले कुछ तैयारी ज़रूर करें। हम आपको कुछ टिप्स देने जा रहे हैं जिसकी मदद से आप अच्छी एंकरिंग कर पाएंगे:

  • एंकरिंग की शुरुआत कुछ प्रभावशाली लाइंस या शायरी से करें। आप शो को शुरू करने के लिए कोई कविता भी पढ़ सकते हैं जिससे मेहमानों का स्वागत हो सके।
  • आपकी एंकरिंग समारोह (Anchoring script) के विषय से जुड़ी होनी चाहिए। आप जब अपनी स्क्रिप्ट लिखने तो इस बात का खास खयाल रखें कि समारोह में किस तरह के लोग आएंगे, यहां कौन कौन से इवेंट्स होंगे इत्यादि।
  • होनेवाले इवेंट्स की लिस्ट पहले ही तैयार कर लें ताकि स्टेज पर आपको घबराहट न हो।
  • समारोह में उपस्थित मेहमानों के लिए भी कुछ लाइंस बोलें। इससे अच्छा इंप्रेशन पड़ेगा और आप मेहमानों का ध्यान खींच पाएंगे।
  • अगर आप किसी के साथ एंकरिंग कर रहे हों तो अपना अपना पार्ट अच्छे से बांट लें ताकि कोई उलझन न हो।
  • एंकरिंग के बीच बीच में अतिथियों से इंटरैक्ट करें। अगर आप एकतरफा बोलेंगे तो अतिथियों को आपका संचालन उबाऊ भी लग सकता है।
  • बोले जानेवाली शायरी, कविता, लाइंस आदि को मंच पर आने से पहले अच्छे से दोहरा लें। 

यहां पढ़ें:  महिला संगीत एंकरिंग स्क्रिप्ट इन हिंदी

स्वागत शायरी हिंदी (Welcome quotes for anchoring) 

दोस्तों, स्वागत शायरी से आप समारोह की शुरुआत कर सकते हैं। इससे आप दर्शकों का ध्यान खींच पाएंगे:

” आज की इस शाम को जगमगाने, 

     पधारे हैं सितारे खूब सारे

     तहे दिल से कर रहे शुक्रिया 

    इन सितारों को मेजबान हमारे!”

“स्वागत है आपका, बस शुरू होने को है समारोह

 सजेगा रंग उत्सव का, बना रहेगा मनोरंजन का आरोह”

“स्वागत है अथितिगण आपका..

 आया है ये सुअवसर

 आपके मनोरंजन में 

 नहीं छूटेगी कोई कसर!”

“शाम का असली इनाम

 है झूमते हुए मेहमान

छाएगा अब रंग जश्न का

हमने थाम ली है अब कस कर कमान!”

“मानों जमीं पर आज चांद उतार आया है क्या खूब इस महफिल को, हमारे मेहमानों ने सजाया है”

“है दुआं बस यही आपकी मुस्कुराट यूं बनी रहे जो कुछ रुकावटें आएं भी तो आपकी उम्मीदें सजी रहें.. दर्शकों का शुक्रियादा कर रहा हूं तहेदिल से.. मिलेंगे फिर यूं ही राह ए ज़िंदगी में हंसते गाते, ऐसी ही किसी महफिल में!”

यहाँ भी पढ़ें: हिंदी में भाषण कैसे दें

अतिथि स्वागत कविता (Guest Welcome Poem in Hindi)

अपने समारोह (Anchoring script) को शुरू करने के लिए आप अतिथि स्वागत कविता (Guest Welcome Poem) का सहारा ले सकते हैं। इससे मेहमान अच्छा महसूस करेंगे:

” धन्यवाद अतिथियों का जो आपने

 निमंत्रण है स्वीकार किया

 अवसर को यादगार बनाने को है

अपनी उपस्थिति देने का विचार किया

मनोरंजन और स्मृतियों का एक

सुखद अनुभव आपके हिस्से आएगा

सुंदर प्रस्तुतियों से ये जोरों से खिलखिलाएगा

ये सुंदर बेला यादगार बन जाएगी…

जब मेजबानों और मेहमानों की जुगलबंदी

रंग जमाएगी..

तो ले कर ऊपरवाले का नाम 

आइए, शुरू करें ये शाम

दिल से स्वागत आपका

जश्न के इस सफर में बना रहे साथ आपका!”

यहां पढ़ें:  शादी पर शायरी

मंच संचालन शायरी ( Anchoring quotes in Hindi)

एंकरिंग की शुरुआत (Anchoring script) आप शायरी से भी कर सकते हैं। शायरी की मदद से आप कम शब्दों में भावों को सुंदर तरीके से प्रस्तुत कर पाएंगे:

“दोस्तों, आओ दो पल ज़िंदगी से उधार लेते हैं

 मायूस पड़े चेहरों को मुस्कुराहट का उपहार देते हैं

 उतार चढ़ाव की लकीरें तो

 जिंदगानी की किताब में यूं ही बनी रहेंगी..

चलो, बेफिक्री की कलम से 

सुकून की एक तस्वीर 

इसके पन्नों पर उभार देते हैं”

“दिल थाम कर बैठिए जनाब

 अभी जश्न शाम का बाकी है

 एक से बढ़ कर एक प्रस्तुति होने को है

 ये शुरुआत तो बस एक झांकी है!”

मंच संचालन शायरी इन हिंदी यहाँ पढ़ें

Ending Quotes for Anchoring in Hindi

दोस्तों, जब भी कार्यक्रम अपने अंत की ओर बढ़े, आप कोशिश करें कि इसके आखरी चरण में आप कुछ ऐसी कविता, शायरी या पंक्तियां बोलें जो जाते जाते दर्शकों को याद रहे। इससे आपका कार्यक्रम मेहमानों के लिए यादगार रहेगा। किसी भी शो या फंक्शन के अंत में आप कुछ शानदार लाइंस आपके मंच संचालन (Anchoring script) को सफल बनाने में कारगर हो सकती हैं:

“हर सुबह के बाद शाम का आना तय है

 हर जश्न के बाद, अलविदा कह जाना तय है

ये लम्हे भी जल्द गुज़र जाएंगे, 

पर यादों के गलियारे में बीते पल मुस्कुराएंगे!”

“शुक्रिया आपका जो आप सभी ने

अपनी मौजूदगी से शाम को हसीन बनाया

उम्मीद है, हमारी कोशिशों ने 

आपका मन खूब बहलाया

यूं ही मुस्कुराते रहें आप, दुआ है हमारी

खुशियों से लदी रहे ज़िंदगी की सवारी!”

“एक कोशिश की हमने 

इस जश्न को खास बनाने की

आपने भी क्या खूब साथ दिया

जब भी आई बात रंग जमाने की!”

Anchoring script for Navratri function in Hindi

Anchoring script for Navratri function in Hindi का एक नमूना इस प्रकार है:

संचालक- नमस्ते आदरणीय दर्शकों! आप सभी का हार्दिक स्वागत है हमारे इस पावन नवरात्रि कार्यक्रम में। आज हम सभी मिलकर मां दुर्गा की आराधना करेंगे और नवरात्रि के इस उत्सव में और रंग भरेंगे।

(श्लोक से कार्यक्रम की शुरुआत) आइए, हम सभी मिलकर शुरुआत करते हैं इस पावन अवसर को एक श्लोक से।

या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।

हम सभी ने इस सुंदर आयोजन को यादगार बनांने के लिए समारोह की विशेष योजना बनाई है। सभी कलाकारों, संगीतकारों, और सभी उन लोगों का हार्दिक धन्यवाद जो इस कार्यक्रम को सफल बनाने में सहायक हुए हैं।

(एक पारम्परिक अभिवादन ) आइए शुरुआत करते हैं इस कार्यक्रम को उमंग के साथ, हमारे विशेष मेहमानों का हार्दिक स्वागत करते हैं।

इस शुभ क्षण में हमारे विशेष मेहमान हैं [मेहमान का नाम]। आपका हमारे साथ होना हमारे लिए गर्व की बात है।

(तालियों से मेहमानों का स्वागत करें.)

(पूजा विधि ) अब हम सभी मिलकर मां दुर्गा की पूजा करेंगे। इस शुभ समय में हम सभी मिलकर मां के चरणों में अपनी भक्ति और अर्चना अर्पित करेंगे।

आइए, सभी हाथ जोड़कर मां दुर्गा के नाम से उनकी कृपा की मांग करें।

(इसके बाद सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुआत) इसके बाद आगे बढ़ते हुए,

दोस्तों, हमारे कुछ प्रतिभाशाली कलाकार आपके समक्ष एक से बढ़ कर एक प्रस्तुति देंगे। तो तालियों से उनका स्वागत कीजिये.

Annual Function Script in Hindi

किसी भी स्कूल, कॉलेज से जुड़े वार्षिक महोत्सव में अगर आप एंकरिंग करने जा रहे हो तो ये स्क्रिप्ट (Anchoring script) आपके काम आ सकती है:

संचालक: दोस्तो, आज की शाम हमारे लिए बेहद खास है। हम सभी अपने स्कूल के वार्षिक महोत्सव के लिए काफी दिनों से उत्साहित हैं, और हों भी क्यूं ना…ये वो मौका है जब शिक्षक और छात्र मिल कर इस दिन को यादगार बनाने की पूरी कोशिश करते हैं। आज के दिन ही हमारे स्कूल की नींव पड़ी थी। इसी उपलक्ष्य में हर साल आज के दिन हम कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं और स्कूल के होनहार छात्रों को पुरस्कृत भी करते हैं। तो आइए, स्कूल के वार्षिक उत्सव समारोह का श्री गणेश करते हैं। सबसे पहले हम ईश वंदना करेंगे।

ईश्वर की स्तुति के बाद…

संचालक: मैं यहां उपस्थित अतिथिगण, शिक्षकगण और छात्रों का अभिनंदन करती/करता हूं। 

अतिथि स्वागत कविता का पाठन करें…

दोस्तों, हमारे अतिथि अपनी अपनी जगह ले चुके हैं। अब हम दर्शकों से अनुरोध करेंगे कि वो शांति से अपनी जगहों पर बैठ जाएं और पहली प्रस्तुति का आनंद लें।

पहली प्रस्तुति के लिए शायरी:

” बचपने और भोलेपन की बात ही है कुछ न्यारी

  मंच पर रंग बिखेरने की है नन्हें मुन्ने बच्चो की बारी”

बच्चों की परफॉर्मेंस के बाद..

“बच्चों के इस धमाल के बाद, 

मंच पर सीनियर्स कमाल दिखाने आएंगे

होगी कांटे की टक्कर

कुछ ऐसा रंग जमाएंगे!”

नृत्य प्रस्तुति के बाद..

पढ़ाई में अव्वल आए विद्यार्थियों का पुरस्कार वितरण

इसके बाद संचालक नाटक प्रस्तुति की घोषणा करेगा..

संचालक: अब हमारे स्कूल के होनहार छात्रों की तरफ से शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए एक नाटक की प्रस्तुति ही जाएगी।

शादी में देरी हो रही है आजमायें ये शादी टोटका , जल्दी हो जाएगी शादी.  

प्रस्तुति के बाद….

संचालक: आशा है इस परफॉर्मेंस ने यहां बैठे तमाम दर्शक का दिल जीत लिया होगा..अब आगे बढ़ते हैं और रुख करते हैं अगली परफॉर्मेंस का..

“जिन्होंने हर रोज़ क्लासरूम में हमारी शामत बुलाई है

  परफॉर्म करने की बारी अब उन टीचरों की आई है”

टीचर्स के परफॉर्मेंस के बाद..

संचालक: सरप्राइज अभी बाकी है दोस्तो, कुर्सी की पेटी कस लीजिए क्योंकि आज प्रिंसिपल सर मॉर्निंग लेक्चर नहीं बल्कि सोलो सिंगिंग परफॉर्मेंस देंगे, तो तालियों के साथ करें सर का अभिनंदन…”

परफॉर्मेंस के खत्म होने के बाद..

संचालक: “सर की इस जोरदार प्रस्तुति तो हमारे मन को छू गई! अब सर आज की शाम के विनर्स के नाम घोषित करेंगे…”

संचालक कार्यक्रम के अंत में कुछ कोट्स और कविता का पाठ कर अतिथियों को धन्यवाद कर सकता है।

यहाँ पढ़ें: शादी की तैयारी कैसे करे

Holi party anchoring script in Hindi

दोस्तों, अगर होली की पार्टी आपने घर में या स्कूल, कॉलेज या सोसायटी में रखी है तो ध्यान रखें कि होली पार्टी की एंकरिंग भी होली की तरह ही रंगारंग हो।

इसके लिए होली से जुड़े कोट्स, शायरी, कविता आदि का भरपूर प्रयोग करें ताकि उपस्थित मेहमानों को बोरियत न हो। होली पार्टी (Holi Party) के लिए आप नीचे बताए गए एंकरिंग टिप्स (Anchoring script) का प्रयोग कर सकते हैं: Holi party ideas in hindi यहाँ पढ़ें.

होली मंच संचालन

  • होली मंच संचालन की शुरुआत सबसे पहले गणेश और सरस्वती स्तुति से करें।
  • इसके बाद मेहमानों के स्वागत में स्वागत कविता पढ़ें।
  • मंच पर आने से पहले होनेवाले कार्यक्रम की सूचि तैयार कर लें ताकि उनके अनुरूप आप कोट्स, शायरी बोल सकें।
  • बीच बीच में मेहमानों से बाते करें ताकि मेहमान अच्छे से घुल मिल सकें।
  • आप होली गेम्स भी करवा सकते हैं, इनसे सबकी भागीदारी बनी रहेगी।
  • समारोह के अंत में समापन से जुड़ी कविता और मेहमानों को धन्यवाद करना ना भूलें।

स्वागत कविता हिंदी 

होली मंच संचालन के शुरुआत में इस प्रकार की स्वागत कविता पढ़ी जा सकती है:

“फाल्गुन की पूर्णिमा..

 प्रकृति को मनोरम बनाती है

 गोदी में वसुधा की जब

 रंगों की चादर फैल जाती है

हर्ष उल्लास के रंगों में

जग जीवन संताप को विदाई देता है

होली का उत्सव है विशेष

मन को उमंग और आस ये देता है

सदियों की इस रीत में

आओ थोड़ा हम भी झूम लें

यथार्थ की गलियों को छोड़

थोड़ा मदमस्त बचपन की यादों में घूम लें

स्वागत है अतिथिगण आपका

इस हर्षोत्सव में..

आनंद पूरित रंगों के इस

उत्सव में..”

होली कविता, quotes in Hindi

होली पार्टी में मंच संचालन के दौरान आप ऐसे कोट्स का प्रयोग कर सकते हैं:

“हरे पीले लाल गुलाल

 जैसे हो खुशियों का बवाल

 न आए कभी आपकी मुस्कुराहट

पर कोई सवाल,

आओ यारों, करें इस होली पर 

जम कर धमाल”

“होली की उमंग

 उर में तरंग

बाजे मन में मृदंग

उत्साह उमंग

मानो बरसे नभ से

खुशियों के रंग

प्रकृति का रूप है निखरा ऐसा

जन मानस है दंग

आओ इस उत्सव में खो जाएं

हम तुम संग संग!”

होली पर कविता, शुभकामनायें सन्देश यहाँ पढ़ें.

महिला दिवस उत्सव एंकरिंग स्क्रिप्ट इन हिंदी (Women’s day anchoring script)

दोस्तो अगर आप महिला दिवस पर एंकरिंग करने जा रहे हैं तो आपके लिए ये सुझाव काम आ सकते हैं:

  • महिला दिवस एंकरिंग की शुरुआत आप छोटी मोटिवेशनल स्पीच या कविता से कर सकते हैं। अपनी स्पीच में ऐसा बिल्कुल न जताएं कि महिला “अबला” नारी है, बल्की आपको एक सकारात्मक अंदाज़ में अपनी बात को शुरू करना है। उपस्थित महिलाओं को लगना चाहिए कि वो खास हैं और उनकी उपलब्धियां भी विशेष हैं।
  • महिला दिवस एंकरिंग की शुरुआत में आप किसी चर्चित महिला की कहानी भी सुना सकते हैं जिससे गेस्ट रिलेट कर पाएं।
  • एंकरिंग के दौरान बीच बीच में गेस्ट से इंटरैक्ट करना ना भूलें। आप उनसे कुछ फनी क्वेश्चंस भी पूछ सकते हैं जिनकी मदद से पार्टी/फंक्शन का माहौल गंभीर न लगे।
  • महिलाओं की तारीफ में कुछ शेरो शायरी भी कर सकते हैं।
  • अगर आप अपनी एंकरिंग स्क्रिप्ट में छोटी छोटी कविताएं डालेंगे तो स्क्रिप्ट प्रभावशाली लगेगी.
  • महिला दिवस पर कविता शायरी भाषण यहाँ पढ़ें.

“तेरे आंचल में है जीवन पलता

तेरे साय में उम्मीदों का कारवां है चलता

तेरे होने से खुशियों का कमल है खिलता…”

Gangaur Anchoring Script in Hindi

गणगौर का त्योहार महिलाओं के बीच काफी प्रसिद्ध है। विशेषकर राजस्थानी परंपरा में गणगौर धूम धाम से मनाया जाता है। दोस्तो, इस उत्सव का सामूहिक आयोजन किया जाता है। अगर आप भी अपने मोहल्ले में परिवार और जान पहचान की महिलाओं के साथ गणगौर का आयोजन कर रही हैं तो नीचे बताई जा रही एंकरिंग स्क्रिप्ट आपके लिए मददगार हो सकती है:

संचालक: “झूमों ओ सखियों आया प्रीत का त्योहार रे़ गणगौर के पावन अवसर पर चली आशीष की बयार रे”

दोस्तों आज हम सब अपने अखंड सुहाग के लिए माता गौरी और महादेव के पूजन हेतु एकत्रित हुए हैं। सुहागनों के साथ साथ कुंवारी कन्याएं भी मौजूद हैं जो मनचाहे वर के लिए इस पूजन को कर रही हैं।

तो दोस्तो, सबसे पहले हम आप सभी की उपस्थिति के लिए आपका धन्यवाद करते हैं और साथ ही आप सभी से अनुरोध है कि सब अपनी अपनी जगहें ले लें और इस उत्सव का आनंद लें।

सबसे पहले हम भजन का आयोजन करेंगे….इसमें मां पार्वती और महादेव की स्तुति होगी। जो महिलाएं गायन में सम्मिलित होना चाहती हैं वो एक तरफ बैठ जाएं।

भजन के बाद…

संचालक: दोस्तो, इन सुंदर भजन से सचमुच आत्मा और मन दोनों शुद्ध हो गए। अब हम अपनी सखियों से अनुरोध करेंगे कि जो भी पारंपरिक नृत्य प्रस्तुति देना चाहती हैं वो सामने आएं।

नृत्य प्रस्तुति के बीच बीच में गणगौर की कहानी भी सुनाई जा सकती है।

(नोट: अपने समारोह के हिसाब से इस स्क्रिप्ट में ज़रूरी बदलाव कर लें)

Birthday Party Anchoring Script in Hindi

बर्थडे पार्टी की एंकरिंग के लिए आप स्क्रिप्ट के इस नमूने से आइडियाज ले सकते हैं, यहां हम आपको एक छोटे बच्चे की बर्थडे पार्टी की एंकरिंग स्क्रिप्ट दे रहे हैं। पाठकों से अनुरोध है कि इस स्क्रिप्ट में अपनी सहूलियत के हिसाब से बदलाव करें:

“आज का दिन है बड़ा ही खास, जन्मदिन है उसका, जिसने घोली परिवार में मिठास.. मां की आंखों का तारा, पापा की उम्मीदों का सितारा दादा दादी का राजदुलारा “बच्चे का नाम” हम सब का प्यारा जन्मदिवस के अवसर पर है तुम्हें आशीष बहुत सारा!”

तो दोस्तों, आइए तालियों के साथ जश्न की शुरुआत करते हैं। (तालियों के बाद संचालक बारी बारी से परिवार के लोगों और दोस्तों को बर्थडे ब्वॉय/गर्ल के लिए कुछ शब्द बोलने को कहे)

केक कटिंग के बाद संचालक वन मिनट गेम्स , अंताक्षरी, किड्स गेम्स आदि का आयोजन कर सकता है।

टिप्स: बर्थ डे पार्टी का आयोजन इस बात पर निर्भर करता है कि पार्टी किस उम्र वर्ग से जुड़ी है। अगर आयोजन बच्चों के लिए है तो पार्टी में फन होना चाहिए। ऐसी पार्टी खेल कूद और मनोरंजन से भरपूर होनी चाहिए। वही किसी व्यस्क के लिए रखी गई पार्टी में कपल गेम्स, मिमिक्री, आदि का आयोजन किया जा सकता है।

फेयरवेल एंकरिंग स्क्रिप्ट (Farewell Anchoring Script in Hindi)

दोस्तों, विदाई समारोह में अगर आप एंकरिंग करने जा रहे हों तो इस सैंपल स्क्रिप्ट की मदद ले सकते हैं। अगर आपको फेयरवेल स्पीच इन हिंदी की तलाश है तो लिंक पर क्लिक करना ना भूलें।

“सुप्रभात! आज हम सब विदाई समारोह जैसे भावुक अवसर पर एकत्रित हुए हैं। इस समारोह को शुरू करने से पहले मैं कुछ पंक्तियां बोलना चाहूंगी/ चाहूंगा…

“मिलना बिछड़ना है जीवन की एक रीत पुरानी कोई न जाने किस लम्हें में बन जाएगी एक नई कहानी जिनसे दूर है जाना, मत दो उन्हें केवल अश्कों से विदाई न जाने ज़िंदगी, कब किस मोड़ पर एक बार फिर, हमें करीब ले आएगी… बिन बताए ही हमें… एक नया फलसफा फिर से लिखती जाएगी”

दोस्तो, मिलना बिछड़ना तो ज़िंदगी की एक पुरानी रीत है। पर जैसे हर रात के बाद एक नई सुबह आती है, वैसे ही हर बिछड़न के बाद एक मुलाकात की आस भी बनी रहती है। तो चलिए, इस सोच के साथ आज के समारोह की शुरुआत करते हैं, विदा हो रहे मित्रों की सलामती और तरक्की की फरियाद करते हैं..भूल कर गिले शिकवे आज कुछ ऐसी बात करते हैं..रहेगी जो ताउम्र साथ हमारे, आइए ऐसी बातों को याद करते हैं…”

(समारोह को शुरू करने के बाद दर्शकों से बात चीत करते रहें। साथ ही जिनका विदाई समारोह है उन्हें मंच पर आमंत्रित कर उनका अनुभव ज़रूर सुनें।”

कॉमेडी एंकरिंग स्क्रिप्ट इन हिंदी (Comedy Anchoring script in Hindi)

दोस्तों कॉमेडी करना कठिन होता है। ऐसे कुछ ही लोग हैं जो दूसरों को हंसा सकते हैं, उनका दिल बहला सकते हैं। अगर आप भी किसी समारोह के लिए आप भी कॉमेडी एंकरिंग स्क्रिप्ट इन हिंदी ढूंढ रहे हैं तो हम आपकी मदद कर सकते हैं। हम आपके लिए कुछ कोट्स ले कर आए हैं जिनकी मदद से एंकरिंग की जा सकती है:

i)”मैं तब से बोलता जा रहा… बिन रुके मेहमानों का दिल बहला रहा बड़े स्वार्थी से लग रहे मुझे मेरे दर्शक सारे खुद का जी बहला लिया पर हमारे लिए तालियां भी न मारे”

ii)”महफिल तो खत्म हो जाएगी पर हम सा होस्ट फिर कहां मिलेगा अब किसकी पंच लाइन पर दर्शकों का दिल चहक उठेगा अरे दो शब्द नहीं तो कम से कम तालियों से ही कर दो हमारा शुकराना तभी तो आगे भी हमें मिलेगा आप मिलते रहने का कोई न कोई बहाना”

iii)”हमनें तो सोचा था, आज दर्शक खूब धमाल मचाएंगे पर क्या पता था कि आज ही इनमें से कई भाभी जी से लड़ कर आ जा अब शो तो हमारा खत्म होने को है इनको चिंता घर वापिस लौटने की हो रही पता चला भाई साहब को भाभी कपड़ों की जगह है पटक पटक के धो रहीं!”

मंच संचालन चुटकुले

i)”अब लगता है तालियों की जगह मुझे मारने पड़ेंगे ताने तभी जा कर मुस्कुराएंगे ये शादी शुदा गृहस्थी वाले नहीं अब इन्हें आदत बैचलर्स के जोक्स की चौबीसों घंटे अब लटकती है तलवार इनपर मानों कब पड़ जाए बीवी के ताने”

ii) “तालियां न पीटने वाले कंजूस क्या आए हो बस तुम प्लेट पर प्लेट का लुत्फ उठाने और लेने सारी मिठाईयां ठूंस?”

Sawan Celebration Anchoring Script in Hindi

“दोस्तों, सावन के महीने से जुड़े इस खास उत्सव में आप सभी का स्वागत है। भोलेनाथ के सबसे प्रिय महीने में प्रकृति की छटा अत्यंत मनोरम जान पड़ती है। इस सुंदर मौसम में वातावरण के साथ साथ हृदय भी आनंदित हो उठता है। इस प्राकृतिक आभा से जुड़ा आज का हमारा ये समारोह निश्चित ही हृदय को प्रफुल्लित करेगा। सबसे पहले सावन महोत्सव की शुरुआत करते हैं सावन पर लिखी गईं कुछ पंक्तियों के साथ..

“भोलेनाथ का ये प्रिय मास लाए संग अपने हर्ष उल्लास उमंग उत्साह का एक अनुपम आभास माहों में खास ये सावन मास”

(सावन पर कुछ पंक्तियां बोलने के बाद संचालक अपने प्रोग्राम संबंधी एक छोटी सी जानकारी दे और इनकी सूचि तैयार रखे। फिर अपनी सुविधा के अनुरूप घोषणा करे। बीच बीच में सावन पर शायरी या कविता बोल सकता है)

Teej Anchoring script in Hindi

संचालक: “नमस्ते दोस्तों! तीज के इस अतिपावन अवसर पर हम सभी एकत्रित हुए हैं। भगवान भोलेनाथ और माता पार्वती की असीम अनुकम्पा से सुहागिनों को तीज जैसे पवित्र त्योहार पर व्रत एवं पूजा अर्चना करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ है। तीज की इस शुभ बेला पर हम सभी गौरी शंकर की स्तुति करेंगे और मंगल कामना करेंगे। कार्यक्रम की शुरुआत तीज माता की वंदना से शुरू करेंगे:

“वर दो मां सौभाग्य का वर दो मां सुहाग का दमकता रहे मांग में सिंदूर कभी न होऊं साथी से दूर तेरी कृपा से आज ये दिन जीवन में आया है तेरे आशीष से मेरा घर आंगन जगमगाया है”

(संचालक द्वारा स्तुति गाने के बाद वहां मौजूद अन्य मेहमान बारी बारी से आ कर गौरी शंकर की स्तुति गा सकते हैं)

हरियाली तीज कब है यहाँ पढ़ें.

संचालक: जब तक पूजा का शुभ मुहूर्त शुरू होता है तब तक हमलोग भजन कीर्तन कर के मैया बाबा को प्रसन्न करेंगे। ढोल नगाड़े वाले भैया से अनुरोध हैं कि गायन में हमारा साथ दें।

संचालक और वहां मौजूद सभी महिलाएं भोलेनाथ और माता पार्वती के गीत और भजन गाएं। (निम्नलिखित गीत इस अवसर पर गाए जा सकते हैं: “मेरा भोला है भंडारी करे नंदी की सवारी” “जय जय गिरिराज किशोरी, जय महेश मुख चंद्र चकोरी” “जेकर नाथ भोले नाथ”)

भजन कीर्तन के बाद संचालक पंडित जी से संपर्क कर के पूजा की शुरुआत होने की घोषणा करे। पूजा के संपन्न होने के बाद एकत्रित लोग साथ में मैया गौरी और बाबा भोलेनाथ की आरती गाएं।

राजनीतिक मंच संचालन कैसे करें

दोस्तों, भारत जैसे देश में राजनीति का एक बड़ा महत्व है। आप आम तौर पर अपने ज़िले या राज्य में राजनीतिक कार्यक्रम और उनसे जुड़े मंच संचालन होते ज़रूर देखते होंगें। ऐसे कार्यक्रमों में अक्सर किसी राजनीतिक पार्टी का पक्ष रखा जाता है। वहां मौजूद दर्शकों को उस पार्टी से जुड़ी बातें और विचारधारा प्रभावशाली ढंग से समझाने का प्रयास किया जाता है। सच कहें तो ऐसे कार्यक्रमों में एंकर यानि संचालक की एक अहम भूमिका होती है। संचालक ही दर्शक और पार्टी के बीच पुल का काम करता है। अपने वाक् कौशल और विवेक से दर्शकों के मन पर अमिट छाप छोड़ता है। तो आइए, आपके समक्ष एक छोटा सा नमूना प्रस्तुत करते हैं, जिसकी मदद से आप समझ पाएंगे कि राजनीतिक मंच संचालन कैसे करें:

” संचालक: नमस्कार! देवियों और सज्जनों आज आप सभी का “क ख ग” पार्टी की इस सभा में आप सभी का स्वागत है। आज आपके शहर आपके प्रतिनिधि आपके समक्ष उपस्थित हैं। आपने अपने विश्वास और उम्मीदों की बदौलत इन प्रतिनिधियों को इस मुकाम तक पहुंचाया है। तो..आज की शाम प्रदेश की जनता के नाम! कार्यक्रम को शुरू करने से पहले, राष्ट्र कवि दिनकर की दो पंक्तियां दोहराना चाहूंगा/चाहूंगी: “ले लील भले यह धार मुझे, लौटना नहीं स्वीकार मुझे” दोस्तों इसी प्रकार के दृढ़ संकल्प के साथ हमारी पार्टी आपकी सेवा के लिए प्रतिबद्ध है। तो चलिए..कार्यक्रम की शुरुआत करते हैं…”

धार्मिक मंच संचालन

दोस्तो, धार्मिक मंच संचालन के लिए आप निम्नलिखित बिंदुओं पर ध्यान दे सकते हैं: i) धार्मिक मंच संचालन करते समय संचालक अपनी भाषा में जोश के साथ साथ मर्यादा का भी ध्यान दे। प्रयोग में आनेवाली शब्दावली सुंदर और सुलभ होनी चाहिए। ii) धार्मिक मंच संचालन में भक्ति श्लोक, शायरी, कविता का प्रयोग करें। संचालक मंच पर जाने से पहले प्रयोग में आनेवाले श्लोक, शायरी आदि का अभ्यास कर ले। iii) मंच संचालन के दौरान संचालक कार्यक्रम की शुरुआत इस प्रकार कर सकता है:

“श्री हरि की भक्ति में मन ऐसा रम जाए.. संसार की माया ठगी रहे और.. माधव का प्रेम जीवन का सार बन जाए!”

“जब मन पावन हो हरि भजन से जीवन को सद्गति मिल जाए छूटे मोह मिट्टी के जग का जब केशव का आशीष बरसाए”

“राम नाम करे स्मरण मन तो मन सोने का होए जो श्रद्धा के फूल खिले तो उर से पाप है धोए”

इन लाइनों से शुरू कर संचालक कह सकता है “प्रभु कृपा से आज हम सभी इस पावन अवसर पर एकत्रित हुए हैं। आओ! भाइयों और बहनों, आज इस अनुपम संध्या पर अपने तन मन से समर्पित हो कर, भगवान की भक्ति में स्वयं को भावविभोर कर दो। मेरे साथ साथ आप सब भी भक्ति गीत में मेरा साथ दो..”

मंच संचालन के दौरान संचालक भक्ति गान भी कर सकते हैं। कार्यक्रम के बीच में समय समय पर भोलेनाथ, श्री राम, श्री कृष्ण से जुड़े भक्ति गीत या उनकी लाइने गा सकते हैं।

यहाँ पढ़ें : 15 अगस्त पर हिंदी भाषण

स्वतंत्रता दिवस मंच संचालन (15 august anchoring script in hindi)

“आदरणीय शिक्षक गण, अतिथि गण एवं मेरे सहपाठियों,

आज एक बड़े ही विशेष अवसर पर हम सभी विद्यालय प्रांगण में एकत्रित हुए हैं। (Anchoring script for Independence day in hindi) आज हम राष्ट्र का … वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं। आज का दिन हर भारतीय के लिए किसी सौगात से कम नहीं। ये दिन नहीं, बल्कि प्रतीक है उन असंख्य बलिदानियों के अदम्य साहस और मातृभूमि के प्रति उनके अडिग समर्पण का..! ये स्वतंत्रता भारतीय संस्कृति के गौरव के रक्षण हेतु प्रयासरत हमारे सभी पूर्वजों के संघर्ष की कहानी दोहराती है। (अपनी ज़रूरत के हिसाब से आप ऐसी कविताओं से शुरुआत कर सकते हैं-

“स्वागत है अतिथियों का इस विशेष अवसर पर बढ़ाने को रौनक इस मौके की, आप सभी रहे तत्पर धन्यवाद हृदय से जो स्वीकारा निमंत्रण आशा है रहेगा खास आपके लिए ये क्षण.. इस संध्या का संचालन करने की बारी मेरी आई है तालियां उनके लिए जिन्होंने की हौसलाफजाई है तो चलिए, मित्रों कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हैं इन पलों को खुलकर जीते हैं और यादगार बनाते हैं थोड़ा हम हंसते हैं, और थोड़ा आपको हंसाते हैं”)

यहाँ पढ़ें: Top 5 Unsung Freedom Fighters of India

हमारी पावन धरती पर अनंत काल से “जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी” यानि मां और मातृभूमि स्वर्ग से भी बढ़ कर हैं, इस विचार का पालन किया जाता रहा है। दोस्तो, वैसे तो भारत की पुरातन और दीप्त संस्कृति की व्याख्या को कुछ शब्दों में समेटना कठिन है, किंतु मातृभूमि पर कुछ स्वरचित पंक्तियां आपको सुनाना चाहूंगी/चाहूंगा.. “हिमालय है जिस भू का दीप्त भाल मरुस्थल एक भुजा की बने है ढाल अरुणाचल अचल दूसरी भुजा को घेरे है पठार पग पर आकृति उकेरे है होता हिंद सिंधु से पद प्रक्षालन वक्षस्थल पर सरिताओं के फेरे हैं..”

(इन पंक्तियों से कार्यक्रम की शुरुआत कर के संचालक कार्यक्रम को आगे बढ़ा सकता है। साथ ही रामधारी सिंह दिनकर, निराला आदि कवियों की कविताओं से कोट्स भी सुनाया जा सकता है। सुविधा के लिए अपने कार्यक्रम की सूचि को साथ में अवश्य रखें।)

( संचालक देश भक्ति पर कुछ कोट्स भी बोल सकता है..) संचालक: दोस्तों स्वतंत्रता दिवस के इस अत्यंत महत्वपूर्ण अवसर पर मैं स्वरचित पंक्तियां कहना चाहूंगी/चाहूंगा… “देश के हित को मान धरम हम करते रहें अपना करम जो तैरे दुश्मन आंखें इधर टूटे उनका झूठा भरम”

संचालक: आइए, दर्शकों अब कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हैं। अब हम गायन प्रतियोगिता की ओर बढ़ेंगे। इस आयोजन में हमारे प्रतिभागी बारी बारी से अपना कौशल दिखाएंगे। तो आइए, ज़ोरदार तालियों से उनका स्वागत करें। (संचालक अब बारी बारी से प्रतियोगियों के नाम बुलाए)

प्रतियोगिता के खत्म होने के बाद..

संचालक: इससे पहले हम आगे बढ़ें, मैं गायन प्रतियोगिता में सम्मिलित प्रतिभागियों के लिए कुछ कहना चाहूंगा..

संचालक: अब हम नृत्य प्रतियोगिता की ओर बढ़ रहे हैं। आज स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर हम एक से बढ़ कर एक प्रस्तुतियों को देखने जा रहे हैं…

“आपके गुनगुनाए गीतों से मधुर हुआ है ये अवसर आज़ादी का जश्न मनाने में आपने नहीं छोड़ी कोई कसर..” (तालियों के बाद)

(संचालक इस प्रकार बारी बारी से हर प्रतियोगिता और अवसर की घोषणा करे। बीच बीच में कुछ शायरी या कविता को ज़रूर डाले।)

प्रस्तुतियों के बाद.. संचालक: “थिरकते कदमों को देख हृदय हुआ आनंदित है स्वतंत्रता के उत्सव में तन मन बड़ा ही हर्षित है”

दोस्तों अपनी इन्हीं पंक्तियों के साथ अब मैं आज के कार्यक्रमों के समापन की घोषणा करती/करता हूं। आप सभी का साथ देने के लिए धन्यवाद!

संचालक: “भारत की भू के हम क्षण क्षण ऋणी रहेंगे जन्में है इस वसुधा पर तो संस्कृति में धनी रहेंगे.. आओ, इस स्वतंत्रता दिवस हम एक बार फिर ये प्रण दोहराएं रहेगा हर पल ये जीवन समर्पित मातृभूमि को.. जब तक सांसें चलते जाएं..!”

यहाँ पढ़ें : स्वतंत्रता दिवस के लिए फिल्में 

  1857 की क्रांति का कारण

Teachers Day Anchoring Script in Hindi (शिक्षक दिवस पर मंच संचालन)

दोस्तों, शिक्षक दिवस के अवसर पर आप इस प्रकार की Anchoring Script for Teachers Day in Hindi का प्रयोग कर सकते हैं: “संचालक: “सुप्रभात आदरणीय शिक्षक गण एवं मेरे प्यारे सह पाठियों, आज का दिन हमारे लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। और हो भी क्यों न! शिक्षक दिवस हर बार की तरह हम सभी में एक नया उत्साह भर रहा है। आज स्कूल के प्रांगण में हम सभी अपने आदरणीय शिक्षकों के प्रति सम्मान और आभार प्रकट करने के लिए उपस्थित हुए हैं। हम सभी ने प्रस्तुति के लिए कुछ खास कार्यक्रम तैयार किए हैं। इन कार्यक्रमों के माध्यम से हम अपने शिक्षकों को ये बताना चाहते हैं कि हमारे जीवन में उनका कितना खास स्थान है! उनके मार्गदर्शन से हमें अपने जीवन में लक्ष्य को हासिल करने की प्रेरणा मिलती है..हमारी संस्कृति में सही ही बताया गया है.. “गुरु ब्रह्मा, गुरु विष्णु, गुरु महेश्वर के समान हैं”

भारतीय संस्कृति तो ये भी कहती है कि अगर भगवान और गुरु दोनों साथ खड़े हों, तो हमें पहले गुरु के पांव छुए चाहिए, क्योंकि हमारे गुरु ने ही हमें ईश्वर के बारे में बताया है, हमारे सामने भक्ति और संयम का भाव विस्तार किया है..”

दोस्तों, उम्मीद है आज का हमारा कार्यक्रम हमारे गुरु जनों को अच्छा लगेगा और हमारी मेहनत रंग लाएगी…

तो आइए दोस्तों, कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए मैं पहली प्रस्तुति की ओर बढ़ता हूं/ बढ़ती हूं..

सबसे पहले प्रस्तुति देंगी हमारे स्कूल की सबसे अच्छी गायिका! इनके गायन के माध्यम से माहौल में थोड़ी और मिठास घुल जाएगी!!

तो तालियों से कीजिए इनका स्वागत…

(प्रस्तुति के बाद..)

कितनी सुंदर आवाज़ है आपकी…प्रस्तुति के लिए धन्यवाद। हम अपने शिक्षकों से अनुरोध करना चाहेंगे कि आप प्रस्तुतियों का आनंद उठाते हुए..हर प्रतिभागी को अंक भी देते जाएं, क्योंकि समारोह के अंत में जिस प्रतिभागी के सबसे अधिक अंक होंगे..उन्हें पुरस्कृत किया जाएगा!

तो चलिए दोस्तों, अब बढ़ते हैं अगली प्रस्तुति की ओर.. हमारी अगली परफॉर्मेंस एक ग्रुप डांस है। इसमें जूनियर और सीनियर्स की अनोखी जुगलबंदी देखने को मिलेगी। तो तालियों से कीजिए इनका स्वागत…

परफॉर्मेंस के बाद…

दोस्तों इस सुंदर नृत्य प्रस्तुति ने तो यहां समा बांध दिया। अगली प्रस्तुति की घोषणा करने से पहले मैं दो शब्द कविता के रूप में बोलना चाहूंगा/चाहूंगी…

“जिनकी कृपा से होती है जीवन में ज्ञान धारा शुरू.. जिनके आशीष से जीवन में मैं सफलता की आशा करूं ऐसे मार्गदशकों को हम बुलाते हैं गुरु!”

(संचालक इसी प्रकार बारी बारी से मंच पर प्रस्तुतियों की घोषणा करे। संचालन के दौरान छोटी छोटी शायरी और कविताएं पढ़ जा सकती हैं, इससे संचालन प्रभावशाली बनेगा!”)

Ganesh Chaturthi Anchoring Script in Hindi (गणेश समारोह के लिए एंकरिंग स्क्रिप्ट)

दोस्तों, गणेश चतुर्थी का पावन त्योहार जल्द आनेवाला है। इस त्योहार को महाराष्ट्र, ओडिशा आदि क्षेत्रों में बड़े स्तर पर मनाया जाता है। साथ ही इस दिन बड़े कार्यक्रम भी किए जाते हैं। तो इस लिहाज़ से हमनें पाठकों की सहूलियत के लिए Ganesh Chaturthi Anchoring Script in Hindi पर कुछ नमूने तैयार किए हैं। उम्मीद है इनसे गणेश चतुर्थी मंच संचालन में आपको मदद मिलेगी:

संचालक: “सुप्रभात प्यारे मित्रों! उम्मीद है गणेश चतुर्थी के पावन अवसर पर आज आप सभी का हृदय हर्षित होगा। भगवान श्री गणेश की असीम अनुकम्पा आप सब पर बनी रहे। दोस्तों, आज का दिन बड़ा ही खास है। गणेश चतुर्थी माता पिता के प्रति बच्चों के प्रेम और बच्चों के प्रति माता पिता के अनन्य स्नेह को दर्शाती है। जब शिव जी ने क्रोधित हो कर भगवान गणेश का सिर धड़ से अलग कर दिया था तब माता पार्वती अपने पुत्र के जीवन के लिए अत्यंत दुखी हुईं। महादेव मां की ममता देख कर पिघल गए। बाद में गणेश जी के धड़ पर हाथी के बच्चे का शीश लगा कर उन्हें पुनः जीवित किया। और इस प्रकार गणेश जी को प्रथम देव और विघ्नहर्ता के रूप में पूजा जाने लगा। तो आइए मित्रों, विघ्नहर्ता श्री गणेश का स्मरण कर कार्यक्रम को आगे बढ़ाएं। आप सभी गणेश वंदना के लिए खड़े हो जाएं…

(गणेश वंदना के बाद..)

संचालक: दोस्तों, जैसा कि आप सभी जानते हैं कि गणेश चतुर्थी के पावन उत्सव पर हमारे प्रतिभागियों ने कुछ प्रस्तुतियां तैयार की हैं। लेकिन इनकी ओर बढ़ने से पहले हम आपके साथ एक छोटा सा गेम खेलेंगे। आज हम गणेश जी और गणेश चतुर्थी से जुड़ा एक क्विज़ करेंगे जिनके उत्तर आपको देने होंगे। जो सबसे अधिक सही जवाब देगा उसे मिलेगा गणेश जी की पसंदीदा मिठाई मोदक का डब्बा। तो चलिए शुरू करें..

(दोस्तों, क्विज़ के बाद संचालक आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के बारे में बताए और बारी बारी से प्रतिभागियों को स्टेज पर बुलाए)

संचालक: “सुप्रभात प्रिय मित्रों! आशा करता/करती हूँ कि आप सभी गणेश चतुर्थी के पावन उत्सव का आनंद उठा रहे हैं। भगवान श्री गणेश की अनंत कृपा सदैव आपके साथ रहे। आज का दिन विशेष इसलिए है क्योंकि आज के दिन यानि भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चौथी तिथि को ही श्री गणेश माता पार्वती के पुत्र के रूप में प्रकट हुए थे।

संचालक: “मित्रों, हमारे अन्य साथियों ने इस खास मौके पर कुछ प्रस्तुतियां तैयार की हैं। लेकिन इससे पहले हम एक रोचक के खेल खेलेंगे। ये खेल एक प्रकार का क्विज़ होगा। इस क्विज़ में हम गणेश जी और इस उत्सव से जुड़े कुछ प्रश्न पूछेंगे। जो सही उत्तर देगा, उसे मोदक की मिठास के साथ एक छोटा सा इनाम मिलेगा। तो आइए, खेल की शुरुआत करते हैं…”

क्विज़ में ऐसे प्रश्न पूछे जा सकते हैं:

“गणेश जी के भाई का क्या नाम है?” “गणेश जी की कितनी पत्नियां हैं?” “गणेश की सवारी चूहा क्यों है?” “गणेश जी की प्रिय मिठाई कौन सी है?”

क्विज़ के बाद… (संचालक द्वारा आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के बारे में जानकारी देने के बाद, प्रतिभागियों को एक-एक करके स्टेज पर आने के लिए आमंत्रित किया जाएगा।)

Hindi Diwas Anchoring Script in hindi

हिंदी दिवस के अवसर पर आप इस प्रकार की एंकरिंग स्क्रिप्ट से मदद ले सकते हैं:

संचालक: मित्रों! हिंदी दिवस की असीम शुभकामनाएं। हिंदी दिवस के अवसर पर मैं इस समारोह का आरंभ कुछ पंक्तियों से करना चाहूंगा/चाहूंगी:

“हिंदी भाषा नहीं, एक भाव है हिंद वासियों के चित्त पर.. हिंदी का अदम्य प्रभाव है”

दोस्तों, भारत विविधताओं का देश है। यहां हर प्रांत में बोली और तौर तरीके बदल जाते हैं। बस बदलती नहीं तो एक बात, अपने संस्कार और संस्कृति के लिए अनन्य स्नेह। जैसा कि हम जानते हैं, हमारे संस्कारों और संस्कृति को जीवित रखने में भाषा एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

हमारी देश की भाषाओं ने प्राचीन काल से हो रही घटनाओं के देखा है, समय के साथ हुए बदलाओं को अपने अंदर आत्मसात किया है। भारत में मौजूद भाषाओं की लंबी सूचि में हिंदी का नाम अग्रणी है। ये कभी संस्कृत की अपभ्रंश कही गई तो कभी भोजपुरी, मगही, अवधि, मैथिली आदि भाषाओं की जननी कह कर इसका संबोधन हुआ। मित्रों! हिंदी बोलना और पढ़ना अपनी जड़ों के निकट रहने के समान है।

दोस्तों, आज के इस विशेष अवसर पर हमारे विद्यालय के छात्रों ने कुछ प्रस्तुतियां तैयार की हैं। इनमें गायन, कविता वाचन, नृत्य, भाषण आदि शामिल हैं। मैं अतिथिगण से अनुरोध करूंगा/करूंगी की मंच पर आने का कष्ट करें एवं दीप प्रज्जवलित करें।

(दीप प्रज्जवलन के बाद..) संचालक: अब मैं बारी बारी से प्रतिभागियों का नाम लूंगा/लूंगी। आप कृपया मंच पर आ जाएं। (इस प्रकार संचालक होनेवाले कार्यक्रमों के अनुसार प्रतिभागियों को बुलाए और प्रस्तुति करवाए)

Gandhi Jayanti Anchoring Script in Hindi

संचालक: जय हिंद दोस्तों

गांधी जयंती के इस विशेष अवसर पर आप सभी का स्वागत है। आज का दिन भारतवासियों के लिए महत्वपूर्ण है। साथ ही आज का दिन हमें आज़ादी की लड़ाई में शामिल उन सभी बलिदानियों की याद दिलाता है जो निस्वार्थ भाव से देश की सेवा को समर्पित रहे।

इस अवसर पर हमारे विद्यालय ने एक बड़ा ही खास आयोजन रखा है।

संचालक: सबसे पहले मैं प्रधानाचार्य और अतिथिगण से निवेदन करूंगा/करूंगी की दीप प्रज्वलित करें और दो शब्द कहें।

(संबोधन के बाद..)

संचालक: मेरा अनुरोध है कि आप सभी अपना स्थान ग्रहण करें। हम शीघ्र ही प्रस्तुतियों के साथ आगे बढ़ेंगे। दोस्तों, आज के कार्यक्रम के लिए भाषण, गायन, कविता वाचन, नृत्य, नाटक जैसी प्रस्तुतियां रखी गईं हैं। आशा है आप सभी को ये कार्यक्रम अच्छा लगेगा।

संचालक: दोस्तों, आज जितने भी प्रोग्राम रखें गए हैं सभी में सत्य और अहिंसा से जुड़ा संदेश मिलेगा। गांधी जयंती के अवसर पर हमने गांधी जी के दिए सिद्धांतो को अपनी प्रस्तुतियों के माध्यम से संदेश के रूप में प्रकट करने की कोशिश की है।

(और इस तरह संचालक बारी बारी से प्रतिभागियों को स्टेज पर बुलाए और आयोजन संपन्न करे)

  • 15 अगस्त पर भाषण हिन्दी में
  • स्वतंत्रता दिवस पर निबंध
  • Republic day quotes in hindi
  • Sawan Theme Kitty Party in hindi
  • mehndi anchoring script in hindi

Share this:

Leave a comment cancel reply.

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Save my name, email, and website in this browser for the next time I comment.

भारत पर भाषण

Speech on India in Hindi: भारत एक ऐसा देश है जिसकी बाते शक्तिशाली देशों में होती है। हजारों साल से भारत अपनी समृद्ध संस्कृति और विरासत के साथ दुनिया भर के लोगों को ऐतिहासिक स्मारकों, नदियों, घाटियों, उपजाऊ मैदानों, पहाड़ों और पहाड़ियों की सुंदरता से आकर्षित करता हुआ आ रहा है। ऐसे में अगर आपको भारत पर भाषण देना है और भारतीय होने की अनूठी अविश्वसनीय भावना प्रकट करनी है, तो हमारा आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

Speech-on-India-in-Hindi

भारत पर भाषण | Speech on India in Hindi

भारत पर भाषण (500 शब्द).

माननीय अतिथि गण, आदरणीय प्रधानाचार्य जी, सम्मानित उपाध्यक्ष, सहकर्मियों एवं मेरे प्यारे मित्रों। आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार। आज मैं आप सभी के समक्ष भारत पर अपने विचार प्रस्तुत करने जा रहा हूं भारत, जो हमारा जन्म देश है। भारत देश के बारे में अपने विचार हम एक दूसरे के साथ साझा करते हैं।

हमारा भारत देश एक बहुत ही विशाल देश है। यहां पर अनेक प्रकार की विविधताएं पाई जाती हैं। यहां पर भी विभिन्न प्रकार की जाति, पंथ, धर्म और सांस्कृतिक प्रथाओं के लोग रहते हैं। ऐसी विविधता के रूप में भारत देश को देखा जाता है। इसी के साथ यह हमारे समाज और राष्ट्रीय को संपूर्ण रूप से समृद्ध बनाने का काम भी करता है।

भारत देश की जनसंख्या बहुत ही अधिक है। यहां पर बहुत सारे लोग रहते हैं। भारत एक ऐसा देश है, जो दुनिया में दूसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है। भारत देश की संस्कृति में विविधता, विभिन्न रीति रिवाज, भाषा, भोजन, कला, सभी चीज पाई जाती है। इसी के साथ भारत देश में ऊंचे पर्वत, विशाल समुद्र, असंख्य नदियां, विशाल खेती की भूमि, रेतीले रेगिस्तान, घने जंगल और एक संपन्न भौगोलिक परिदृश्य के द्वारा भारत बहुत ही सुंदर सजा हुआ प्रतीत होता है।

भारत देश को लेकर एक बहुत ही बड़ी दिलचस्प बात यह है कि यहां पर सभी राष्ट्रीय त्योहारों को एक ही माध्यम से देखा जाता है और मनाया भी जाता है। भारत देश में सभी महोत्सव को स्कूल, विश्वविद्यालय कॉलेज, समाज, कार्यालय सभी जगह पर मनाया जाता है। भारत देश में स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले पर प्रधानमंत्री के द्वारा भाषण प्रस्तुत किया जाता है और झंडा फहराया जाता है। यहां पर सभी अन्य त्यौहार धर्म जाति में भेदभाव किए बिना मनाए जाते हैं।

भारत को समृद्ध सांस्कृतिक विविधता को भोजन के रूप में भी देखा जाता है क्योंकि हमारे देश में खाना पकाने की कला बहुत ही अधिक पाई जाती है और इसीलिए यह दूसरे देशों को हमारे देश से बिन्न बनाती है। भारत देश में बहुत सारे मसाले और जड़ी बूटियां भी पाई जाती हैं, जो भारतीय लोगों के लिए एक व्यंजन का काम करती हैं।

भारत देश में भोजन में भी कई तरह की रोटियां पकाई जाती है जैसे कि नाम आटे के ब्रेड, फ्लैटब्रेड, ब्राउन ब्रेड, भटूरे और भी कई अन्य तरह की चीजें शामिल होती हैं, जिन्हें सभी लोग बहुत ही ज्यादा पसंद करते हैं। इसके साथ अगर आप दक्षिणी भारतीय क्षेत्र में जाते हैं, तो वहां पर आपको रोटी की बजाय चावल, उत्तपम, डोसा, इडली, इत्यादि व्यंजन ज्यादा दिखाई देते हैं।

अंत में मैं केवल आप सभी से इतना ही कहना चाहूंगा कि आप जहां पर भी जाएंगे, भारत को एक अलग ही रूप में पाएंगे। यहां पर अलग-अलग धार्मिक कथाएं, भौगोलिक विविधता और खाद्य विविधता तक ही भारत देश सीमित नहीं है।

यहां पर उल्लेखनीय अपत्य संपत्ति, कपड़े की शैलियां, इत्यादि और भी कई चीजों के बारे में आप बात कर सकते हैं। मैं अपने आप को बहुत ही भाग्यशाली मानता हूं कि मैं एक भारतीय हूं और मुझे आज के मंच पर भारत के बारे में बोलने का मौका मिला। मैं आप सभी का तहे दिल से धन्यवाद करता हूं।

यह भी पढ़े  : प्रेरणादायक भाषण

माननीय मुख्य अतिथि, प्रधानाचार्य जी, सम्मानित शिक्षक गण, और मेरे प्यारे मित्रों, आप सभी को मेरा सुप्रभात। आज हम सभी इस महोत्सव में सम्मिलित हुए हैं। मैं आप सभी का स्वागत करता हूं। आज मैं आप सभी के समक्ष अपने भारत देश पर आप को संबोधित करने जा रहा हूं, आशा करता हूं कि आप सभी मेरा सहयोग करेंगे।

हमारे भारत देश में हर प्रकार की जाती, रंग-रूप और विविधताएं पाई जाती हैं और भारतीय संस्कृति के लिए भारत देश बहुत ही प्रख्यात है। हमारे भारत देश बहुत बड़ा और विशाल है और अधिक जनसंख्या वाला देश है। भारत के अतीत में बहुत सारे उतार-चढ़ाव देखने को मिले हैं, परंतु चाहे वह राजनीतिक हो, सामाजिक या सांस्कृतिक हो सभी अशांति के साथ विजय हुए हैं। अतीत ने भारत को बिल्कुल हिला कर रख दिया था। उसमें हमारे देश के बहुत सारे ऐसे महान सेनानी थे जिन्होंने हमारे भारत देश को आजाद करवाया।

भारत देश में बहुत सारे ऐतिहासिक स्थल है, जैसे ताजमहल आगरा, हवामहल, विक्टोरिया मेमोरियल, कुतुब मीनार, हुमायूं का मकबरा, स्वर्ण मंदिर और भी अनेक ऐसे स्थल हैं, जो हमारे भारत देश में स्थित है, जिनकी सुंदरता देखते ही बनती है। इसी के साथ भारत संस्कृति और परंपरा का जन्म स्थान भी है।

पूरी दुनिया में पुरानी सभ्यता के लिए भारत एक प्रतिष्ठित देश है। यहां पर अनेक प्रकार के रीति रिवाज पाए जाते हैं। इसी के साथ भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश भी है, यहां पर सभी को अपनी धार्मिक मान्यताओं का पालन करने के लिए स्वतंत्रता दी जाती है।

भारत देश में हिंदू, ईसाई, इस्लाम, सिख, बौद्ध, जैन धर्म और भी अन्य धर्मों के लोग एक साथ मिलजुल कर रहते हैं। भारत देश में लगभग 22 से भी अधिक भाषाएं बोली जाती हैं।

यहां पर भाषा धर्म या जाति के मामले ही नहीं बल्कि उनकी जीवनशैली काम करने के तरीके, व्यवसाय, अनुष्ठान, जन्म, विवाह इत्यादि सभी से जुड़े हुए मामले देखे जा सकते हैं। भारत देश विविध परंपराओं सांस्कृतिक और धार्मिक प्रथाओं के कारण ही दुनिया में अलग पहचान बनाया हुआ है।

भारत देश में शिक्षा का क्षेत्र भी बहुत ही श्रेष्ठ है और यहां पर विदेशी व्यापार और वाणिज्य के लिए बाजार को आकर्षित करने के लिए अनुभवी डॉक्टर, इंजीनियर, वैज्ञानिक, तकनीशियन, इत्यादि सभी बड़े आपूर्तिकर्ताओं के रूप में प्रतिष्ठित हैं।

हम अपने देश के विकास और उपलब्धियों पर बहुत ही अधिक गर्व महसूस करते हैं। इसी के साथ वैश्विक बाजार में अपने देश के हित को और भी अधिक मजबूत करने के लिए जो भी हम कर सकते हैं, उसमें हम योगदान देते रहेंगे।

अंत में केवल इतना ही कहना चाहूंगा कि भारत के बारे में जितना भी कहा जाए उतना कम ही होगा क्योंकि भारत देश की सुंदरता देखते ही बनती है। यहां पर हर किसी चीज में आकर्षित चीज पाई जाती है। इसके लिए भारत देश अपने आप में ही विख्यात है, इसी के साथ में अपनी वाणी को यहीं पर विराम देता हूं।

इस आर्टिकल में आप सभी के समक्ष भारत पर भाषण दिया गया है। भारत की विविधताओं के बारे में बताया गया है। अगर आप स्कूल या कॉलेज या किसी अन्य समारोह में भारत से संबंधित लोगों को संबोधित करना चाहते हैं, तो यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

यह भी पढ़े  :

  • स्वतंत्रता दिवस पर भाषण
  • गाँधी जयंती पर भाषण
  • आत्मनिर्भर भारत पर भाषण
  • अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर भाषण

Ripal

Related Posts

Leave a comment cancel reply.

1Hindi

स्वागत भाषण (वेलकम स्पीच नमूना) School College Welcome Speech in Hindi

स्वागत भाषण (वेलकम स्पीच नमूना) School College Welcome Speech in Hindi

इस लेख में हमने स्कूल और कॉलेज के लिए स्वागत भाषण (वेलकम स्पीच नमूना) School College Welcome Speech in Hindi के उदाहरण या सैंपल फॉर्मेट दिया गया है।

स्वागत भाषण कई प्रकार के समारोह में दिए जाते हैं जैसे स्कूल के एनुअल डे पर, स्पोर्ट्स डे, कोई प्राइज वितरण दिवस, या कोई अन्य कार्यक्रम के लिए जिसमे किस मुख्य अतिथि को आमंत्रित किया गया होते हैं।

Table of Content

अन्य भाषण के जैसे ही स्वागत के लिए भाषण भी कई प्रकार के कार्यक्रम और समारोह के अनुसार अलग-अलग होते हैं। यह सभी स्वागत भाषण के उदाहरण आपको अपनी परीक्षा और कई प्रकार के समारोह में मदद करेंगे।

इस आर्टिकल में हमने आपको कई प्रकार के कार्यक्रम और समारोह को शुरू करने और लोगों का स्वागत करने के लिए कुछ बेहतरीन सुंदर भाषण का नमूना हिन्दी में प्रस्तुत किया हैं।

स्वागत भाषण (वेलकम स्पीच) में एक अलग ही ज़बरदस्त ताकत होनी चाहिए जिससे सामने बैठे हुए दर्शक को सुनने में अच्छा लगे और वह आपकी बातों को ध्यान से सुनें। आईये आपको मुख्य अतिथि स्वागत भाषण के कुछ उदहारण और फॉर्मेट बताते हैं।

1. स्वर्ण जयंती दिवस पर मुख्य अतिथि स्वागत भाषण Welcome Speech in Hindi for Golden Jubilee Conference and Celebration

गुड मॉर्निंग / गुड इवनिंग / शुभ संध्या / शुभ प्रभात

आप सभी उपस्थित जनों का _________पब्लिक स्कूल, लखनऊ की ओर से इस 50वें वार्षिक दिवस पर सहे दिल से स्वागत है।  आज हम बहुत ही खुशी के साथ अपने स्कूल का गोल्डन जुबली यह स्वर्ण जयंती मना रहे हैं। किसी भी शिक्षा संस्थान के लिए 50 वर्ष पूर्ण करना बहुत ही बड़ी बात होती है और यह एक सपने के पूरे होने के जैसे लगता है।

यह दिन हमें और प्रेरणा देता है और इसी प्रकार हमारे स्कूल को और आगे ले जाने की शक्ति भी हमें प्रदान करता है। आज वह दिन हमें याद आता है जब हमने अपने स्कूल की दीवारों को बनते देखा था और इस के प्रांगण में सुंदर छोटे पेड़ पौधे लगाए थे जो आज बहुत ऊंचे और सुंदर हो चुके हैं।

मुझे गर्व है कि मैंने एक ऐसे कार्य के चुना जिसमें मैं आने वाले समय के हमारे जिम्मेदार नागरिकों यहां बच्चों को कुछ सिखाने का मौका मिला। मैं आज उन सभी माता-पिताओं का भी अभिनंदन करना चाहता हूं और उनका शुक्रिया करना चाहता हूं जिन्होंने अपने बच्चों के साथ-साथ हमारे स्कूल के सदस्यों का समर्थन किया।

मैं यहां उपस्थित सभी लोगों की ओर से उद्घाटनकर्ता और इस सम्मेलन के अतिथि श्री _____ का सम्मान के साथ स्वागत करता हूं। हम लोगों के लिए और हमारे स्कूल के लिए यह एक सम्मान की बात है कि वह अपना महत्वपूर्ण समय निकालकर आज हमारे गोल्डन जुबली के कार्यक्रम में सम्मिलित हुए हैं। उन्होंने असाक्षरता को दूर करने के लिए कई अनमोल कदम उठाए हैं और साथ ही महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने मैं भी उनका मुख्य योगदान रहा है।

साथ ही उन्होंने कन्या शिक्षा के लिए कई अनुष्ठान और अनाथ आश्रम की भी शुरुआत की है जहां लड़कियों को मुफ्त में शिक्षा दी जाती है। तो चलिए तेज तालियों की गड़गड़ाहट के साथ हमारे अतिथि श्री_______ जी का मंच पर स्वागत करते हैं और उनके जीवन के अनुभव और अनमोल वचनों को सुनते हैं।

2. वार्षिक खेल दिवस पर मुख्य अतिथि स्वागत भाषण Welcome Day Speech in Hindi for Annual Sports Day

आप सभी को गुड मॉर्निंग / गुड इवनिंग / शुभ संध्या / शुभ प्रभात,

आज_______ एकेडमी की ओर से मैं आप सभी उपस्थित लोगों का इस वार्षिक खेल दिवस, वर्ष _____में आपका स्वागत करता हूं। खेल कूद हमारे जीवन का एक अभिन्न हिस्सा है जो हमें स्वास्थ्य और स्फूर्ति प्रदान करता है। स्कूलों और कॉलेजों में पढ़ाई के साथ-साथ खेल का भी होना बहुत ही आवश्यक है।

इसलिए हमारे स्कूल में विद्यार्थियों को शिक्षा के साथ-साथ खेल की सुविधाएं भी दी जाती हैं। शारीरिक शिक्षा बच्चों और बड़ों सब के जीवन में आत्मविश्वास और प्रेरणा लाता है। इसीलिए प्रतिवर्ष हम अपने विद्यालय में वार्षिक खेल दिवस आयोजित करते हैं ताकि बच्चे अपने खेल के कौशल को और विकसित कर सकें।

एक और सबसे बड़ी खुशी की बात यह है कि इस वर्ष हमारे स्कूल को सबसे बेहतरीन संस्थान का दर्जा दिया गया है और हमारा प्रयास हमेशा ऐसा रहेगा जिससे यहां अनमोल दर्जा प्रतिवर्ष हमारे संस्थान को मिल पाए।

मैं अपने स्कूल के अध्यापकों के साथ-साथ माता-पिताओं को भी धन्यवाद करना चाहता हूं जिन्होंने अपने बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ खेल के क्षेत्र में भी आगे बढ़ने का प्रोत्साहन दिया।

तो सम्मान के साथ स्वागत करते हैं हमारे मुख्य अतिथि, हमारे राज्य के क्रीडा मंत्री श्री________जी का जो पहले ओलंपिक में निशानेबाजी में तीन स्वर्ण पदक और दो कांस्य पदक हमारे देश के लिए जीत चुके हैं।

3. वार्षिकोत्सव पर मुख्य अतिथि स्वागत भाषण Welcome Speech in Hindi for Annual Function Chief Guest

आप सभी को गुड मॉर्निंग / गुड इवनिंग / शुभ संध्या / शुभ प्रभात

माननीय अतिथि श्री_________, अध्यक्ष_________, प्रधानाचार्य महोदय_______, अध्यापकगण तथा मेरे प्रिय सहपाठियों आप सभी का हमारे स्कूल के वार्षिक समारोह उत्सव पर सहे दिल से स्वागत है।

मेरा नाम विजय कुमार है और मैं कक्षा बारहवीं का छात्र हूं और साथ ही इस सांस्कृतिक कार्यक्रम का सचिव हूँ। आज मुझे यह बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि आज हमारे स्कूल को 25 वर्ष पूरे हो गए हैं और आज हम सिल्वर जुबली मना रहे हैं। यह बात तो हम सभी जानते हैं कि आज हमारे स्कूल और हम लोगों के लिए कितना महत्वपूर्ण दिन है।

यह बहुत ही सम्मान की बात है कि असीम सफलताओं के साथ हमारे विद्यालय ने अपने 25 वर्ष पूर्ण कर लिए हैं। परंतु यह कोई अंत नहीं बल्कि शुरुआत की पहली सीढ़ी है जिसके बाद हमारा स्कूल और आगे बढ़ेगा। हमारे स्कूल की सफलता के पीछे हमारे स्कूल का हर एक व्यक्ति का समान हाथ है क्योंकि एकजुट हो कर काम करने पर ही सफलता मिलती है।

हमें हमेशा इसी प्रकार अपने स्कूल या संस्थान को आगे ले जाने में अपना पूर्ण योगदान देना चाहिए। अब समय हो चुका है कि हम अपने इस साहित्यिक कार्यक्रम को शुरू करें। कार्यक्रम को शुरू करने से पहले मैं हमारे माननीय मुख्य अतिथि श्री______जी को सम्मान के साथ स्टेज पर पुराना चाहता हूं ताकि वह अपने विचारों और आशीर्वाद के साथ इस उत्सव की शुरुआत करें।

4. पुरस्कार वितरण समारोह के लिए अतिथि स्वागत भाषण Welcome Speech in Hindi for Award Ceremony Day

आदरणीय श्रोताओं को सुप्रभात।

मैं इस पुरस्कार वितरण समिति का अध्यक्ष होने के नाते आप सभी का हमारे इस समारोह में स्वागत करता हूं। आदरणीय श्रोताओं, आप सभी को यह बताते हुए काफी ज्यादा हर्ष हो रहा है कि इस वर्ष विजेताओं की संख्या पिछले वर्षों से कई गुना ज्यादा है। 

मैं इस पुरस्कार वितरण समारोह से पहले हर उस विद्यार्थी, जिसने इस प्रतियोगिता में भाग लिया था, उसको यह संदेश देना चाहता हूं कि तुम हारे या जीते इस बात के मायने केवल तब तक रह जाते हैं, जब तक कि तुम इन दोनों को ही समान दृष्टि से ही देखते हो। हार जाने के भी कई फायदे हैं। हार जाने से हमें सीख मिलती है, हार जाने से हमें यह जानने को मिलता है कि जीतने का रास्ता क्या है। जीतने से हमें अगले पड़ाव के लिए आत्मविश्वास मिलता है। 

मेरी नज़रों में उस व्यक्ति की हार और जीत दोनों ही समान है जिसने आगे बढ़कर इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था। ऐसा इसलिए है क्यूंकि हर वह छात्र जिसने इस प्रतियोगिता में या किसी भी प्रतियोगिता में हिस्सा लिया होगा, वह छात्र एक विजेता है। वह विजेता इसलिए है क्यूंकि उसने उस कार्य को करने की कोशिश तो की।

यदि वह छात्र कोशिश ही नहीं करता तो क्या उसे कभी हार एवं जीत का अंदाजा होता। हार एवं जीत दोनों ही एक प्रकार से किसी भी इंसान से काफी कुछ देकर जाती हैं। मैं यहां बैठे लोगों को यह बताना चाहता हूं, कि मेरे नजरिए में एक हार, सौ जीतों से कई गुना बढ़ी है। क्यूंकि एक हार किसी भी इंसान को सौ जीतों का साहस देकर जाती है, बशर्ते आपका मन उस हार के प्रति उदार रहना चाहिए।

मैं हारने वाले सभी छात्रों का उतना ही सम्मान करता हूं और उनसे निवेदन करता हूं कि वे अपनी हार को हार ना मानकर, इससे सीखें। ज़िन्दगी में हजारों मौके आएंगे और आपको आपकी सकारात्मकता से इन मौकों का फायदा उठाना होगा। 

हम जिस प्रतियोगिता के पुरस्कार वितरण समारोह के लिए इस मंच पर इकठ्ठा हुए हैं वह एक सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता थी। इस विषय का छात्रों के जीवन में एक अपना महत्व है। ऐसा कहा जाता है कि सामान्य ज्ञान एक सागर है लेकिन आज कल एक स्कूलों के कारण छात्र इस सागर की एक बूँदा को भी प्राप्त नहीं कर पा रहे। 

किसी भी सरकारी परीक्षा की ओर यदि आप रुख करें तो आप यह पाएंगे कि वहां पर मुख्य विषय है सामान्य ज्ञान। लेकिन आज कल के स्कूलों की शिक्षा पद्धति में सामान्य ज्ञान के लिए कोई जगह नहीं है। ये स्कूल अपने ही पाठ्यक्रमों को चलाते रहते हैं एवं इन स्कूलों के छात्रों के पास ज्ञान सीमित और रटा हुआ होता है। 

लेकिन चाहे वे इन स्कूलों के बच्चे हों या उन स्कूलों के, ये बच्चे हमारे ही देश का भविष्य हैं। इन बच्चों को सामान्य ज्ञान के प्रति उत्सुक करने के लिए मेरी समिति द्वारा यह प्रतियोगिता बनाई गई थी। 

प्रतियोगिता के रूप में इस विषय को बच्चों तक पहुंचाने का कारण यह हुई था कि बच्चे प्रतियोगिता और इनाम के मोह में ही सही लेकिन इस ओर ध्यान तो देंगे। वे कम से कम यह प्रतियोगिता जीतने के लिए ही सही सामान्य ज्ञान पढ़ेंगे। सामान्य ज्ञान पढ़कर वे स्कूली शिक्षा से अलग उस शिक्षा को हासिल करेंगे जिसके वे सच में जरूरत मंद हैं। 

आदरणीय श्रोताओं मैं अब इतना कहकर अपनी वाणी को विराम देता हूँ और समारोह के अन्य सदस्यों से यह आग्रह करता हूं, कि वे इस समारोह को आगे बढ़ाएं। जीतने वाले सभी छात्रों को मेरी ओर से शाबाशी और हारने वाले सभी छात्रों को आने वाले समय के लिए शुभकामनाएं। कृपया इस या किसी भी हार को अपने जीवन की हार ना समझे क्यूंकि जीवन रहा तो जीतने के कई मौके आपको जरूर मिलेंगे।

मुझे सुनने के लिए आप सभी का धन्‍यवाद। 

5. फ्रेशर्स की पार्टी स्वागत भाषण Welcome Speech in Hindi for Freshers Party

आदरणीय प्रधानाचार्य जी, आदरणीय अध्यापक गण एवं मेरे प्यारे साथियों।

आज हम सभी यहां पर फ्रेशर्स पार्टी के लिए इकठ्ठा हुए हैं। यह एक रीति का हिस्सा है। यह रीत सदियों से चली आई है कि जब परिवार में कोई भी नया सदस्य आता है तो उसका स्वागत किया जाता है। उसका स्वागत करना, परिवार के अन्य सदस्यों का दायित्व होता है।

आज हम सभी उसी कार्य के लिए इकठ्ठा हुए हैं। यह फर्स्ट ईयर के छात्रों की फ्रेशर्स पार्टी है। मुझे प्रबंधन समिति ने आप सभी का स्वागत करने का जिम्मा सौंपकर मुझपर जो विश्वास जताया है, मैं उसके लिए उनका आभारी हूँ और यह वादा करता हूं कि अपने संबोधन के दौरान मैं उनके जताए गए विश्वास को रत्ती भर भी नहीं टूटने दूँगा। 

साथियों, आप सभी ने हाल ही में हमारे कॉलेज को जॉइन किया है, इसलिए एक सीनियर होने के नाते मेरा फर्ज़ है कि मैं आप सब का स्वागत करूँ। यह फ्रेशर्स पार्टी आप सभी के. हमारे परिवार में जुड़ने की खुशी में रखी गई है। मुझे इस बात की बहुत खुशी है कि हमारे कॉलेज का परिवार बढ़ गया है। उस परिवार में अब आपसे युवा शामिल हो चुके हैं।

आप लोगों ने हाल ही में अपने विद्यालय छोड़े हैं और आगे की पढ़ाई के लिए हमारे विद्यालय में आए हो। मुझे ऐसा लगता है कि अपना विद्यालय छोड़ना आपके लिए एक कष्टदायक पल रहा होगा। आप सभी उस विद्यालय से भावनात्मक तौर पर जुड़ चुके होंगे पर फिर भी आपको वह विद्यालय छोड़ना पड़ा। साथियों, ऐसा मनुष्य जीवन में होता रहता है।

हमें हर चीज को कभी ना कभी, किसी ना किसी कारणवश छोड़ना ही पड़ता है। आपको अपना विद्यालय छोड़ने पर जिस पीढ़ा का अनुभव हुआ है मैं उससे भली भांति वाकिफ हूं, लेकिन यह निश्चित तौर पर कह सकता हूं कि हमारा कॉलेज में भी आपको उतना ही स्नेह मिलेगा जितना आपको अपने विद्यालय में मिला है। आपको यहां पर भी उसी प्रकार का पारिवारिक माहौल मिलेगा, और मैं और मेरे अन्य साथियों का यह प्रयास रहेगा कि आपको अपने विद्यालय की कमी महसूस न हो। 

साथियों, अगर मै हमारे कॉलेज में होने वाली पढ़ाई के स्तर की बात करूं और अध्यापकों की बात करूं, तो ऐसा कॉलेज आपको लगभग ही कहीं देखने को मिले। यहां के अध्यापक उदारता और विनम्रता की मूरत हैं और वे असल मायने में अध्यापक होने के मूल्यों को पुनः परिभाषित कर रहे हैं। यहां के अध्यापकों का आपके जीवन में काफी ज्यादा महत्व रहने वाला है। मुझे यहां के अध्यापकों से काफी कुछ सीखने को मिला है। 

मैं अगर आपको हमारे कॉलेज के बारे में बताऊँ तो शायद आप सब हैरान रह जाएं। हमारे कॉलेज में यह रिकॉर्ड है कि यहां हर छात्र को विकास करने का पूरा मौका दिया जाता है। हर छात्र यहां पर आकर अपना सर्व मुखी विकास कर सकता है। हमारे कॉलेज में लाइब्रेरी फैसिलिटी से लेकर खेल की उच्च तम से उच्चतम सुविधा मौजूद है। यहां के कई छात्रों ने राज्य स्तर तक अपने खेल का लोहा मनवाया है। यदि मैं अन्य क्षेत्रों की बात करूं तो हमारा कॉलेज संस्कृति और परम्पराओं की तरफ झुका हुआ है। 

साथियों कुल मिलाकर मुझे यह लगता है कि आपने हमारे कॉलेज का भाग बनकर हमपर जो विश्वास जताया है, मैं उसके लिए आप सभी का धन्यवाद करना चाहता हूं। यह कॉलेज अपनी दोनों बाहें खोलकर आपसे होनहार विद्यार्थियों का स्वागत करता है। मैं आप सभी से यह आशा करता हूँ कि आप हमारे कॉलेज के मूल्यों को समझेंगे और हमारे कॉलेज की प्रतिष्ठा को बढ़ाएंगे ही। 

साथियों अब मैं अपनी वाणी को विराम देता हूं। आप लोगों का मेरे विचार सुनने के लिए धन्यवाद। मैं अब अपनी जगह लेता हूँ। धन्यवाद

आशा करते हैं आपको यह मुख्य अतिथि स्वागत भाषण नमूना School College Welcome Speech in Hindi अच्छे लगे होंगे।

Leave a Comment Cancel reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed .

introduction for speech in hindi

25,000+ students realised their study abroad dream with us. Take the first step today

Here’s your new year gift, one app for all your, study abroad needs, start your journey, track your progress, grow with the community and so much more.

introduction for speech in hindi

Verification Code

An OTP has been sent to your registered mobile no. Please verify

introduction for speech in hindi

Thanks for your comment !

Our team will review it before it's shown to our readers.

introduction for speech in hindi

  • Trending Events /
  • General Knowledge /

Speech on Children’s Day in Hindi : जानिये कैसे तैयार करें बाल दिवस पर स्पीच?

' src=

  • Updated on  
  • नवम्बर 7, 2023

Speech on Children's Day in Hindi

बाल दिवस हर वर्ष 14 नवंबर को भारत के पहले प्रधान मंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन पर मनाया जाता है। 1925 में अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस की घोषणा पहली बार जिनेवा में बाल कल्याण पर विश्व सम्मेलन के दौरान की गई थी। इस दिन भारत में बच्चों के लिए कई कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं, जिनमें स्पीच देने के लिए कहा जाता है। इसलिए इस ब्लाॅग Speech on Children’s Day in Hindi में बाल दिवस पर स्पीच की तैयारी के बारे मेें जानेंगे।

This Blog Includes:

बाल दिवस के बारे में, बाल दिवस पर स्पीच 1 मिनट में, बाल दिवस पर स्पीच 2 मिनट में, स्पीच की शुरुआत में, स्पीच में क्या बोलें, स्पीच के अंत में, बाल दिवस पर भाषण कैसे दें, बाल दिवस से जुड़े रोचक तथ्य.

भारत के पहले प्रधान मंत्री जवाहरलाल नेहरू ने एक बार कहा था कि आज के बच्चे कल का भारत बनाएंगे। जिस तरह से हम उनका पालन-पोषण करेंगे वही देश का भविष्य तय करेगा। भारत में बाल दिवस 20 नवंबर को मनाया जाता था, जिस दिन संयुक्त राष्ट्र द्वारा विश्व बाल दिवस मनाया जाता है। हालांकि जवाहरलाल नेहरू की मृत्यु के बाद उनके जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में मनाने के लिए भारतीय संसद में प्रस्ताव पारित किया गया था।

1 मिनट में Speech on Children’s Day in Hindi इस प्रकार हैः

14 नवंबर को पूरे देश में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है। स्वतंत्रता सेनानी और राजनीतिज्ञ को बच्चों से बेहद प्यार था और बच्चे उन्हें प्यार से ‘चाचा नेहरू’ कहते थे। भारत के पहले प्रधान मंत्री जवाहरलाल नेहरू ने एक बार कहा था कि आज के बच्चे कल का भारत बनाएंगे। जिस तरह से हम उनका पालन-पोषण करेंगे वही देश का भविष्य तय करेगा। बाल दिवस प्रधानमंत्री नेहरू को श्रद्धांजलि देने का दिन है।

2 मिनट में Speech on Children’s Day in Hindi इस प्रकार हैः

नेहरू को ‘चाचाजी’ कहे जाने का कोई दस्तावेजी कारण नहीं है। हालांकि, ऐसा कहा जाता है कि इस शब्द के प्रचलन के पीछे बच्चों के प्रति उनका प्यार एक प्रमुख कारण था। 1964 से पहले, भारत 20 नवंबर को बाल दिवस मनाता था (संयुक्त राष्ट्र इस दिन इसे मनाता है।) यह दिन हमारे पहले प्रधान मंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्म के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।

पंडित जवाहरलाल नेहरू बच्चों के साथ बिताए हर पल को संजोकर रखते थे और मानते थे कि वे हमारा कल हैं और देश का भाग्य उनके हाथों में है। जवाहर लाल नेहरू ने भारत में कुछ सबसे प्रमुख शैक्षणिक संस्थानों की स्थापना को लागू किया। नेहरू अपने पीछे भारत के बच्चों के लिए शिक्षा की विरासत छोड़ गए हैं। उन्होंने एक बार कहा था कि आज के बच्चे कल का भारत बनाएंगे। जिस तरह से हम उनका पालन-पोषण करेंगे वही देश का भविष्य तय करेगा।

बाल दिवस पर स्पीच 5 मिनट में

5 मिनट में Speech on Children’s Day in Hindi इस प्रकार हैः

बाल दिवस पर स्पीच की शुरुआत में सबसे पहले जहां स्पीच दे रहे हैं वहां के लोगों का संबोधन करना है और फिर बाल दिवस के ऊपर थोड़ी स्पीच देनी है, जैसे- बाल दिवस हर वर्ष मनाया जाता है। ‘चाचा नेहरू’ के नाम से मशहूर जवाहरलाल नेहरू को श्रद्धांजलि देने के लिए हर साल 14 नवंबर को यह दिन मनाया जाता है। उनका जन्म 14 नवंबर 1889 को हुआ था और वह बच्चों के प्रति अपने स्नेह के लिए जाने जाते थे। 1955 में उन्होंने बच्चों के लिए स्वदेशी सिनेमा बनाने के लिए चिल्ड्रन्स फिल्म सोसाइटी की भी स्थापना की।

जवाहर लाल नेहरू अपने पीछे भारत के बच्चों के लिए शिक्षा की विरासत छोड़ गए हैं। उन्होंने एक बार कहा था कि आज के बच्चे कल का भारत बनाएंगे। वह हमेशा समानता में विश्वास करते थे और प्रत्येक बच्चे को शिक्षा, स्वास्थ्य और सुरक्षा के समान अधिकार दिलाने के लिए एक कार्यकर्ता थे। 

जवाहर लाल नेहरू को बच्चों के साथ समय बिताना बहुत पसंद था और बच्चे भी उनसे बहुत प्यार करते थे क्योंकि वे उन्हें ‘चाचा नेहरू’ और ‘चाचाजी’ कहते थे। भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए उनके पास एक महान दृष्टिकोण था और वह जानते थे कि यह तभी संभव है जब युवाओं को बचपन से ही पोषित किया जाए।

1956 से भारत 20 नवंबर को बाल दिवस मनाता आ रहा है। बता दें कि 20 नवंबर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा बाल दिवस को सार्वभौमिक बाल दिवस के रूप में मनाया जाता था। 

बाल दिवस भारत में वर्ष का बड़ा आयोजन माना जाता है। इसे स्कूलों, काॅलेजों और अन्य संगठनों द्वारा मनाया जाता है। 1964 में चाचा नेहरू की मृत्यु के बाद उनकी जयंती को देश में बाल दिवस के रूप में मनाते हैं और उनका बच्चों के प्रति प्यार और नजरिया एक नई दिशा देता है। इन वाक्यों के साथ मैं अपनी स्पीच को विराम देता हूं। आशा करता हूं कि आपको मेरे वक्तव्य अच्छे लगे होंगे। सभी को बाल दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। धन्यवाद।

Speech on Children’s Day in Hindi देते समय इन बातों का ध्यान रखना आवश्यक हैः

  • अपनी स्पीच को बड़ा न रखें।
  • स्पीच देते समय तय वक्त का भी ध्यान रखें।
  • स्पीच देने से पहले एक-दो बार उसे बोलने का प्रयास करें।
  • अपनी स्पीच को तैयार करते समय गलतियों से बचें।
  • स्पीच देने से पहले उसे लिखें या समझ कर तैयार करें।
  • अपनी स्पीच में सब्जेक्ट से रिलेटेड ही चीजें रखें, टाॅपिक से न भटकें।
  • अपनी स्पीच को बोलते समय फैक्ट्स का ध्यान रखें।
  • स्पीच देने के समय भूलने से बचने को शाॅर्ट नोट तैयार कर सकते हैं।
  • स्पीच देते समय अपनी आवाज को भी सही रखना जरूरी है।

बाल दिवस से जुड़े रोचक तथ्य इस प्रकार हैंः

  • बाल दिवस या बाल दिवस का उद्देश्य भारत में बच्चों के अधिकारों और शिक्षा के बारे में जागरूकता बढ़ाना है।
  • भारत में बाल दिवस 1959 से मनाया जा रहा है।
  • शुरुआत में भारत जवाहरलाल नेहरू की मृत्यु से पहले 20 नवंबर को बाल दिवस मनाता था और 1964 में उनकी मृत्यु के बाद सर्वसम्मति से उनके जन्मदिन को बाल दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया।
  • कई देश अपना राष्ट्रीय बाल दिवस मनाते हैं, ब्रिटेन इसे नहीं मनाता है।
  • दुनिया के लगभग 50 देश 1 जून को बाल दिवस मनाते हैं।
  • 14 नवंबर को भारत में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • बच्चों को विशेष महसूस कराने के लिए स्कूल इस दिन विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करते हैं। इस दिन स्कूलों में विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती हैं।

संबंधित ब्लाॅग्स

भारत में बाल दिवस 14 नवंबर को मनाया जाता है।

बाल दिवस मनाने की शुरुआत 1954 से हुई थी।

14 नवंबर को बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है।

स्कूल में बाल दिवस पर बच्चों के लिए कार्यक्रम और प्रतियोगिताएं आदि आयोजित की जाती हैं।

उम्मीद है कि इस ब्लाॅग Speech on Children’s Day in Hindi में आपको बाल दिवस पर स्पीच कैसे तैयार करें के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी। इसी तरह के अन्य ट्रेंडिंग इवेंट्स ब्लॉग्स पढ़ने के लिए Leverage Edu के साथ बने रहें।

' src=

स्टडी अब्राॅड प्लेटफाॅर्म Leverage Edu में सीखने की प्रक्रिया जारी है। शुभम को 4 वर्षों का अनुभव है, वह पूर्व में Dainik Jagran और News Nib News Website में कंटेंट डेवलपर रहे चुके हैं। न्यूज, एग्जाम अपडेट्स और UPSC में करंट अफेयर्स लगातार लिख रहे हैं। पत्रकारिता में स्नातक करने के बाद शुभम ने एजुकेशन के अलावा स्पोर्ट्स और बिजनेस बीट पर भी काम किया है। उन्हें लिखने और रिसर्च बेस्ड स्टोरीज पर फोकस करने के अलावा क्रिकेट खेलना और देखना पसंद है।

प्रातिक्रिया दे जवाब रद्द करें

अगली बार जब मैं टिप्पणी करूँ, तो इस ब्राउज़र में मेरा नाम, ईमेल और वेबसाइट सहेजें।

Contact no. *

introduction for speech in hindi

Leaving already?

8 Universities with higher ROI than IITs and IIMs

Grab this one-time opportunity to download this ebook

introduction for speech in hindi

How would you describe this article ?

Please rate this article

We would like to hear more.

Connect With Us

20,000+ students realised their study abroad dream with us. take the first step today..

introduction for speech in hindi

Resend OTP in

introduction for speech in hindi

Need help with?

Study abroad.

UK, Canada, US & More

IELTS, GRE, GMAT & More

Scholarship, Loans & Forex

Country Preference

New Zealand

Which English test are you planning to take?

Which academic test are you planning to take.

Not Sure yet

When are you planning to take the exam?

Already booked my exam slot

Within 2 Months

Want to learn about the test

Which Degree do you wish to pursue?

When do you want to start studying abroad.

September 2024

January 2025

What is your budget to study abroad?

IMAGES

  1. I want a self introduction for Hindi speech give fast as possible

    introduction for speech in hindi

  2. How to Start a Speech in Hindi : 7 Innovative Way

    introduction for speech in hindi

  3. I want a self introduction for Hindi speech give fast as possible

    introduction for speech in hindi

  4. Parts of speech full details in hindi

    introduction for speech in hindi

  5. Parts of speech in Hindi: Meaning, Definition, Types, Rules, and examples

    introduction for speech in hindi

  6. How To Introduce Yourself In Hindi Speech

    introduction for speech in hindi

VIDEO

  1. Introduction Speech!

  2. introduction speech English

  3. introduction speech at spoken word for Short Course in the #2024

  4. Introduction Speech- Communication 100

  5. Introduction Speech Video

  6. Introduction Speech

COMMENTS

  1. भाषण देने का तरीका हिंदी में

    अंग्रेजी में इसे "Before starting the Speech say some couplets two or three lines on the topic of speech ,in Hindi. Have full confidence and smile on your face when you go to the stage." इसके बाद भाषण की शुरुआत कर देनी चाहिए.

  2. How to Start a Speech in Hindi? स्पीच शुरु करने के 21 तरीके

    के बारे में बहुत ध्यान से पढ़ें और जब भी किसी भी टॉपिक पर कोई स्पीच (Speech on any Topic) बोलें या कोई Presentation दें तो इन Starting Of Speech Tips को वहां जरूर प्रयोग ...

  3. Give your BEST Speech or Presentation

    Complete Guidance and Training video on how to start a Speech in Hindi. Learn how to start a Speech or presentation for students, trainers or professionals. ...

  4. एक अच्छा भाषण कैसे लिखें और दें? How to write & deliver a good speech Hindi

    January 4, 2023 by बिजय कुमार. एक अच्छा भाषण कैसे लिखें और दें? How to write and deliver a good speech in Hindi? हेल्लो दोस्तों, आज के इस लेख में हम आप को एक अच्छी स्पीच देना ...

  5. अपना परिचय कैसे दें? How to Introduce Yourself in Hindi?

    परिचय देने के मुख्य दो प्रकार Types of Introduction औपचारिक परिचय Formal Introduction (जैसे- भाषण देते समय, इंटरव्यू मे, ऑफिशियल ईमेल लिखते समय) अनौपचारिक परिचय Informal Introduction (जैसे- स्कूल और कॉलेज के दोस्तों को, किसी रिश्तेदार को, या कहीं किसी व्यक्ति से मिलने पर परिचय देना) आईए जानते हैं - अलग-अलग परिस्थिति मे अपना परिचय कैसे दें?

  6. हिंदी में भाषण

    (What is Speech) कई बार लोगो द्वारा यह प्रश्न किया जाता है कि भाषण क्या है? या भाषण की परिभाषा क्या है? यदि सामान्य शब्दों में इसका उत्तर देना हो ...

  7. Learn Hindi

    Click here to get our FREE App & More Free Lessons at HindiPod101: https://goo.gl/oOycebLearn to introduce yourself in Hindi with our Hindi in Three Minutes ...

  8. How to Start Speech in Hindi

    How to Start Speech in Hindi in the school office and party. जानिए भाषण की शुरुआत करने का सही तरीका. How to end Speech in Hindi

  9. How to give self introduction before a speech ? (in Hindi)

    Self Introduction in Hindi | How to give Self Introduction before Speech ?In this video, we have provided steps on giving self introduction before a speech. ...

  10. How to Start a Speech in Hindi : 7 Innovative Way

    How to Start a Speech in Hindi. आपकी Speech तभी Impressive हो सकती है यदि उसकी शुरुवात या start सही हो सके. जैसे की बोला भी जाता है की first impression is the last impression, तो अगर आप स्पीच देना ...

  11. Self Introduction in Hindi

    What is Self introduction in Hindi इंटरव्यू के लिए बेस्ट सेल्फ इंट्रोडक्शन टिप्स अपना परिचय कैसे दें? अपने आप को इंटरव्यू में इंट्रोड्यूस कैसे करें? हिंदी में अपना परिचय कैसे दें? शैक्षिक योग्यता प्रोफेशनल एक्सपीरियंस, यदि कोई हो आपके शौक और रुचियां Self Introduction Essay in Hindi (200 शब्दों में) हिंदी और इंग्लिश में सेल्फ इंट्रोडक्शन फ़्रेज़ेज़

  12. डिबेट शुरू करें (Start a Debate)

    डिबेट शुरू करना. डिबेट पेश करना. रिलेटेड आर्टिकल्स. स्रोत और उद्धरण. सही तरीके से डिबेट की शुरुआत करने से आप अपने श्रोताओं का ध्यान ...

  13. Introductions in Hindi

    Introductions in Hindi It's time for a crash course in introductions in Hindi! After this free audio lesson you'll be able to recognize some common personal questions. Even better, in most cases you'll be able to reply using simple Hindi phrases and numbers.

  14. पब्लिक स्पीकिंग क्या है? प्रकार, उदाहरण और सुझाव?

    पब्लिक स्पीकिंग आपके दिमाग को पूरी क्षमता से काम करता है, खासकर गंभीर रूप से सोचने की क्षमता। आलोचनात्मक सोच वाला वक्ता अधिक खुले विचारों वाला और ...

  15. Introduction to Hindi Language

    Introduction to the Hindi Language. Hindi is the national language of India; but, it is one of several languages spoken in different parts of the sub-continent. 'National' should be understood as meaning the 'official' or 'link' language. The homeland of Hindi is in the North of India, but it is studied, taught, spoken and ...

  16. How to Deliver a Speech in Hindi

    Join My Public Speaking Group: https://t.me/supermenschWatch This Amazing video to know How To Deliver a Speech In Hindi and learn the art of Public Speaking...

  17. Hindi/Introduction

    Hindi originated in 17th century by the mixing of the Polulau languages of the areas around Delhi (capital of India) with Urdu and Persian (brought in by Muslim rulers from the west). Hindi is derived from Prakrit from which the Indo-Aryan languages are derived. Hindi is heavily influenced by Urdu and even Persian, although it still retains the ...

  18. हिंदी दिवस पर भाषण (Hindi Diwas Speech)

    हिंदी दिवस पर भाषण (Hindi Diwas Speech) - हिंदी भारत की राष्ट्रीय भाषा है और 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस हिंदी लेख के माध्यम से हिंदी दिवस पर ...

  19. मंच संचालन स्क्रिप्ट इन हिंदी (Anchoring script in Hindi)

    मंच संचालन शायरी ( Anchoring quotes in Hindi) एंकरिंग की शुरुआत (Anchoring script) आप शायरी से भी कर सकते हैं। शायरी की मदद से आप कम शब्दों में भावों को सुंदर ...

  20. भारत पर भाषण

    भारत पर भाषण. 20/02/2022 Ripal. Speech on India in Hindi: भारत एक ऐसा देश है जिसकी बाते शक्तिशाली देशों में होती है। हजारों साल से भारत अपनी समृद्ध संस्कृति और ...

  21. Simple Speech in Hindi

    this play list contain Hindi speech example videos for school students for classes like class 3, class 4, class 5, class 6, class 7, class 8, class 9, class 10

  22. स्वागत भाषण (वेलकम स्पीच नमूना) Welcome Speech in Hindi

    इस लेख में हमने स्कूल और कॉलेज के लिए स्वागत भाषण (वेलकम स्पीच नमूना) School College Welcome Speech in Hindi के उदाहरण या सैंपल फॉर्मेट दिया गया है।. स्वागत ...

  23. Speech on Children's Day in Hindi

    बाल दिवस पर स्पीच 1 मिनट में. 1 मिनट में Speech on Children's Day in Hindi इस प्रकार हैः. 14 नवंबर को पूरे देश में बाल दिवस के रूप में मनाया जाता है ...